Notifications
×
Subscribe
Unsubscribe

7th Pay Commission: हो जाइए तैयार, सरकार अब ऐसे बढ़ाएगी सैलरी

7th Pay Commission Latest Update: अधिकांश सरकारी कर्मचारियों (government employees) के मन में एक सवाल है कि क्या आठवां वेतन आयोग (Eighth Pay Commission) सरकारी कर्मचारियों के वेतन में वृद्धि करने आएगा या नहीं। इस संबंध में केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने सोमवार को संसद में कहा कि केंद्र सरकार ( Central Government) के पास अपने कर्मचारियों के लिए 8th Central Pay Commission गठित करने का कोई प्रस्ताव नहीं है. Lok Sabha में एक सवाल में वित्त राज्य मंत्री ने कहा कि 1 जनवरी, 2026 से 8वां वेतन आयोग (8th Pay Commission) लागू करने का कोई प्रस्ताव नहीं है।

7th Pay Commission

केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा कि ऐसा कोई प्रस्ताव विचाराधीन नहीं है। चौधरी एक सवाल का जवाब दे रहे थे कि क्या यह सच है कि सरकार केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के वेतन, भत्तों और पेंशन में संशोधन के लिए 8th Central Pay Commission (8th Pay Commission) का गठन नहीं करने पर विचार कर रही है।

नियमित होगी वेतन की समीक्षा

चौधरी ने कहा कि 7th Pay Commission की सिफारिश के अनुसार केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को दिए जाने वाले वेतन, भत्ते और पेंशन की समीक्षा के लिए एक और वेतन आयोग गठित करने की आवश्यकता नहीं होनी चाहिए। हालांकि नियमित वेतन की समीक्षा सरकार करती है।

पे मेट्रिक्स में बदलाव

केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने कहा कि Acroyd formula के आधार पर इसके पे मैट्रिक्स की समीक्षा और संशोधन किया जा सकता है, जिसे आम आदमी की जरूरतों की वस्तुओं की कीमतों को ध्यान में रखते हुए बदला जा सकता है। श्रम ब्यूरो शिमला इसकी समय-समय पर समीक्षा करता रहता है। यह सुझाव दिया गया है कि next Pay Commission की आवश्यकता के बिना समय-समय पर इस मैट्रिक्स को संशोधित किया जाना चाहिए।

वेतन सवालों के जवाब

वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में सरकारी कर्मचारियों के वेतन ( salary of government employees) से संबंधित सवालों के जवाब दिए. चौधरी ने कहा कि आठवें वेतन आयोग के गठन को लेकर कोई प्रस्ताव केंद्र सरकार (Central Government) के पास विचाराधीन नहीं है। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा था कि इसे 1 जनवरी, 2026 से लागू किया जाएगा।

पहला वेतन आयोग 1946 में आया था

भारत का पहला वेतन आयोग जनवरी 1946 में स्थापित किया गया था। वेतन आयोग की संवैधानिक रूपरेखा व्यय विभाग (वित्त मंत्रालय) के अंतर्गत आती है।

हर छह माह पर बढ़ेगा महंगाई भत्ता (Dearness Allowance)

केंद्रीय मंत्री ने यह भी स्पष्ट किया कि Eighth Pay Commission नहीं बनाया जाएगा। आपको बता दें कि सरकार ने फरवरी 2014 में Seventh Pay Commission का गठन किया था। जिसकी सिफारिशों को 1 जनवरी 2016 से लागू किया गया था। जब चौधरी से पूछा गया कि महंगाई के बीच सरकारी कर्मचारियों की सैलरी कैसे बढ़ेगी। इस पर उन्होंने कहा कि हर छह माह में कर्मचारियों को महंगाई भत्ता दिया जाएगा।

4 प्रतिशत की वृद्धि संभव

मौजूदा नियम की तरह AICPI index के आधार पर कर्मचारियों का महंगाई भत्ता बढ़ाया जाएगा। आपको बता दें कि इस समय केंद्रीय कर्मचारियों को 34 प्रतिशत महंगाई भत्ता (34 percent Dearness Allowance ) मिल रहा है। सरकार की ओर से इसे जनवरी के आधार पर मार्च में बढ़ा दिया गया था. जुलाई माह का महंगाई भत्ता अभी घोषित नहीं हुआ है। AICPI index के आंकड़ों के आधार पर उम्मीद है कि इस बार इसमें 4 फीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है।

न्यूनतम सैलरी 26 हजार रुपए तक हो सकती है

केंद्रीय कर्मचारी संगठनों का कहना है कि फिलहाल न्यूनतम वेतन सीमा 18 हजार रुपये रखी गई है. इसमें इंक्रीमेंट में फिटमेंट फैक्टर को काफी अहमियत दी गई है। फिलहाल यह फैक्टर 2.57 गुना है, हालांकि 7th Pay Commission में इसे 3.68 गुना तक रखने की सिफारिश की गई है. अगर ऐसा होता है तो कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन 18 हजार रुपए से बढ़कर 26 हजार रुपए हो जाएगा।

Home PageClick Here
close button