Notifications
×
Subscribe
Unsubscribe

Solar Subsidy के लिए Apply कैसे करे 2022 में ?

Solar Subsidy Scheme : भारत में बिजली कोई बड़ी समस्या नहीं है। समस्या बिजली बिल को लेकर है। हालांकि भारत में बिजली की दर अन्य देशों की तुलना में सस्ती है। लेकिन यहां के लोगों के मुताबिक यह सस्ता रेट भी उनके लिए भारी साबित होता है।

हाल ही में बिजली की समस्या ज्यादा हो रही है। इस महंगे बिजली बिल से निजात पाने के लिए सरकार ने सोलर रूफटॉप योजना (Solar Rooftop Scheme) की शुरुआत की है। इससे लोगों के ऊपर मंहगे बिजली बिल की टेंशन भी कम होगी और सरकार सब्सिडी का भी लाभ देगी।

सोलर पैनल की तकनीक को सोलर रूफटॉप योजना (Solar Rooftop Scheme) कह सकते हैं। भारत में सौर ऊर्जा की ज्यादा संभावनाएं हैं। सरकार अब उनकी तुलना में भारत अभी भी काफी पीछे है। लेकिन इस दिशा में पहले से बेहतर गति देखने को मिल रही है। रूफटॉप सोलर पैनल के कई फायदे हैं। पहला बिजली का बिल न के बराबर होगा। दूसरा, आप चाहें तो ज्यादा बिजली पैदा कर सरकार को बेच सकते हैं और पैसा कमा सकते हैं।

Solar Subsidy

Solar Rooftop Scheme क्या है?

घरों की छतों पर रूफटॉप सोलर पैनल (Rooftop Solar Panels) नजर आते हैं। छतों पर सोलर प्लेट लगाई जाती हैं, इसे रूफटॉप पैनल कहते हैं। यह एक ऐसी तकनीक है जो सूर्य की किरणों से ऊर्जा को लेकर बिजली पैदा करती है। पैनल में फोटोवोल्टिक सेल होते हैं जो सौर ऊर्जा को बिजली में परिवर्तित करते हैं। यह बिजली वही काम करती है जो पावर ग्रिड की बिजली करती है।

Solar Rooftop Scheme के लाभ

सोलर पैनल (Solar Rooftop Scheme) के फायदे कई हैं। यह पावर ग्रिड से उत्पन्न बिजली की तुलना में सस्ता और अधिक सुविधाजनक है। इस बिजली को आप अपने घर में पैदा कर सकते हैं। इसके लिए सरकार आपको सब्सिडी देती है जिसकी मदद से आप सस्ते में सोलर पैनल खरीद सकते हैं।

सौर पैनलों की लाइफ 25 वर्ष है और इस अवधि के दौरान किसी भी मरम्मत या रखरखाव की आवश्यकता नहीं होती है। पैनल लगाने के बाद आपको बिजली मिलती रहेगी। बस इसे समय-समय पर साफ करना होता है ताकि सूरज की रोशनी पैनल पर ठीक से पड़े।

सौर पैनल स्थापित करने के लिए किसी अतिरिक्त स्थान या भूमि की आवश्यकता नहीं है। इसे आप घर की छत पर लगा सकते हैं। इससे कोई प्रदूषण नहीं होता है। सौर ऊर्जा ग्रीनहाउस गैसों के उत्सर्जन को कम करती है जिससे पर्यावरण संरक्षण होता है।

Solar Rooftop लगाने की लागत

सोलर पैनल से बिजली पैदा करने की लागत पैनल के मॉड्यूल और इन्वर्टर पर निर्भर करती है। आमतौर पर 1 KW का सोलर पैनल लगाने में 45,000 रुपये से 85,000 रुपये का खर्च आता है। इसके अलावा बैटरी का खर्चा होगा। इसी तरह यदि 5 किलोवाट के सोलर पैनल लगाए जाते हैं तो 2.15 लाख से 3.15 लाख तक का खर्च आएगा। हालांकि बिजली का बिल 5-6 साल बाद आपका बिल जीरो हो जाएगा क्योंकि 5-6 साल में पूरा खर्च चला जाएगा। बाद में लागत शून्य हो जाएगी।

Solar Rooftop Scheme में सब्सिडी के फायदे

केंद्र सरकार घर की छत पर सोलर पैनल (Solar Panel) लगाने पर सब्सिडी देती है। हालांकि सब्सिडी सिर्फ घरों पर पैनल लगाने के लिए दी जाती है। व्यावसायिक उपयोग के लिए नहीं। 3KW क्षमता के सोलर पैनल के लिए 40 प्रतिशत तक सब्सिडी दी जाती है।

4 से 10 KW सोलर की स्थापना के लिए 20% और 10 KW से अधिक क्षमता के सोलर पैनल (Solar Panel) लगाने पर कोई सब्सिडी नहीं दी जाती है। सब्सिडी पाने के लिए आप डिस्कॉम के लिंक पर जा सकते हैं या सरकार द्वारा दिए गए टोल फ्री नंबर 1800-180-3333 पर कॉल कर सकते हैं।

How To Apply For Solar Subsidy In 2022?

सबसे पहले Solar Subsidy Yojana Official Website, Solarrooftop.gov.in पर जाएं।
इसके बाद Home Page पर Solar Roofing Application पर क्लिक करें।
उसके बाद अगले पेज पर अपने State का चयन करें।
इसके बाद आप अपनी स्क्रीन पर Solar Roof application Form देखेंगे।
इसमें सारी डिटेल्स भरकर Submit पर क्लिक करें।

Solar Rooftop Scheme Click Here
Home PageClick Here
close button