Sarkari Yojana: 20 हजार रुपए की सैलरी में भी हो सकते हैं बुढ़ापे में ठाठ-बाट, जानें कैसे

Sarkari Yojana: कर्मचारी पेंशन योजना (EPS) एक रिटायरमेंट स्कीम है और यह स्कीम ईपीएफओ(EPFO) द्वारा चलाई जाती है। यह स्कीम संगठित क्षेत्र से 58 वर्ष की आयु में सेवानिवृत्त हो चुके कर्मचारियों के लिए शुरू की गयी है। आज का दौर महंगाई का है, इसलिए जिस तरह समय के साथ महंगाई बढ़ रही है, ऐसे में सभी को समय पर अपने रिटायरमेंट की योजना बनाकर चलना चाहिए। वैसे तो सभी को प्रोफेशनल लाइफ के शुरुआत से ही बुढ़ापे के लिए प्लानिंग शुरू कर लेनी चाहिए, लेकिन अगर आपने रिटायरमेंट प्लानिंग के बारे में अभी तक नहीं सोचा है, तो आप नए साल से इसकी शुरूआत कर सकते हैं।

Sarkari Yojana
Sarkari Yojana

अगर आप नौकरीपेशा व्यक्ति हैं और आपका EPFO में खाता है, तो आप एक अच्छी प्लानिंग के साथ एक सही और अच्छा रिटायरमेंट प्लान तैयार कर सकते हैं। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन अपने खाताधारकों को EPF में अपने वेतन का कुछ हिस्सा निवेश करने की सलाह देते हैं। EPFO के साथ EPS यानि कि कर्मचारी पेंशन योजना जुड़ा है, जो कर्मचारियों को रिटायरमेंट के बाद पेंशन प्रदान करता है।

किसी व्यक्ति के किसी कंपनी या संस्थान में नौकरी शुरू करने के बाद , पीएफ (PF) अकाउंट के साथ ही ईपीएस (EPS) अकाउंट भी खोल दिया जाता है और PF और EPS खातों को अगर सही तरीके से मैनेज किया जाए तो आप बुढ़ापे में बिना किसी परेशानी के अच्छी तरह से अपना जीवन व्यतीत कर सकते हैं।

इस Sarkari Yojana में इस प्रकार से करें निवेश

अगर आप 25 वर्ष की आयु में नौकरी की शुरूआत करते हैं और आपको हर महीने 20 हजार रुपये सैलरी मिलती है, तो आप ज्यादा मेहनत किए बिना भी अपने रिटायरमेंट के लिए काफी फंड जमा कर सकते हैं, क्योंकि आपकी बेसिक सैलरी में से ही EPF जमा होता है। ईपीएफ में 12% कर्मचारी और 12% नियोक्ता का हिस्सा जमा होता है, यानी कि आपकी बेसिक सैलरी का 24% भाग हर महीने आपके पीएफ खाते में जमा किया जाता है। अगर आपकी बेसिक सैलरी 20,000 रुपये है तो 24% के हिसाब से, हर महीने आपके पीएफ खाते में 4800 रुपये जमा होंगे और एक साल में आपके पीएफ खाते में 57,600 रुपये जमा हो जाएंगे। नौकरी के दौरान और सही समय पर ईपीएफ में निवेश करने पर एक लंबे समय के बाद करोड़ों रुपये जमा हो जाते हैं।

ईपीएफ में निवेश करने पर कर्मचारी को 8.5% का ब्याज भी मिलता है। अगर कोई व्यक्ति 25 वर्ष की उम्र से ही निवेश शुरू करता है और उसकी बेसिक सैलरी 20 हजार रुपये है, तो आपको रिटायरमेंट के समय करीब 2.79 करोड़ रुपये प्राप्त हो सकते हैं।

इन बातों का रखना होगा खास ध्यान

  • अगर समय पूरा होने से पहले पीएफ में निवेश किये गए पैसे को ना निकाला जाये तो आप करोड़पति बन सकते हैं।
  • अगर आप नौकरी बदल रहे हैं तो इस बात का ध्यान अवश्य रखें कि आपको अपना पीएफ अकाउंट नई कंपनी में ट्रांसफर करवाना होगा। अगर आप अपना पीएफ अकाउंट ट्रांसफर नहीं करते हैं, तो ऐसी स्थिति में आपको नए पीएफ अकाउंट पर तो ब्याज मिलेगा, लेकिन पुराने पीएफ अकाउंट पर 3 साल के बाद ब्याज मिलना बंद हो जाएगा।

सरकारी योजनाओं को जानने के लिए sarkariiyojana.in को बुकमार्क जरूर करें।

Leave a Comment

close button