सरकार इन किसानों को दे रही 10 लाख रुपये तक की सब्सिडी, आप भी उठा सकते हैं लाभ, जानें कैसे

PM Micro Food Industry Upgradation Scheme : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने सूक्ष्म खाद्य प्रसंस्करण को तकनीकी, वित्तीय और व्यावसायिक सहायता प्रदान करने के लिए आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत माइक्रो फूड प्रोसेसिंग एंटरप्राइजेज (PMFME) योजना का प्रधानमंत्री औपचारिककरण शुरू किया। इस योजना के लिए आवंटित कुल धनराशि का मूल्य 10,000 करोड़ है जो 2020 से 2025 तक वितरित किया जाएगा।

मध्य प्रदेश में अदरक, मिर्च, अमरूद का बढ़ा उत्पादन

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan) ने कहा है कि संतरा, धनिया और लहसुन के उत्पादन में मध्यप्रदेश देश में पहले नंबर पर है। अदरक, मिर्च, अमरूद, मटर और प्याज के उत्पादन में मध्यप्रदेश राज्य का देश में दूसरा स्थान है। अगर किसान इस उत्पादन की छोटी खाद्य प्रसंस्करण इकाइयां खोलेंगे तो जनता को शुद्ध सामग्री मिलेगी, युवाओं को रोजगार के अवसर मिलेंगे और किसानों को उनकी उपज का सही मूल्य मिलेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पीएम माइक्रो फूड इंडस्ट्री अपग्रेडेशन स्कीम (PM Micro Food Industry Upgradation Scheme) की शुरुआत कर ऐतिहासिक कदम उठाया है। इस योजना में ग्वालियर, मुरैना और सीहोर के इन्क्यूबेशन सेंटर निश्चित रूप से मील के पत्थर साबित होंगे।

किसानों को दी जाएगी 10 लाख रुपये तक की सब्सिडी

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में खाद्य प्रसंस्करण की पद्धति पर कार्यशाला आयोजित करने की आवश्यकता है। किसानों को गुणवत्ता सुधार, पैकेजिंग, विपणन, उनके उत्पाद की ब्रांडिंग और उनकी प्रक्रियाओं के बारे में सूचित करने के लिए कार्यशालाएं आयोजित की जानी चाहिए। पीएम सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना के तहत किसानों को 10 लाख रुपये तक की सब्सिडी दी जाएगी।

सब्सिडी का 40 प्रतिशत राज्य सरकार वहन करेगी। खाद्य प्रसंस्करण उद्योग के विस्तार के लिए राज्य सरकार बड़ी इकाइयों की स्थापना के लिए 2.5 करोड़ रुपये तक की सब्सिडी देगी।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पिछले 15 वर्षों में राज्य ने कृषि के क्षेत्र में अभूतपूर्व विकास किया है। कई योजनाएं बनाने के बाद हमने प्रयास से तय किया कि हम राज्य को कृषि के क्षेत्र में आगे लाएंगे। इसके फलस्वरूप प्रदेश को कई बार कृषि कर्मण पुरस्कार मिल चुका है। मध्य प्रदेश ने कृषि उत्पादन में कीर्तिमान स्थापित किया है।

प्रदेश में 43 लाख मीट्रिक टन से अधिक धान की खरीद कर कीर्तिमान स्थापित किया है। आज मध्य प्रदेश में पंजाब से ज्यादा गेहूं पैदा होता है। प्रधानमंत्री मोदी के आत्मानिर्भर भारत के संकल्प को पूरा करने कृषि के क्षेत्र में नए कीर्तिमान स्थापित करने में मध्यप्रदेश निरंतर सहयोग प्रदान कर रहा है।

लेटेस्ट न्यूज़ जानने के लिए sarkariiyojana.in को बुकमार्क जरूर करें। 

close button