..तो रूक जाएगी पीएम किसान की 11वीं किश्त

Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Yojana के तहत पंजीकृत किसान 11th installment, का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन इससे पहले किसानों को Pm Kisan e-Kyc करना होगा अन्यथा वे सम्मान निधि से वंचित हो जाएंगे।Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Yojana pmkisan.gov.in का लाभ सही और पात्र किसानों को देने और धोखाधड़ी को रोकने के लिए Pm Kisan ekyc Update 2022 आवश्यक है।

कृषि विभाग के अनुसार जिले के तीन लाख 49 हजार चार किसान pmkisan के तहत पंजीकृत हैं। सम्मान निधि का लाभ प्राप्त करने के लिए अब तक दो लाख छह हजार 136 किसान ई-केवाईसी करा चुके हैं। बाकी एक लाख 42 हजार 868 किसान pm Kisan ekyc से वंचित हैं. कृषि उप निदेशक अशोक कुमार उपाध्याय ने बताया कि सभी पंजीकृत किसानों के लिए पीएम किसान पोर्टल पर ई-केवाईसी करना अनिवार्य है

pm Kisan Samman Nidhi Yojana ekyc registration

पहले pm Kisan Samman Nidhi Yojana ekyc registration की आखिरी तारीख 31 मार्च थी, अब PM Kisan e-KYC Process 31 मई तक होगी। E-KYC होगा तभी 11वीं किस्त मिलेगी. ई-केवाईसी से खत्म होगी गड़बड़ी की संभावना, पात्र किसानों को मिलेगा योजना का लाभ, ई-केवाईसी ऑथेंटिकेशन करने का ऑनलाइन तरीका आधार कार्ड, मोबाइल नंबर को लिंक करने से त्रुटि की कोई संभावना नहीं है।

Pm Kisan ekyc

पहले ई-केवाईसी की कोई बाध्यता नहीं थी, इसलिए किसानों को आधार कार्ड और मोबाइल नंबर लिंक नहीं कराया जाता था, लेकिन अब गड़बड़ी की आशंका पर इसे अनिवार्य कर दिया गया है ताकि पात्र किसानों को ही योजना का लाभ मिल सके. अगली किस्त ई-केवाईसी के बिना नहीं मिलेगी।

सरकार ने PM किसान योजना के लाभार्थियों के लिए eKYC अनिवार्य कर दिया है। जो किसान इस योजना का लाभ उठा रहे हैं, उन्हें अब 31 मई तक eKYC अपडेट करना होगा। पहले eKYC की डेडलाइन 31 मार्च 2022 तय की गई थी, लेकिन सरकार ने इसे बढ़ाकर 31 मई 2022 कर दिया है।

अपात्रों पर होगी, जांच के लिए गांव-गांव दौड़ेंगी टीमें

PM Kisan Samman Nidhi eligible farmers list 2022/ PM Kisan Samman Nidhi ineligible farmers list 2022 के लिए पात्र व अपात्रों की सूची गांव-गांव Social audit टीम चस्पा करेगी. इसमें अपात्र का पता लगाने के साथ ही यह टीम उन लोगों के नाम भी नई सूची में शामिल करेगी, जिन्हें अभी तक योजना का लाभ नहीं मिला है. योजना का Social audit भारत सरकार के निर्देश पर किया जा रहा है। इसमें कृषि विभाग के कर्मचारियों के साथ लेखाकार, सचिव एवं तकनीकी सहायक आदि शामिल होंगे।

social audit team योजना का लाभ प्राप्त करने वाले किसानों की जानकारी देगी। अगर लाभार्थी अपात्र पाया जाता है तो उसे Samman Nidhi amount लौटानी होगी। टीम योजना के लाभ से वंचित पात्र लाभार्थियों की पहचान भी करेगी। 10 मई से ग्राम पंचायत वार ऑडिट शुरू हो चुका है। ऑडिट 30 जून तक चलेगा। pm kisan beneficiaries list 2022 ग्राम सभा में पढ़कर सुनाया जाएगा। जिन किसानों की मौत हुई है और उनके नाम लिस्ट में हैं।

उनका नाम भी Kisan Samman Nidhi की सूची से कट जाएगा। ऐसे परिवारों की भी जांच की जाएगी जहां Kisan Samman Nidhi benefit एक से अधिक व्यक्ति ले रहे हैं। किसी एक गांव की उपलब्ध सूची में ऐसे किसान भी होने चाहिए जो वास्तव में उस गांव, तहसील या जिले के निवासी नहीं हैं, बल्कि किसी और जगह के निवासी हैं, लेकिन उनकी जमीन उस गांव में है. आवासीय पते के आधार पर ऐसे किसानों को अपात्र नहीं बनाया जाएगा। भूमि अभिलेखों के आधार पर उनकी पात्रता की जांच करने के बाद निर्णय लिया जाएगा। साथ ही विरासत का फॉर्म भी भरेगा।

गांव-गांव जांच के लिए टीम बनाई गई है, उन्होंने भी अपना काम शुरू कर दिया है। जिन किसानों ने अपना pm kisan e-KYC नहीं कराया है, वे pm kisaan ekyc करवाएं और जिन लाभार्थियों ने अभी तक kyc pm kisan नहीं कराया है, वे भी अपनाकरा लें। इस चेक से अपात्रों का नाम सूची से कम हो जाएगा और नए पात्र हितग्राहियों को इस योजना का लाभ मिलेगा।

close button