7 th Pay Commission : अब केंद्रीय कर्मचारियों को मिलेगा DA के साथ TA का फायदा, ऐसे होता है TA का कैलकुलेशन

7 th Pay Commission : केंद्रीय कर्मचारियों को महंगाई भत्ते (DA) का तोहफा मिल चुका है। उनकी सैलेरी में सिर्फ महंगाई भत्ता ही नहीं और भी अलाउंस शामिल होते हैं। इसमें एक है ट्रैवल अलाउंस। सरकारी कर्मचारियों को उनके ट्रैवल अलाउंस (TA) दिए जाते हैं। ये सैलरी का पार्ट होता है और लगातार इसमें रिवीजन होता है। DA में बढ़ोत्तरी का असर TA पर भी दिखता है। हाल ही में महंगाई भत्ते (DA) में 3 % का इजाफा किया गया है।

कैसा होता है TA का कैलकुलेशन ?

ट्रैवल अलाउंस (TA) को पे मैट्रिक्स लेवल के आधार पर 3 वर्गों में बांटा गया है। शहरों और कस्बों को दो भागों में बांटा गया है। यह क्लासिफिकेशन शहरों की आबादी के आधार पर किया गया है। पहली कैटेगरी हायर ट्रांसपोर्ट अलाउंस शहर की है और दूसरे शहरों को अन्य की श्रेणी में रखा गया है। TA कैलकुलेशन का फॉर्मूला Total Transport Allowance = TA + [(TA x DA %) / 100 ] है।

7 th Pay Commission में TA में होगा इजाफा

7 वें वेतन आयोग (7 th Pay Commission) में महंगाई भत्ता (DA) 34 % होने पर ट्रैवल अलाउंस (TA) में इजाफा हो सकता है। लेकिन अभी तक सरकार ने इस पर कोई अंतिम फैसला नहीं लिया है। TPTA शहरों में लेवल 1 – 2 लेवल के लिए TPTA 1350 रुपये, 3 -8 लेवल कर्मचारियों के लिए 3600 रुपये और 9 से ऊपर के लेवल के लिए यह 7200 रुपये हैं। किसी एक कैटेगरी के कर्मचारियों को मिलने वाले ट्रांसपोर्ट अलाउंस की दर एक समान है। बस उनमें मिलने वाले DA को जोड़ दिया जाता है।

हायर ट्रांसपोर्ट अलाउंस के लेवल

हायर ट्रांसपोर्ट अलाउंस वाले शहरों के लिए लेवल 9 और उसे ऊपर के कर्मचारियों को 7200 रुपये ट्रांसपोर्ट अलाउंस और DA मिलता है। अन्य शहरों के लिए यह भत्ता 3600 रुपये और DA है। इसी तरह लेवल 3 से 8 तक के कर्मचारियों को 3600 + DA और 1800 + DA मिलता है। लेवल 1 और 2 की बात की जाए तो इस कैटेगरी के लिए 1350 रुपये प्रथम श्रेणी शहरों के लिए और महंगाई भत्ता मिलता है जबकि अन्य शहरों के लिए 900 रुपये + DA मिलता है।

पहली श्रेणी में कौन से 19 शहर आते हैं ?

केंद्रीय कर्मचारियों को मिलने वाले ट्रैवल अलाउंस के आधार पर 19 शहरों को A कैटेगरी में रखा गया है। इनमें दिल्ली, अहमदाबाद, बंगलुरु, चेन्नई, कोयंबटूर, गाजियाबाद, हैदराबाद, ग्रेटर मुंबई, कानपुर, इंदौर, जयपुर, कोच्चि, कोलकाता, नागपुर, लखनऊ, पटना, पुणे और सूरत शहर शामिल हैं। बाकी शहरों को अन्य की श्रेणी में डाला गया है।

close button