(JSY) Janani Suraksha Yojana Registration 2021

Janani Suraksha Yojana: हमारे देश के माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा 12 अप्रैल, 2005 को देश के नवजात शिशुओं और गर्भवती महिलाओं के लिए जननी सुरक्षा योजना शुरू की गई। इस योजना के तहत, सरकार हमारे देश की गर्भवती महिलाओं के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करेगी ताकि उन्हें किसी भी समस्या का सामना न करना पड़े। इस योजना का उपयोग करने से देश की गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशुओं की स्थिति में निश्चित रूप से सुधार होगा।

जननी सुरक्षा योजना के तहत गर्भवती महिलाओं के सभी टेस्ट जैसे ब्लड टेस्ट, अल्ट्रासाउंड, यूरिन टेस्ट आदि नि:शुल्क किए जाएंगे। प्रसव की पूरी प्रक्रिया और बच्चे के सभी परीक्षण नि:शुल्क किए जाएंगे। केवल गरीबी रेखा से नीचे रहने वाली महिलाएं ही पात्र हैं और इस योजना के माध्यम से लाभ प्राप्त कर सकती हैं। वे सभी महिलाएं जो इस योजना का लाभ लेना चाहती हैं, उन्हें आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर इस योजना के लिए आवेदन करना होगा। यह योजना उन गरीब गर्भवती महिलाओं पर जोर देती है जिनकी असम, बिहार, छत्तीसगढ़, जम्मू और कश्मीर, झारखंड, मध्य प्रदेश, उड़ीसा, राजस्थान, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश राज्यों में संस्थागत प्रसव दर कम है।

Janani Suraksha Yojana क्या है?

जननी सुरक्षा योजना के तहत राशि माँ और उसके बच्चे के अच्छे स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने के लिए उचित पोषण की आवश्यकता के अनुसार प्रदान की जाती है। वर्तमान समय में जननी सुरक्षा योजना से प्रति वर्ष एक करोड़ से अधिक महिलाओं को सहायता मिल रही है। जननी सुरक्षा योजना पर सरकार हर साल 1600 करोड़ रुपये महिला और नवजात बच्चे की भलाई के लिए खर्च कर रही है।

जननी सुरक्षा योजना के तहत गर्भवती महिलाओं को सरकार द्वारा दो श्रेणियों में बांटा गया है। इसके आधार पर उन्हें सरकार की ओर से आर्थिक मदद मुहैया कराई जाएगी। इन दो श्रेणियों का उल्लेख नीचे किया गया है: –

शहरी क्षेत्रों में गर्भवती महिलाएं – जननी सुरक्षा योजना के माध्यम से सभी गर्भवती महिलाओं को उनके प्रसव के दौरान 1000 रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी। इस सुविधा के अलावा आशा वर्कर्स को डिलीवरी प्रोत्साहन के रूप में 200 रुपये और डिलीवरी के बाद की सेवाओं के लिए 200 रुपये दिए जाएंगे।

शहरी क्षेत्रों में गर्भवती महिलाएं- जननी सुरक्षा योजना के तहत प्रसव के समय बीपीएल श्रेणी की सभी गर्भवती महिलाओं को सरकार द्वारा 1400 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। इसके अतिरिक्त, आशा कार्यकर्ताओं को डिलीवरी प्रोत्साहन के रूप में 300 रुपये और डिलीवरी के बाद की सेवाएं प्रदान करने के लिए 300 रुपये दिए जाएंगे।

योजना का नाम जननी सुरक्षा योजना
शुरू किया गया भारत सरकार द्वारा
शुरू की तारीख 12 अप्रैल 2005
आर्टिकल केटेगरी पी ऍम मोदी योजना
बेनेफिशरी प्रग्नेंट महिलाये
ऑफिसियल वेबसाइट nhm.gov.in  

