Sukanya Samriddhi Yojana : आज से बदल गए सुकन्या समृद्धि योजना के नियम, अब सिर्फ़ इन बेटियों को मिलेगा लाभ, जानिए पूरी जानकारी

Sukanya Samriddhi Yojana : हमारे घरों में जब भी कोई लड़की पैदा होती है। माता-पिता जन्म से ही बच्चे के भविष्य के बारे में योजना बनाना शुरू कर देते हैं। उसकी पढ़ाई से लेकर उसकी शादी तक उसके माता-पिता पैसे इकट्ठा करना शुरू कर देते हैं। वह हमेशा अपनी बेटी के भविष्य को लेकर चिंतित रहते हैं। लेकिन अब सरकार बेटियों के भविष्य संवारने में माता-पिता की भी मदद कर रही है।

Sukanya Samriddhi Yojana

सरकार बेटियों के लिए सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) चला रही है। इस योजना में निवेश करके माता-पिता अपनी बेटियों का भविष्य सुरक्षित कर सकते हैं। इसका लाभ कैसे उठाएं सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) इतनी लंबी अवधि की योजना है। इसमें निवेश करके आप अपनी बेटी की पढ़ाई से लेकर शादी के खर्चे में पैसा जोड़ सकते हैं। सुकन्या समृद्धि योजना के तहत 10 साल से कम उम्र की बेटियों का खाता उनके माता-पिता के नाम ही खोला जाता है।

इस योजना के तहत आप सालाना 250 रुपये से लेकर 1.50 रुपये तक का निवेश कर सकते हैं। एक परिवार से कितनी बेटियां खाता खोलेगी, इस योजना में पहले सिर्फ दो बेटियों के खाते पर 80c के तहत टैक्स छूट थी। लेकिन अब यह बदल गया है और नियम के तहत अगर एक बेटी के बाद दो जुड़वां बेटियां पैदा होती हैं तो उनके खाते में भी टैक्स छूट मिलेगी।

Sukanya Samriddhi Yojana में खाते कब बंद किए जा सकते हैं?

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) के तहत खोले गए खाते को पहली दो परिस्थितियों में बंद किया जा सकता है। यदि बालिका की मृत्यु हो जाती है या यदि पुत्री के निवास का पता बदल दिया जाता है तो यह खाता बंद किया जा सकता है। लेकिन नए बदलाव के बाद खाताधारक की जानलेवा बीमारी को भी इसमें शामिल कर लिया गया है। सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) के तहत खोले गए खाते को माता-पिता की मृत्यु के बाद भी समय से पहले बंद किया जा सकता है।

Sukanya Samriddhi Yojana में खाता कैसे खुलवाते हैं?

इस योजना का लाभ लेने के लिए आप किसी भी नजदीकी डाकघर या बैंक में जाकर खाता खुलवा सकते हैं। सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) 21 साल में परिपक्व होती है। हालांकि लड़की की उम्र 18 साल होने के बाद इस खाते से पढ़ाई के लिए रकम निकाली जा सकती है। पूरी राशि 21 वर्ष की आयु प्राप्त करने के बाद ही मिलती है।

Sukanya Samriddhi Yojana के लिए आवश्यक दस्तावेज

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) के तहत खाता खोलते समय पोस्ट ऑफिस या बैंक में लड़की का जन्म प्रमाण पत्र देना जरूरी है। साथ ही, लड़की और उसके माता-पिता का पहचान पत्र और पता प्रमाण आवश्यक है।

Sukanya Samriddhi Yojana खाते में कैसे जमा होगी राशि?

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) खाते में निवेश की गई राशि को नकद, चेक, डिमांड ड्राफ्ट या बैंक द्वारा स्वीकार किए जाने वाले किसी भी तरीके से भी जमा किया जा सकता है।

Sukanya Samriddhi Yojana के चलते निवेश पर कितना मिलेगा ब्याज?

वर्तमान में सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) में निवेश पर 7.6% की दर से ब्याज मिल रहा है। इस योजना के तहत आप एक छोटी राशि का निवेश करके लाखों रुपये जोड़ सकते हैं। सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) पर बैंक या डाकघर की सभी बचत योजनाओं से ज्यादा ब्याज मिल रहा है।

अगर आप इस योजना के तहत हर महीने 1000 रुपये तक का निवेश करते हैं तो 7.6% ब्याज दर के हिसाब से आपको इस तरह से 10 लाख रुपये से अधिक की राशि मिलेगी।

• 1 महीने में जमा – 1000 रु
• 12 महीनों में कुल जमा राशि -12000
• 15 साल तक जमा – रु -18,0000
• 21 साल तक की जमा राशि पर कुल ब्याज + कुल जमा – 329,212 रुपये
• 21 साल पूरे होने पर लेकिन कुल जमा + कुल ब्याज जोड़ने के बाद, पैसा वापस कर दिया जाएगा – 10,18,425 रुपये
• इस तरह जब आपकी बेटी 21 साल की हो जाएगी तो उसके नाम पर लाखों रुपये जमा हो जाएंगे. जब आप चाहते हैं कि आपकी बेटी की शादी हो तो आप इस पैसे को आसानी से निकाल सकते हैं।

Sukanya Samriddhi YojanaClick Here
Home PageClick Here

नोट-यह न्‍यूज वेबसाइट से मिली जानकारियों के आधार पर बनाई गई है. SarkariiYojana.in अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है।

close button