चुनावी स्टंट: जाने क्या था CM योगी से मिलने का Kangana Ranaut , का कारण

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत ने कल लखनऊ में CM योगी आदित्यनाथ जी से मुलाकात की थी। उत्तर प्रदेश के CM योगी आदित्यनाथ द्वारा किए गए कार्यों के लिए कंगना रनौत द्वारा उनकी खूब सराहना की गई थी। साथ ही साथ योगी जी ने कंगना को ODOP (एक जिला एक उत्पाद योजना) का ब्रांड एंबेसडर भी बनाया । कंगना अपनी फिल्म तेजस की शूटिंग के दौरान यूपी आयी हुई थी। कंगना रनौत की फिल्म ‘तेजस’ को सर्वेश मेवाड़ा डायरेक्ट कर रहे हैं। इस फिल्म की कहानी एक महिला वायुसेना के लड़ाकू पायलट के इर्द-गिर्द घूमती है, जो आतंकवादियों से लड़ती है | कंगना रनौत इस फिल्म के अलावा ‘धाकड़’, ‘सीता’ और ‘मणिकर्णिका’ के सीक्वल में नजर आएंगी। आजकल जयललिता के जीवन पर आधारित कंगना रनौत की फिल्म थलाइवी ओटीटी प्लेटफॉर्म पर चल रही है।

Kangana Ranaut UP के CM Yogi Adityanath जी से मिली

UP में 2022 के विधानसभा चुनाव के लिए, CM योगी आदित्यनाथ राज्य में भाजपा को मजबूती से रखने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। CM योगी अक्टूबर के दूसरे सप्ताह में नवरात्रि से अपने चुनाव अभियान शुरु करेंगे। बीजेपी के विधानसभा चुनाव प्रभारी और केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने 24 सितंबर को लखनऊ में अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस से साफ कर दिया था कि उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में लड़ा जाएगा |

उन्हें उत्तरप्रदेश चुनाव का चेहरा बनाने के बाद BJP ने उनकी लोकप्रियता को वोट बैंक में बदलने की मजबूत योजना बनाई है. 23 सितंबर को आदित्यनाथ के आवास पर भाजपा की कोर कमेटी की बैठक हुई थी इसी दौरान राज्य के 75 जिलों के दो महीने लंबे चुनाव प्रचार दौरे की योजना बनाई गई।

सरकारी आयोजनों के साथ-साथ बैठक, रैलियों या सम्मेलनों के रूप में संगठनात्मक कार्यक्रम भी किए जाएंगे। सरकार और संगठन ने मिलकर एक योजना बनाई है कि नवंबर तक, संगठनात्मक या सरकारी कार्यक्रमों के माध्यम से, सीएम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पूरे राज्य का अपना दौरा करें। हाल ही में योगी जी ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए UP Free Smart Phone योजना की भी घोषणा की है।

Yogi Adityanath का 60 डे मिशन

इस दौरान CM योगी सरकार और पार्टी का फीडबैक ही नहीं लेंगे, बल्कि पार्टी कार्यकर्ताओं और प्रतिनिधियों से चर्चा कर स्थानीय समस्याओं को समाधान करने का प्रयास भी करेंगे। चुनावी सभाओं में बीजेपी के हिंदुत्व के एजेंडे को धार देने के लिए योगी आदित्यनाथ “अब्बाजन” से लेकर “तालिबानी विचारधारा” जैसे शब्दों का इस्तेमाल करते हुए विपक्ष पर हमला करते रहेंगे।

इसके साथ ही सीएम आदित्यनाथ जी अयोध्या में राम मंदिर निर्माण, दीपोत्सव, प्रयागराज का कुंभ मेला, बरसाना की होली, काशी की देव दीपावली, नवरात्रि के भव्य उत्सव जैसे आयोजन जैसी भाजपा सरकार की उपलब्धियां भी लोगों को याद दिलाएंगे। शक्तिपीठ, और पारंपरिक हिंदू वोट बैंक पर अपनी पकड़ मजबूत करने की कोशिश करेंगे।

चुनावी दाव पेंच

चार साल से ज्यादा के शासन के बाद लोगों के मन में सीएम आदित्यनाथ जी के प्रति अटूट आस्था और श्रद्धा है। इसलिए विधानसभा चुनाव से पहले संगठन ने हर जिले में विभिन्न कार्यक्रमों और योगी जी के रहने की योजना बनाई है। विपक्ष कह रहा है उनका दौरा चुनावी स्टंट है, विपक्ष का मानना ​​है कि इन दौरों से उत्तर प्रदेश भाजपा को कोई फायदा नहीं होगा। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता अभिषेक यादव कहते हैं, ”मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार ने साढ़े चार साल में कोई काम नहीं किया है। इससे जनता में काफी नाराज़गी है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दौरे से जनता की नाराजगी बढ़ेगी और सिर्फ समाजवादी पार्टी को इसका लाभ मिलेगा।

नवीनतम अपडेट के लिए आप हमारी साइट सरकारीयोजना को बुकमार्क करें।

Leave a Comment