Old Pension Yojana State Update : राज्यों में इनको मिलेगी पेंशन , जानें आज का अपडेट

Old Pension Yojana State Update: पेंशन योजना को लेकर सरकार समय समय पर बदलाव करती रहती है जो देश के नागरिकों को फायदा पहुंचा सके। सरकार का मुख्या उद्देस्य हर व्यक्ति की हर तरह से मदद करना है और इसके लिए केंद्र और राज्य सरकार दोनों ही प्रयासरत हैं। आईये जानते हैं Old pension Scheme में क्या हुआ है नया अपडेट:

Old Pension Yojana State Update

पुरानी पेंशन योजना (Old pension Scheme) को लेकर राजस्थान, छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों में रहने वाले सरकारी कर्मचारियों (Govt Employees) के लिए खुशखबरी है। सरकार ने Old Pension Yojana को राजस्थान, छत्तीसगढ़, पंजाब, तमिलनाडु और झारखंड राज्यों में लागू किया है। इसके साथ ही पंजाब, तमिलनाडु, झारखंड समेत कई राज्य ऐसे हैं, जो Old Pension Yojna को लागू करने की तैयारी में हैं। अगर आप भी इस योजना को सोच रहे हैं तो यह आपके लिए बहुत अच्छा मौका है आइए जानते हैं इस योजना से जुड़े लाभों के बारे में:

इन राज्यों में लागू होगी Old Pension Yojana

आपको बता दें कि केंद्र सरकार (Central Government) ने 1 जनवरी 2004 से Old Pension Scheme को बंद कर अपने सभी नए कर्मचारियों के लिए NPS लागू कर दिया था। साल भर के अंदर ही लगभग सभी राज्यों ने अपने स्तर पर NPS लागू कर दिया था। 28 फरवरी 2022 तक राज्य सरकारों (State Govt Employees) के 50 लाख से ज्यादा कर्मचारी NPS के तहत, जबकि 22 लाख से ज्यादा केंद्रीय कर्मचारी (CG Employees) इसके लाभार्थी हैं। कई कर्मचारी संघ (Employee Union) लंबे समय से विभिन्न राज्य सरकारों पर Old Pension Service लागू करने का दबाव बना रहे , लेकिन Old Pension Scheme को लागू करने से राज्यों की चुनौतियां भी बढ़ेंगी।

इस राज्य के सरकारी कर्मचारियों की बल्ले-बल्ले!

1 दिसंबर 2004 को या उसके बाद नियुक्त सरकारी कर्मचारियों के लिए Old penion Scheme लागू की गई है। इस तरह नई अंशदायी पेंशन योजना समाप्त कर दी गई है। वित्त विभाग ने इसका resolution जारी कर दिया है। 17 July को हुई मंत्रिपरिषद की बैठक में इसे मंजूरी दी गयी। इसे सरकार ने कई शर्तों के साथ लागू किया है।Old Pension Scheme का लाभ चाहने वाले कर्मचारियों को एक Undertaking देनी होगी कि वे सरकार द्वारा निर्धारित SOP की शर्तों पर वैध हैं। साथ ही वे राज्य सरकार (state government) की ओर से कोई अतिरिक्त वित्तीय दावा (financial claim) नहीं करेंगे।

वहीं अगर National Security Depository Limited (NSDL) से प्राप्त सरकारी अंशदान की राशि और उस पर ब्याज सीधे राज्य सरकार (state government) को नहीं मिलता है तो retirement के बाद उक्त राशि कर्मचारियों के पास जमा करनी होगी. Old pension Scheme के तहत मिलेगी Pension, सरकारी अंशदान की राशि और उसका ब्याज भी कर्मचारी को मिलने वाली gratuity की राशि से समायोजित किया जा सकता है।

Old Pension Scheme Latest Update: इन प्रस्तावों को मंजूरी

शर्त यह है कि यदि सरकारी सेवकों के अंशदान की राशि किसी भी परिस्थिति में NSDL को प्राप्त नहीं होती है, तो राज्य सरकार ( state government) द्वारा कोई दावा नहीं किया जाएगा। सरकारी कर्मचारियों ( government employees) द्वारा दिए गए विकल्प के आधार पर Old Pension Yojana को 1 सितंबर 2022 से बहाल किया जाना है। अब Old pension Scheme का चयन करने वाले कर्मचारियों के वेतन से 10 प्रतिशत मासिक अंशदान नहीं काटा जाएगा।

यह कटौती पहले नई अंशदायी पेंशन योजना (new contributory pension scheme) के तहत की जा रही थी। अब Jharkhand General Provident Fund Act के अनुसार मूल वेतन में से कटौती की जाएगी। NSDL से सरकारी कर्मचारियों का अंशदान और ब्याज प्राप्त करने के बाद मूलधन और उसका ब्याज सरकारी सेवकों को दिया जाएगा। Old Pension Scheme के साथ ही कर्मचारियों को यह विकल्प दिया जाएगा कि वे मूल राशि Jharkhand General Provident Fund account में जमा करा सकते हैं

Old Pension Scheme में retirement या मृत्यु के बाद भी तय होगा लाभ

1 दिसंबर 2004 से 1 सितंबर 2022 के बीच सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों के मामले में सरकारी कर्मचारियों या उनके परिवारों को भी Old pension Scheme के अनुसार लाभ मिलेगा।New pension Scheme में ही, जो कर्मचारी सेवानिवृत्त हो चुके हैं या उनकी मृत्यु हो गई है और उन्हें और उनके परिवारों को retirement लाभ प्राप्त हुआ है, तो ऐसे मामलों में Old pension yojana के अनुसार लाभों के निर्धारण का एक अलग प्रावधान है।

Home PageClick Here

नोट-यह न्‍यूज वेबसाइट से मिली जानकारियों के आधार पर बनाई गई है, SarkariiYojana.in अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है।

close button