Vidhwa Pension Yojana 2022 में हुआ बड़ा बदलाव, जानें ऑनलाइन अप्लाई का नया तरीका

Vidhwa Pension Yojana 2022 : भारत की केंद्र सरकार ने सभी राज्यों के लिए विधवा पेंशन योजना (Vidhwa Pension Yojana) शुरू की। यह योजना उन सभी महिलाओं को वित्तीय सहायता प्रदान करती है जिनकी देखभाल करने वाला कोई नहीं है। विधवा पेंशन योजना (Vidhwa Pension Yojana) देश में हर महिला के सशक्तिकरण की दिशा में एक कदम है।

देश की विभिन्न राज्य सरकारें अपने राज्य की गरीब, जरूरतमंद, आर्थिक रूप से निराश्रित विधवा महिलाओं को विधवा पेंशन योजना (Vidhwa Pension Yojana) के तहत अपना जीवन अच्छे से जीने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करती हैं। राज्य सरकार द्वारा विधवाओं को दी जाने वाली वित्तीय सहायता और विधवा पेंशन योजना (Vidhwa Pension Yojana) के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग होती है।

विधवा पेंशन योजना (Vidhwa Pension Yojana) गरीब विधवाओं को उनके जीवन स्तर को बढ़ाने के लिए सहायता प्रदान करती है। इस योजना के तहत विधवा महिलाओं को मासिक पेंशन मिलती है। हालांकि विधवा महिलाओं के बच्चे या परिवार के अन्य सदस्य विधवा की मृत्यु के बाद इस योजना के तहत प्रदान किए जाने वाले वित्तीय लाभ के लिए पात्र नहीं हैं।

Vidhwa Pension Yojana उद्देश्य

विधवा पेंशन योजना (Vidhwa Pension Yojana) का मुख्य उद्देश्य विधवा महिलाओं का समर्थन करना है जो अपने पति की मृत्यु के बाद परिवार के अन्य सदस्यों पर आर्थिक रूप से निर्भर हैं। पति की मृत्यु के बाद महिलाओं को कई आर्थिक कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। सरकार ने विधवा पेंशन योजना (Vidhwa Pension Yojana) की शुरुआत देश में विधवा महिलाओं की कठिनाइयों को ध्यान में रखते हुए की।

इस योजना के माध्यम से सरकार विधवा महिलाओं को आर्थिक सहायता प्रदान करती है ताकि वे अपना जीवन यापन कर सकें। विधवा महिलाओं को अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए दूसरों पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा क्योंकि उन्हें इस योजना के तहत वित्तीय सहायता प्राप्त होती है। इस योजना का उद्देश्य विधवा महिलाओं को सशक्त बनाना, उन्हें आत्मनिर्भर बनाना और उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार करना है।

Vidhwa Pension Yojana पात्रता मानदंड

  1. केवल गरीबी रेखा से नीचे की विधवा महिलाएं ही इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने की पात्र हैं।
  2. महिला की उम्र 18 से 60 साल के बीच होनी चाहिए।
  3. यदि विधवा महिला ने पति की मृत्यु के बाद पुनर्विवाह किया है, तो वह इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने की पात्र नहीं होगी।
  4. यदि महिला के बच्चे वयस्क हैं और उसका भरण-पोषण कर सकते हैं तो वह इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने की पात्र नहीं होगी।

Vidhwa Pension Yojana के लाभ

आम तौर पर एक विधवा महिला को सभी राज्यों में हर महीने न्यूनतम 300 रुपये पेंशन मिलेगी। हालांकि यह राशि संबंधित राज्य के आधार पर प्रति माह 300 से 2,000 रुपये के बीच भिन्न होती है। 80 वर्ष की आयु के बाद लाभार्थी को 500 रुपये प्रतिमाह वृद्धावस्था पेंशन मिलेगी। वृद्धावस्था पेंशन राशि और आयु सीमा अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग होती है। राज्य सरकार सीधे लाभार्थी विधवा के बैंक खाते में पेंशन राशि जमा करेगी।

Vidhwa Pension Yojana आवेदन प्रक्रिया

Vidhwa Pension Yojana के लिए आवेदन प्रक्रिया अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग है। आमतौर पर विधवा महिला नगर निगम कार्यालय या पंचायत कार्यालय में जाकर इस योजना के लिए आवेदन जमा कर विधवा पेंशन योजना (Vidhwa Pension Yojana) के लिए आवेदन कर सकती है। विधवा महिला अपने राज्य की आधिकारिक वेबसाइट पर विधवा पेंशन आवेदन भरकर और जमा करके भी ऑनलाइन आवेदन कर सकती है।

Vidhwa Pension Yojana आवश्यक दस्तावेज

  • आवेदक फोटो
  • आईडी प्रूफ
  • जन्म प्रमाणपत्र
  • बैंक पासबुक
  • पति का मृत्यु प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र

Vidhwa Pension Yojana में कितने रुपये मिलते हैं

विधवा पेंशन योजना (Vidhwa Pension Yojana) के तहत 18 वर्ष की आयु से 55 वर्ष से कम आयु की महिलाओं को सरकार द्वारा 500 रुपये दिए जाते हैं। 55 वर्ष से अधिक आयु की महिलाओं को प्रति माह 750 रुपये की पेंशन दी जाती है वहीं 60 वर्ष से अधिक तलाकशुदा, विधवा महिलाओं को 1000 रुपये दिए जाते हैं।

close button