जननी सुरक्षा योजना योजना के उद्देश्य

जननी सुरक्षा योजना का मुख्य उद्देश्य गर्भवती महिलाओं को वह सभी सुविधाएं प्रदान करना है जो उन्हें गर्भावस्था के दौरान मिलनी चाहिए। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की महिलाएं परिवार की खराब स्थिति के कारण अपने बच्चों और खुद की पूरी तरह से देखभाल नहीं कर पा रही हैं। ऐसे में उन्हें कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं को चिकित्सा सुविधाओं का सभी लाभ नहीं मिल पा रहा है, इस योजना के तहत महिलाओं को स्वास्थ्य संबंधी सभी सुविधाएं दी जाएंगी। जिसके माध्यम से बच्चे और मां दोनों की मृत्यु दर में कमी आएगी क्योंकि उन दोनों को इस योजना के तहत उचित टीकाकरण, पोषण और चिकित्सा उपचार जैसी सभी सुविधाएं मिलेंगी।

जननी सुरक्षा योजना की विशेषताएं

• जननी सुरक्षा योजना एक ऐसी योजना है जो केंद्र सरकार द्वारा 100% प्रायोजित है।

• यह महिला के लिए सहायता के रूप में नकद धन प्रदान करता है।

• इस योजना की मदद से आशा कार्यकर्ताओं को असामाजिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता के रूप में मान्यता मिली।

• जननी सुरक्षा योजना सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में लागू की गई है, लेकिन इस योजना का मुख्य उद्देश्य राजस्थान, झारखंड, बिहार, उड़ीसा, एमपी, यूपी, जम्मू और कश्मीर, छत्तीसगढ़ आदि राज्यों का विकास करना है।

• इस योजना के तहत पंजीकृत लाभार्थी के पास एमसीएच कार्ड के साथ-साथ उनका जननी सुरक्षा योजना कार्ड भी होना चाहिए।

• गर्भवती महिलाएं जो आंगनबाडी या आशा कार्यकर्ताओं की मदद से घर पर बच्चे को जन्म देती हैं, इन लाभार्थी को पांच सौ रुपये की राशि मिलेगी।

• बच्चे के जन्म के बाद पांच साल तक टीकाकरण और मुफ्त टीकाकरण की जानकारी साझा की जाएगी।

• जननी सुरक्षा योजना के तहत पंजीकरण कराने वाली महिलाओं को कम से कम दो चेक-अप निःशुल्क दिए जाएंगे। साथ ही प्रसव पश्चात की अवधि में आशा एवं आंगनबाडी कार्यकर्ताओं को भी संबंधित सेवाओं के साथ सहायता प्रदान की जायेगी।

जननी सुरक्षा योजना के लिए आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज

• जननी सुरक्षा कार्ड (Janani Suraksha Yojana Card)

• आधार कार्ड

• बीपीएल राशन कार्ड (BPL Ration Card)

•पते का सबूत (Address Proof)

• डिलीवरी प्रमाणपत्र (सरकारी अस्पताल द्वारा जारी )

• बैंक खाता पासबुक

• वर्तमान मोबाइल नंबर

• पासपोर्ट आकार के फोटो

जननी सुरक्षा योजना के लिए पात्रता मानदंड

• Janani Suraksha Yojana के माध्यम से देश के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों की गर्भवती महिलाएं आसानी से अपना पंजीकरण करा सकती हैं।

• केवल दो बच्चों को जन्म देने के लिए जननी सुरक्षा योजना के तहत गर्भवती महिलाओं के लिए सभी चिकित्सा और वित्तीय सहायता सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी।

• यदि गर्भवती महिला मृत (मृत) बच्चे को जन्म देती है, तो जीवित बच्चे का समय से पहले या मध्यावधि जन्म एक वैध मामला माना जाएगा। इस स्थिति में स्त्री को धन की प्राप्ति हो सकती है।

• इस योजना के तहत गर्भवती महिलाओं की उम्र उन्नीस वर्ष और उससे अधिक होने पर ही सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

• जननी सुरक्षा योजना के तहत नामांकित महिला को सरकारी अस्पताल या सरकार द्वारा चुने गए किसी भी निजी अस्पताल में जाना पड़ता है।

