7th Pay Commission: नवरात्रि पर महंगाई भत्ता बढ़ने से पहले केंद्रीय कर्मचारियों को तोहफा !

7th Pay Commission Latest News: RBI 30 सितंबर 2022 को फिर से repo rate 0.25 फीसदी बढ़ाकर 0.35 फीसदी कर सकता है। जिसके बाद Home Loan और महंगा हो सकता है। ऐसे में जिन लोगों ने पहले ही होम लोन ले लिया है उनकी EMI महंगी होने वाली है। लेकिन जो केंद्रीय कर्मचारी अपना घर खरीदना चाहते हैं, उनके लिए एक अच्छी खबर है। RBI के Repo rate में बढ़ोतरी का केंद्र सरकार के कर्मचारियों पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है. क्योंकि केंद्र की मोदी सरकार सरकारी कर्मचारियों को बाजार से कम दर पर मकान बनाने या खरीदने के लिए कर्ज दे रही है।

7th Pay Commission

RBI कर्ज महंगा कर रहा है लेकिन केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 2022-23 में अपने केंद्रीय कर्मचारियों के लिए हाउसिंग बिल्डिंग एडवांस (Housing Building Advance) पर ब्याज दरों में कमी कर दी है। शहरी विकास मंत्रालय ने चालू वित्त वर्ष के लिए हाउसिंग बिल्डिंग एडवांस (HBA) पर ब्याज दर को घटाकर 7.1 प्रतिशत कर दिया है। वहीं RBI की repo rate बढ़ने के बाद होम लोन पर ब्याज दरें 8.50 से बढ़कर 9 फीसदी होने जा रही हैं।

7th Pay Commission DA Arrear: 38 फीसद डीए से वेतन में 27000 तक की वृद्धि, 18 महीने के एरियर्स पर अपडेट

हाउसिंग बिल्डिंग एडवांस 7.1% पर

Housing Building Advance at 7.1%: केंद्र सरकार 10 साल के सरकारी बांड की यील्ड (रिटर्न) के आधार पर housing building advance पर ब्याज दर तय करती है। केंद्रीय कर्मचारियों के लिए 2021-22 में जहां हाउसिंग बिल्डिंग एडवांस पर ब्याज दर 7.9 फीसदी हुआ करती थी। अब इसे घटाकर 7.1 प्रतिशत कर दिया गया है। केंद्रीय कर्मचारी आवास निर्माण अग्रिम लेकर अपना मकान बनवा सकते हैं और फ्लैट भी खरीद सकते हैं।

Revised Pay Scale Arrear: कर्मचारियों-पेंशनरों को राहत, इस राज्य में मिलेगा 60,000 रुपये तक का नकद एरियर

25 लाख रुपये तक का कर्ज ले सकते हैं

7th Pay Commission और हाउसिंग बिल्डिंग एडवांस 2017 रूल्स की सिफारिशों के मुताबिक केंद्रीय कर्मचारी घर के निर्माण या खरीद के लिए 34 महीने का बेसिक सैलरी या अधिकतम 25 लाख रुपये एडवांस ले सकते हैं। साधारण ब्याज दर पर आवास निर्माण अग्रिम उपलब्ध है। हाउसिंग बिल्डिंग एडवांस रूल के मुताबिक पहले 15 साल में लोन की मूल राशि 180 EMIs में चुकानी होती है, फिर लोन पर ब्याज पांच साल में 60 EMI में चुकाना होता है। बैंक से लिए गए कर्ज को चुकाने के लिए हाउसिंग बिल्डिंग एडवांस भी लिया जा सकता है।

Home PageClick Here

नोट-यह न्‍यूज वेबसाइट से मिली जानकारियों के आधार पर बनाई गई है, SarkariiYojana.in अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है।

close button