PM Fasal Bima Yojana Registration: फसल की सुरक्षा के लिए PMFBY में कराएं Registration

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana Registration: किसानों के लिए एक बड़ी खबर है; बारिश की वजह से देश के आधे से ज्यादा राज्यों में बाढ़ जैसे हालात हैं। बाढ़ के कारण फसलों को नुकसान पहुंचा है। वहीं, कई राज्यों में बारिश नहीं होने से किसान परेशान हैं। इन परिस्थितियों में Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana (PMFBY) किसानों के लिए काफी मददगार साबित हो सकती है। किसान Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana (PMFBY) के तहत अपनी फसल का बीमा कराकर आर्थिक नुकसान से बच सकते हैं। PMFBY Registration की आखिरी तारीख 31 जुलाई है. PMFBY में पंजीकरण करना बहुत आसान है।

आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के किसानों को भी फसल के नुकसान से सुरक्षा मिलेगी। Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana के तहत आंध्र प्रदेश के किसानों को सुरक्षा मिलेगी. आंध्र प्रदेश Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana में शामिल होकर खरीफ 2022 (Kharif 2022) से इस योजना को लागू कर रहा है। योजना से राज्य के 40 लाख से अधिक किसानों को लाभ होगा।

PM Fasal Bima Yojana Registration

PMFBY Registration Last Date: 31 जुलाई

PMBFY में पंजीकरण करना बहुत आसान है। कोई भी किसान PMFBY का लाभ उठा सकता है। PMFBY में रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन या ऑफलाइन किया जा सकता है। PM Fasal Bima Yojana के तहत पंजीकरण करने के लिए अपनी नजदीकी बैंक शाखा, सहकारी बैंक लिमिटेड, लोक सेवा केंद्र, अधिकृत बीमा कंपनी से संपर्क करें या http://pmfby.gov.in पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana | प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) Crop Insurance

PMFBY के तहत claim के लिए आवेदन कहां करें

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana के तहत किसान फसल नुकसान की जानकारी ऑनलाइन या ऑफलाइन भी दे सकते हैं और क्लेम के लिए आवेदन भी कर सकते हैं। ऑनलाइन आवेदन PMFBY की वेबसाइट पर किया जा सकता है। ऑफलाइन सूचना एवं आवेदन के लिए वेबसाइट पर सूचना दी गई है।

पॉलिसी की स्थिति को ऑनलाइन भी चेक किया जा सकता है। यदि आपको Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana से कोई शिकायत है तो आप ऑनलाइन शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

फसल बीमा पॉलिसी (Fasal Bima Policy) : मेरी पॉलिसी मेरे हाथ अभियान

समाचार के अनुसार कृषि मंत्रालय ने कहा कि डोर-टू-डोर अभियान ‘Meri Policy Mere Haath’ का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि सभी किसान सरकार की नीतियों, भूमि अभिलेखों, दावा प्रक्रिया के अनुसार PMFBY के अंतर्गत आते हैं। शिकायत निवारण के बारे में सभी जानकारियों से अच्छी तरह वाकिफ हों। मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि जून से शुरू होने वाले खरीफ सीजन में योजना को लागू करने वाले सभी राज्यों में घर-घर जाकर अभियान चलाया जाएगा।

Latest Admit Card and Results Link (New)

CBSE 10th Term 2 result 2022
CUET Syllabus 2022 UG and PG
CBSE 12th Term 2 Result 2022
SBI Clerk Notification 2022
CBSE 10th Term 2 result 2022
Neet Admit Card 2022
CUET Admit Card 2022 Download Link

फसल बीमा योजना के उद्देश्य

PMFBY फरवरी 2016 में शुरू की गई, जिसका उद्देश्य प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल के नुकसान/क्षति से पीड़ित किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करना है। मंत्रालय के अनुसार PMFBY के तहत 36 करोड़ से अधिक किसानों के आवेदनों का बीमा किया गया है, इस साल 4 फरवरी तक इस योजना के तहत 1,07,059 करोड़ रुपये से अधिक के दावों का भुगतान किया गया है।

लगभग 85 प्रतिशत किसान छोटे और सीमांत किसान

Fasal Bima Yojana सबसे कमजोर किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करने में सफल रही है क्योंकि इस योजना में नामांकित किसानों में से लगभग 85 प्रतिशत छोटे और सीमांत किसान हैं। हालांकि, किसानों की स्वैच्छिक भागीदारी के लिए Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana को वर्ष 2020 में बदल दिया गया था। किसान के लिए किसी भी घटना के 72 घंटे के भीतर फसल के नुकसान की रिपोर्ट फसल बीमा ऐप, CSC Center या नजदीकी कृषि अधिकारी के माध्यम से रिपोर्ट करना सुविधाजनक बनाया गया है। पात्र किसान के बैंक खातों में इलेक्ट्रॉनिक रूप से दावा भुगतान की व्यवस्था की गई है।

PM Fasal Bima Yojana Registration Link Click Here
Home PageClick Here
close button