• लाभ केवल उन्हीं महिलाओं को प्रदान किया जाएगा जो गरीबी रेखा से नीचे मानी जाती हैं।

जननी सुरक्षा योजना 2021 पर पंजीकरण प्रक्रिया

देश की गर्भवती महिलाएं जो जननी सुरक्षा योजना के तहत सरकार से लाभ लेना चाहती हैं, उन महिलाओं को इस योजना के तहत आवेदन करना होगा। यदि गर्भवती महिला का प्रसव सरकारी अस्पताल या किसी मान्यता प्राप्त निजी अस्पताल में होता है तो उन्हें इस जननी सुरक्षा योजना 2021 का लाभ मिल सकता है। राशि सीधे पात्र लाभार्थी के बैंक खाते में स्थानांतरित कर दी जाएगी। इसलिए गर्भवती महिलाओं के पास बैंक खाता होना अनिवार्य है और इसे आधार कार्ड से जोड़ा जाना चाहिए।

जननी सुरक्षा योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया

जननी सुरक्षा योजना के लिए आवेदन करने के लिए आपको नीचे दिए गए दिशानिर्देशों का पालन करना होगा:

चरण 1-सबसे पहले आवेदक को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट (nhm.gov.in) पर लॉग इन करना होगा।

स्टेप 2- उसके बाद आपकी स्क्रीन पर एक Janani Suraksha Yojana का होम पेज दिखाई देगा।

स्टेप 3- होम पेज पर आपको एप्लीकेशन फॉर्म की पीडीफ़ डाउनलोड करनी होगी।

स्टेप 4- इसके बाद आपको फॉर्म का प्रिंट लेना होगा। फॉर्म में आवश्यक सभी विवरण सावधानीपूर्वक दर्ज करने होंगे।

चरण 5- उसके बाद सभी दस्तावेजों की स्कैन कॉपी आवेदन पत्र के साथ संलग्न करनी होगी।

स्टेप 7- सारी जानकारी भरने के बाद फॉर्म को नजदीकी आंगनबाडी केंद्र या स्वास्थ्य केंद्र में जमा करना होगा.

उपरोक्त चरणों का पालन करते हुए आपकी आवेदन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

जननी सुरक्षा योजना पर आवेदन की स्थिति की जांच करने की प्रक्रिया

चरण 1-जननी सुरक्षा योजना की आधिकारिक वेबसाइट का निरीक्षण करें

स्टेप 2- अब आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।

स्टेप 3- होम पेज पर आपको Janani Suraksha Yojana Application Status आवेदन की स्थिति देखने के लिए लिंक पर क्लिक करना होगा।

Step 4-अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा जिसमें आपको अपना रेफरेंस नंबर डालना होगा।

स्टेप 5- इसके बाद आपको ‘Search’ बटन पर क्लिक करना होगा।

उपरोक्त चरणों का पालन करने पर आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर आवेदन की स्थिति दिखाई देगी।

राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के आधिकारिक संपर्क नंबर देखने की प्रक्रिया

स्टेप 1- सबसे पहले आप जननी सुरक्षा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएंगे।

स्टेप 2- इसके बाद आपके सामने एक होम पेज खुलेगा।

स्टेप 3- उसके बाद होम पेज पर आप Contact Us के लिंक पर क्लिक करेंगे।

स्टेप 4- इसके बाद आपको स्टेट्स या यूटी ऑफिशियल के लिंक पर क्लिक करना होगा।

चरण 6- आपको अपनी स्क्रीन पर सभी संपर्क नंबरों की एक सूची मिल जाएगी।

हेल्पलाइन नंबर या टोल फ्री नंबर

104, 18001804444

आशा करते हैं आपको Janani Suraksha Yojana से जुडी जानकारी मिल गयी हैं | सभी राज्य और केंद्र सरकार की योजनाएं प्राप्त करने के लिए sarkariiyojana.in को बुकमार्क करें।

Leave a Comment