PM Kisan 11th Installment New List: कहीं कट तो नहीं गया आपका नाम?

PM Kisan 11th Installment New List 2022: 12 करोड़ 50 लाख से अधिक किसान PM Kisan Samman Nidhi की 11वीं किस्त का इंतजार कर रहे हैं। अगले कुछ दिनों में इस वित्तीय वर्ष की पहली किस्त और 11th installment योजना की शुरुआत से ही उनके खाते में आ जाएगी। किस्त में देरी की वजह गांव-गांव में चल रहा pm kisan e-KYC और सत्यापन का काम है।

Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Yojana pmkisan.gov.in का लाभ लेने वाले अपात्र किसानों से वसूली व सूची से नाम काटने की प्रक्रिया भी तेज हो गई है. ऐसे में आपके लिए यह जानना बेहद जरूरी है कि PM Kisan 2022 New List में आपका नाम है या कट गया है। इसे चेक करने के लिए आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं है। आप घर बैठे अपने मोबाइल, लैपटॉप या कंप्यूटर से अपने Pm kisan Yojana beneficiary देख सकते हैं.

आपको बता दें कि इस योजना के तहत मोदी सरकार तीन किस्तों में किसानों को सालाना 6000 रुपये देती है। वार्षिक आधार पर पहली किश्त अप्रैल से जुलाई तक, दूसरी किस्त अगस्त से नवंबर तक और तीसरी किस्त दिसंबर से मार्च तक मिलती है। इस साल की पहली किश्त 31 मई से आने लगेगी। आइए जानते हैं वो आसान उपाय, जिन्हें अपनाकर आप इसे घर बैठे आसानी से कर सकते हैं।

PM Kisan 11th Installment
  • सबसे पहले आप https://pmkisan.gov.in/ पर जाएं
  • यहां भुगतान सफलता टैब के अंतर्गत भारत का नक्शा दिखाई देगा।
  • इसके नीचे Dashboard लिखा होगा, इसे क्लिक करें
  • इस पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज ओपन हो जाएगा
  • यह विलेज डैशबोर्ड का पेज है, यहां आप अपने गांव की पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
  • पहले राज्य, फिर अपने जिले, फिर तहसील और फिर अपने गांव का चयन करें।
  • इसके बाद शो बटन पर क्लिक करें
  • इसके बाद आप जिस बटन के बारे में जानना चाहते हैं उस पर क्लिक करें, पूरी जानकारी pmkisan.gov.in status check आपके सामने होगी।
  • ग्राम डैशबोर्ड के नीचे चार बटन मिलेंगे, अगर आप जानना चाहते हैं कि कितने किसानों का डाटा पहुंचा है तो डाटा रिसीव्ड पर क्लिक करें जो पेंडिंग हैं, दूसरे बटन पर क्लिक करें

जानिए अब तक आपको कितनी किस्त मिली है

सबसे पहले पीएम किसान की ऑफिशियल वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/ पर जाएं। यहां आपको राइट साइड में ‘किसान कॉर्नर’ का विकल्प मिलेगा। यहां ‘लाभार्थी की स्थिति’ के विकल्प पर क्लिक करें। यहां एक नया पेज ओपन होगा। नए पेज पर आधार नंबर या बैंक अकाउंट नंबर का विकल्प चुनें। आपने जो विकल्प चुना है उसका नंबर दर्ज करें। फिर ‘डेटा प्राप्त करें’ पर क्लिक करें। यहां क्लिक करने के बाद आपको लेनदेन की सारी जानकारी मिल जाएगी। यानी आपके खाते में किस्त कब आई और किस बैंक खाते में क्रेडिट हुई। आपको यहां kisan status 11th kist से जुड़ी जानकारी भी मिल जाएगी।

PM Kisan की किस्त पाने से अधिक लौटाने की करें फिक्र

पीएम किसान की 11वीं किस्त का इंतजार कर रहे किसानों को 15 मई से 31 मई के बीच खुशखबरी मिल सकती है. इस बार पीएम किसान की अप्रैल-जुलाई 2022 की किस्त आने में देरी हो रही है, लेकिन गौर करने वाली बात ये है कि इस बार अपात्र किसानों को पहले से ली गई किश्त लौटानी होगी।

जेल नहीं जाना चाहते तो गलत तरीके से लिए गए पीएम किसान के पैसे वापस कर दो। इसके लिए सरकार ने PM Kisan Portal पर एक सुविधा दी है। आप पैसे ऑनलाइन वापस कर सकते हैं। इसके लिए आपको बस इतना ही करना होगा।

PM Kisan Refund Online

सबसे पहले https://pmkisan.gov.in/ Portal पर जाएं। दाईं ओर छोटे बॉक्स हैं। सबसे नीचे आपको ऑनलाइन रिफंड के लिए बॉक्स मिलेगा। उस पर क्लिक करें। इसमें दो ऑप्शन दिखाई देंगे। सबसे पहले अगर आपने पीएम किसान का पैसा वापस कर दिया है तो पहले चेक करके सबमिट बटन पर क्लिक करें, नहीं तो दूसरे विकल्प को चेक करके सबमिट कर दें। इसके बाद आधार नंबर, मोबाइल नंबर या बैंक अकाउंट नंबर दर्ज करें। छवि टेक्स्ट टाइप करें और डेटा प्राप्त करें पर क्लिक करें। यदि आप पात्र हैं तो आप किसी धनवापसी राशि के लिए पात्र नहीं हैं, यह संदेश आएगा अन्यथा यह धनवापसी राशि दिखाएगा।

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में पीएम किसान सम्मान निधि में बड़ा घोटाला सामने आया है. अब तक तीन लाख 15 हजार 10 हितग्राही जांच एवं सत्यापन में अपात्र पाये गये हैं। उन्हें जो राशि दी गई है, उसकी वसूली की जाएगी।

राज्य में अब तक 2.55 करोड़ किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि का कम से कम एक बार लाभ मिल चुका है. इनमें से 6.18 लाख किसान ऐसे हैं कि उनका आधार नंबर गलत तरीके से डेटाबेस में दर्ज हो गया था या आवेदन और आधार कार्ड में दर्ज नाम में अंतर है। ऐसे लोगों को अगली किस्त नहीं मिल सकी। मुख्य सचिव ने कहा है कि कुछ के डाटाबेस में सुधार किया गया है।

कौन नहीं ले सकता फायदा

अगर परिवार में कोई टैक्सपेयर है तो उसे इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा। परिवार का मतलब पति-पत्नी और नाबालिग बच्चे हैं।

  • जो लोग कृषि भूमि का उपयोग कृषि के स्थान पर अन्य प्रयोजनों के लिए कर रहे हैं।
  • कई किसान दूसरों के खेतों पर खेती का काम करते हैं, लेकिन खेतों के मालिक नहीं होते।
  • अगर कोई किसान खेती कर रहा है, लेकिन खेत उसके नाम नहीं है तो उसे इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।
  • यदि खेत उनके पिता या दादा के नाम पर है तो भी वह इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं।
  • यदि किसी के पास कृषि भूमि है लेकिन वह सरकारी कर्मचारी है या सेवानिवृत्त हो चुका है
  • पीएम किसान योजना का लाभ वर्तमान या पूर्व सांसदों, विधायकों, मंत्रियों को नहीं मिलता है।
  • पेशेवर पंजीकृत चिकित्सक, इंजीनियर, वकील, चार्टर्ड अकाउंटेंट या उनके परिवार के सदस्य
  • एक व्यक्ति के पास खेत है, लेकिन उसे एक महीने में 10000 रुपये से अधिक की पेंशन मिलती है
close button