LIC की इस स्कीम में निवेश करने पर बुजुर्गों को मिलेगी हर महीने 9250 रुपये की पेंशन, जानें डिटेल

LIC समय-समय पर देश के नागरिकों के लिए स्कीम लेकर आते हैं। LIC द्वारा बच्चे, वयस्क और बुजुर्गों के लिए अच्छी और फायदेमंद स्कीम चलाई जाती हैं। इन्हीं में से एक स्कीम है प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (PMVVY) है। इस स्कीम के तहत आपको 10 साल के लिए fixed montly pension प्राप्त होती है। LIC की यह scheme सीनियर सिटीजन के लिए शुरू की गयी है। इस scheme के तहत निवेश करने के लिए, न्यूनतम आयु 60 साल रखी गयी है और अधिकतम आयु की कोई तय सीमा नहीं है। यह पॉलिसी 10 वर्ष के लिए होगी और इस दौरान निवेशक को हर महीने न्यूनतम पेंशन 1000 रुपये और अधिकतम पेंशन करीब 9,250 रुपये प्राप्त हो सकती है।

LIC की इस स्कीम के तहत निवेश की सीमा

इस स्कीम के तहत एकमुश्त रकम से भी Invest किया जा सकता है। फिलहाल, pensioner को पेंशन के amount या purchase price में से किसी एक ऑप्शन को सेलेक्ट करना होगा। इस स्कीम में maximum 15 लाख रुपये तक का invest किया जा सकता है। स्कीम के अंतर्गत एक व्यक्ति अधिकतम 15 लाख रुपये तक का निवेश कर सकता है।

इसका मतलब यह है कि यदि senior citizen couple चाहें तो इस scheme के तहत अधिकतम 30 लाख रुपये तक का निवेश कर सकते हैं और 10 वर्ष तक हर महीने करीब 18,500 रुपये की fixed monthly pension हासिल कर सकते हैं। इसके साथ ही pensioner के पास monthly, quarterly,और half yearly pension लेने का विकल्प है। monthly pension पर ब्याज की दर 7.4% होगी।Quarterly pension पर ब्याज दर 7.45% और half yearly pension पर यह दर 7.52% होगी।

इस स्कीम के तहत कौन कर सकता है निवेश ?

पीएम वय वंदना योजना के अंतर्गत कोई भी भारतीय नागरिक जिनकी आयु 60 वर्ष से अधिक है निवेश कर सकता है। इस स्कीम के अंतर्गत निवेश करने के लिए व्यक्ति को किसी प्रकार का Medical checkup नहीं कराना पड़ता है। इसके अलावा, यदि योजना के चलते बीच में ही किसी कारणवश निवेशक की मौत हो जाती है तो निवेशक द्वारा बनाये गए नॉमिनी को पूरा पैसा वापस मिल जाता है। इसके साथ ही इस scheme में निवेश करने के 3 साल बाद loan लेने की सुविधा भी उपलब्ध कराई गयी है।

पीएम वय वंदना योजना के अंतर्गत pension का payment NEFT या आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम द्वारा किया जायेगा। इस Scheme में invest करने के लिए unique आधार नंबर validation जरूरी होगा। इसके अलावा यदि 10 वर्ष के अंदर पेंशनर का निधन हो जाता है तो purchase price बेनेफिशियरी को वापस कर दिया जाएगा और यदि 10 वर्ष के बाद pensioner जीवित रहता है तो उसे purchase price के साथ ही अंतिम पेंशन इंस्टॉलमेंट का payment किया जाएगा।

इसके अलावा, इस scheme के अंतर्गत दी गयी loan की facility का लाभ policy के 3 साल पूरे होने पर ही लिया जा सकता है। लोन का maximum amount पर्चेंज प्राइस का 75% होगा। लोन पर Interest rate का निर्धारण तय समय पर होता है। साथ ही emergency situation में इस scheme से पैसे निकालने की भी इजाजत है।

close button