बेटियों को मिल रहे हैं 50-50 हजार रूपए, जल्दी करें आवेदन, जाने आवेदन प्रक्रिया

UP Bhagya Laxmi Yojana: गरीब परिवारों की लड़कियों को आर्थिक रूप से लाभ पहुंचाने के लिए राज्य सरकार द्वारा यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना शुरू की गई है। इस योजना के तहत राज्य सरकार बेटी के जन्म के बाद बेटी को 50000 रुपये की सहायता देगी। बेटी की मां को 5100 रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी। यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना 2021 विशेष रूप से कन्या भ्रूण हत्या जैसे अपराध को रोकने के लिए शुरू की गई है।

इस योजना के तहत लाभार्थी के पास बैंक खाता होना चाहिए क्योंकि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदान की गई राशि लाभार्थी के बैंक खाते में जमा की जाएगी। इस यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना 2021 के तहत जब लड़की छठी कक्षा में आएगी तो माता-पिता को 3,000 रुपये, 8वीं कक्षा में 5000 रुपये, कक्षा 10 में 7,000 रुपये और कक्षा 12वीं में 8,000 रुपये दिए जाएंगे। इस योजना के तहत लड़की के 21 साल की होने तक उसके माता-पिता को कुल 2 लाख रुपये की राशि लड़की के माता-पिता को 21 साल की उम्र तक आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी।

UP Bhagya Laxmi Yojana – पात्रता

  • परिवार की annual income 2 लाख रुपए से कम होनी चाहिए
  • जन्म प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने पर बच्चे के जन्म के एक वर्ष बाद तक जन्म नामांकन कराना होगा
  • उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 के तहत लड़की की शादी 18 साल से कम उम्र में नहीं होनी चाहिए
  • माता-पिता को उत्तर प्रदेश का अधिवास होना चाहिए
  • बच्चे का स्वास्थ्य विभाग से टीकाकरण कराना जरूरी है
  • 31 मार्च 2006 के बाद गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) परिवारों में पैदा हुई सभी बालिकाएं इस योजना के तहत लाभ लेने के लिए पात्र हैं

UP Bhagya Laxmi Yojana – आवश्यक दस्तावेज

  • माता पिता का आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाणपत्र
  • जाति प्रमाणपत्र
  • कन्या का जन्म प्रमाण पत्र
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 के लिए आवेदन कैसे करें?


सबसे पहले आवेदक को महिला एवं बाल विकास विभाग, उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। आधिकारिक वेबसाइट से यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना आवेदन पत्र पीडीएफ डाउनलोड करना होगा। पीडीएफ डाउनलोड करने के बाद आपको आवेदन पत्र में पूछी गई सभी जानकारी जैसे नाम, जन्म की तारीख आदि भरनी होगी। सभी जानकारी भरने के बाद अपने सभी दस्तावेज संलग्न करने होंगे इसके बाद आपको अपना आवेदन फॉर्म अपने नजदीकी आंगनबाडी केंद्र या अपने नजदीकी महिला कल्याण विभाग के कार्यालय में भी जमा करना होगा। इस तरह से आपका आवेदन पूरा हो जाएगा।

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना शर्तें

उत्तर प्रदेश योजना के मसौदे में उल्लेख किया गया है कि प्रत्येक परिवार यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना के तहत केवल दो बालिकाओं का पंजीकरण कर सकेगा। माता-पिता को भी केवल एक और बच्चा पैदा करने के परिवार नियोजन के नियम का पालन करना चाहिए। राज्य की ओर से जमा किए गए पैसे पर भी बैंक खास ब्याज देंगे। जब नामांकित महिला उम्मीदवार 18 वर्ष की हो जाती है, तो वह उस ब्याज राशि को वापस लेने में सक्षम होगी।

अगर बालिका किसी श्रम में लगी हुई है तो परिवार को राज्य सरकार कोई आर्थिक सहायता नहीं देगी। 18 साल से पहले शादी नहीं – नामांकित उम्मीदवारों को राज्य की ओर से कोई पैसा नहीं मिलेगा यदि वे 18 वर्ष की आधिकारिक आयु प्राप्त करने से पहले शादी कर लेते हैं। पूरे उत्तर प्रदेश में योजना का लाभ दिया जा रहा है।

नवीनतम अपडेट पाने के लिए sarkariiyojana.in को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

Leave a Comment