इस स्कीम में पैसा होगा डबल, 2 लाख के 4 लाख, जानें डिटेल

अगर आप भी आने वाले भविष्य के लिए किसी sarkari yojana में पैसा लगाने की सोच रहे हैं तो Kisan Vikas Patra एक अच्छा विकल्प हो सकता है। इस योजना में आपको कुछ ही वर्षों में दोगुना पैसा मिल जाता है। साथ ही आपके पैसे की सरकारी गारंटी भी है। अगर आप इस स्कीम में 2 लाख रुपये का निवेश करते हैं तो कुछ सालों में यह 4 लाख हो जाएगा. आइए आपको बताते हैं कैसे-

अगर आप भी पैसा दोगुना करने की कोई योजना (Money Double Scheme) ढूंढ रहे हैं तो आज हम आपको एक ऐसी Government Scheme के बारे में बताएंगे, जिसमें आपका पैसा दोगुना हो जाएगा। जी हां… ऐसी सरकारी योजना Post Office द्वारा चलाई जाती है, जिसमें आपको पैसे दोगुना करने का विकल्प मिलता है।

Kisan Vikas Patra में 6.9 प्रतिशत की दर से ब्याज का लाभ मिलेगा. इस योजना के तहत आपका पैसा महज 124 महीने में दोगुना हो जाएगा। आपको बता दें कि अगर कोई निवेशक खरीद के एक साल के अंदर सर्टिफिकेट वापस ले लेता है तो उसे ब्याज का लाभ नहीं मिलेगा।

Kisan Vikas Patra

Kisan Vikas Patra maturity period

आपको Kisan Vikas Patra में कम से कम 1000 रुपये का निवेश करना होगा। इसके अलावा इसमें ज्यादा से ज्यादा निवेश की कोई सीमा नहीं है।

Kisan Vikas Patra maturity period 10 साल 4 महीने है। इस दौरान आपकी मूल राशि दोगुनी हो जाती है। यदि आपने 5 लाख रुपये का निवेश किया है, तो यह 10 लाख में बदल जाएगा।

कुछ शर्तों के तहत लाभार्थी इस खाते से परिपक्वता से पहले पैसे निकाल सकते हैं। केंद्र सरकार द्वारा जारी किसान विकास पत्र प्रमाण पत्र को आप 1000, 5000, 10000 और 50000 के रूप में खरीद सकते हैं।

मैच्योरिटी के बाद आप पोस्ट ऑफिस से अपनी रकम प्राप्त कर सकते हैं। यह पैसा आपको किसी भी पोस्ट ऑफिस से मिल सकता है। इस पैसे को पाने के लिए आपको अपनी डिटेल देनी होगी, उसके बाद ही आपको पैसा मिलेगा।

अगर निवेशक 50000 रुपये या इससे ज्यादा का निवेश करना चाहता है तो उसे अपने पैन कार्ड की डिटेल शेयर करनी होगी। किसान विकास पत्र योजना का इस्तेमाल गारंटी के तौर पर लोन लेने के लिए भी किया जा सकता है।

किसान विकास पत्र केंद्र सरकार की सबसे महत्वपूर्ण योजनाओं में से एक है, यह एक लघु बचत योजना है। यह भारतीय डाकघर द्वारा चलाई जा रही डाकघर बचत योजना का एक हिस्सा है। सरकार द्वारा यह योजना काफी समय से चलाई जा रही है। इसमें आम तौर पर बैंक की तरफ से ज्यादा ब्याज दर दी जाती है और इसमें किया गया निवेश आयकर मुक्त होता है। यही कारण है कि यह योजना हमेशा से आयकर दाताओं के लिए भी पसंदीदा रही है।

किसान विकास पत्र (KVP) में निवेश की गई राशि पर आपको आयकर छूट मिलेगी। क्योंकि यह रकम इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के सेक्शन 80(c) के तहत आती है. यदि आप आयकर के दायरे में आते हैं, और आप अपना कुछ टैक्स बचाना चाहते हैं। तो आप अपना कुछ निवेश kvp स्कीम में कर सकते हैं। यह आपके लिए अच्छा विकल्प हो सकता है। इसमें आपको बैंक के मुकाबले ज्यादा ब्याज दर मिलेगी

Kisan Vikas Patra एक छोटा बचत साधन है जो लोगों को दीर्घकालिक बचत योजना में निवेश करने की सुविधा प्रदान करता है। यह योजना भारतीय डाक द्वारा 1988 में शुरू की गई थी। हालांकि यह योजना लोकप्रिय थी, 2011 में गठित एक सरकारी समिति ने सुझाव दिया कि केवीपी का दुरुपयोग धन शोधन जैसे उद्देश्यों के लिए किया जा सकता है। 2014 में, Kisan Vikas Patra KVP को कई बदलावों के साथ फिर से शुरू किया गया था जिसमें 50,000 रुपये से अधिक के निवेश के लिए अनिवार्य पैन कार्ड प्रमाण और 10 लाख रुपये से अधिक के निवेश के लिए आय स्रोत प्रमाण शामिल थे।

Kisan Vikas Patra Online Application Form

किसान विकास पत्र ऑनलाइन योजना में निवेश की प्रक्रिया आसान है। नीचे बताए गए स्टेप्स को फॉलो किया जा सकता है:
आपको KVP application form यानी Form-A डाकघर से प्राप्त करना होगा।
फॉर्म पर सभी प्रासंगिक विवरण भरें और पोस्ट ऑफिस में जमा करें।
अगर निवेश एजेंट की मदद से किया जा रहा है तो दूसरा फॉर्म भरकर जमा करना होगा। एजेंट को Form-A1 भरना होगा।
दोनों फॉर्म यानी Form-A और Form-A1 आधिकारिक वेबसाइट पर भी डाउनलोड करने के लिए उपलब्ध हैं। फॉर्म ऑनलाइन डाउनलोड, भरे और जमा किए जा सकते हैं।
Know-Your-Customer (KYC) प्रक्रिया के लिए आपको अपने पहचान प्रमाणों में से एक की एक प्रति प्रस्तुत करनी होगी। आप निम्न में से किसी एक दस्तावेज़ का उपयोग कर सकते हैं – आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, वोटर आईडी कार्ड या पैन कार्ड।

close button