NPS Retirement Benefit Calculation: पेंशन – 51 हजार रुपए और Retirement पर मिलेंगे 2 करोड़ 59 हजार रुपए

NPS Retirement Benefit Calculation: अगर आप रिटायरमेंट के बाद नियमित आय का इंतजाम करना चाहते हैं तो प्लानिंग करें। रिटायरमेंट प्लानिंग (Retirement planning) एक ऐसी प्लानिंग है जो आपको जॉब शुरू करते ही शुरू हो जानी चाहिए।

NPS Retirement Benefit Calculation

कई तरह की पेंशन योजनाएँ सेवानिवृत्ति के बाद पेंशन का लाभ प्रदान करती हैं। लेकिन, National Pension System (NPS) सबसे अच्छा विकल्प हो सकता है। यह न केवल सेवानिवृत्ति लाभ प्रदान करता है, बल्कि इसमें कर छूट (tax exemption), नियमित आय (regular income) और pension जैसी कमाई सुविधाएँ भी शामिल हैं। इससे मासिक खर्च की चिंता नहीं होती है। Salary की तरह हर महीने National Pension Scheme से आपके खाते में नियमित आय के तौर पर पैसा आता है।

150 रुपये से बचत करना शुरू करें

मान लीजिए आपकी उम्र 21 साल है। यहां से रोजाना 150 रुपये बचाना शुरू करें। महीने में 4,500 रुपये का निवेश होगा।
60 साल की उम्र तक लगातार निवेश करना होता है, कुल 39 साल का निवेश।
आप सालाना 54000 रुपये का निवेश करेंगे और 39वें वर्ष में 21.06 लाख रुपये योजना में जमा होंगे।
अगर औसतन 10% का रिटर्न दिया जाए तो मैच्योरिटी पर रकम 2.59 करोड़ रुपये होगी।
इस कैलकुलेशन के मुताबिक रिटायरमेंट (retirement) पर आपको 51,848 रुपये मासिक पेंशन मिलेगी।
39वें साल में ही आपको 1.56 करोड़ रुपये का एकमुश्त मिल जाएगा

40 percent annuity in NPS: NPS में 40 प्रतिशत वार्षिकी का विकल्प है। ऐसे में retirement के बाद 6% की वार्षिक वार्षिकी दर पर 1.56 करोड़ रुपये की एकमुश्त राशि उपलब्ध है। 1.04 करोड़ रुपये की बाकी रकम एन्युटी में जाएगी। अब इस वार्षिकी राशि से आपको हर महीने 51,848 रुपये की pension मिलेगी। एन्युटी राशि (annuity amount) जितनी अधिक होगी, पेंशन भी उतनी ही अधिक होगी।

कैसे खोला जा सकता है NPS account ?

NPS Tier-1 और Tier-2 के तहत दो तरह के खाते खोले जाते हैं।
Tier-1 एक रिटायरमेंट खाता (retirement account) है, जबकि टियर-2 एक स्वैच्छिक खाता (voluntary account) है, जिसमें कोई भी वेतनभोगी व्यक्ति अपनी ओर से निवेश करना शुरू कर सकता है।

Tier-2 account, Tier-1 account खोलने के बाद ही खोला जाता है।

NPS Tier-1 खाता खोलने के लिए 500 रुपये और Tier-2 खाते के लिए न्यूनतम 1000 रुपये का योगदान देना होगा।

पहले यह सीमा 6,000 रुपये थी, जिसे घटाकर 1,000 रुपये कर दिया गया।
आप 65 वर्ष की आयु तक निवेश कर सकते हैं।

NPS investment पर 40 फीसदी वार्षिकी खरीदना जरूरी है।
60 साल के बाद एकमुश्त राशि में से 60 प्रतिशत राशि निकाली जा सकती है।
यदि न्यूनतम वार्षिक निवेश (minimum annual investment) नहीं किया जाता है, तो खाता फ्रीज और निष्क्रिय बना दिया जाता है।

ऑनलाइन शुरू कर सकते हैं NPS अकाउंट

  1. NPS account खोलने के लिए enps.nsdl.com/eNPS या Nps.karvy.com पर जाएं।
  2. New Registration पर क्लिक करें और अपना विवरण भरें। मोबाइल नंबर ओटीपी के जरिए वेरिफाई होगा। बैंक खाते की जानकारी दर्ज करें।
  3. अपने पोर्टफोलियो और फंड का चयन करें। नाम भरें।
  4. जिस बैंक खाते में विवरण भरा जाता है, उस खाते का रद्द किया गया चेक देना होगा। इसके अलावा फोटो और सिग्नेचर अपलोड करना होगा।
  5. पेमेंट करने के बाद आपका Permanent Retirement Account (PRN) नंबर जनरेट हो जाएगा। पेमेंट की रसीद भी मिलेगी।
  6. निवेश करने के बाद ‘e-sign/print registration form’ वाले पेज पर जाएं। यहां आप PAN और Netbanking के साथ पंजीकरण कर सकते हैं। यह KYC (Know your customer) करेगा।

इनकम टैक्स में छूट का लाभ

income tax exemption benefit: NPS में ग्राहकों को टैक्स छूट की सुविधा भी मिलती है। आयकर अधिनियम की धारा 80CCD(1), 80CCD(1b) और 80CCD(2) के तहत कर छूट उपलब्ध है। NPS पर सेक्शन 80C के तहत 1.50 लाख रुपये के अलावा आप 50,000 रुपये की और कटौती कर सकते हैं। NPS में निवेश करके आप 2 लाख रुपये की इनकम टैक्स छूट ( income tax exemption of Rs 2 lakh) का फायदा उठा सकते हैं।

अन्य क्या लाभ हैं?

आप अपना NPS account transfer भी कर सकते हैं। आप अपनी आवश्यकता के अनुसार इसका स्थान भी बदल सकते हैं। अभिदाता मोबाइल एप्लिकेशन और सिस्टम के माध्यम से अपने एनपीएस खाते को ऑनलाइन एक्सेस कर सकता है। यानी इस योजना का लाभ लेने के लिए आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं है आपके सारे काम घर बैठे ही हो जाएंगे।

Home PageClick Here

नोट-यह न्‍यूज वेबसाइट से मिली जानकारियों के आधार पर बनाई गई है, SarkariiYojana.in अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है।

close button