RBI Tokenisation : डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड टोकनाइजेशन की समय सीमा अगले महीने से होगी खत्म

RBI Tokenisation : डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड धारक के लिए एक जरुरी खबर सामने आई है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने हाल ही में इस साल 30 सितंबर तक ऑनलाइन, पॉइंट-ऑफ-सेल और इन-ऐप लेनदेन में उपयोग किए जाने वाले सभी क्रेडिट और डेबिट कार्ड डेटा को अद्वितीय टोकन के साथ बदलना अनिवार्य कर दिया है। RBI ने जुलाई से शुरू होने वाली समय सीमा को तीन महीने के लिए बढ़ा दिया है। अब आपके डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड को टोकन करने की समय सीमा अगले महीने समाप्त हो जाएगी और आपको इसे अंतिम तिथि से पहले करना होगा।

समय सीमा बढ़ाने के बाद, भारतीय रिजर्व बैंक उपयोगकर्ताओं को इस प्रक्रिया को जल्द से जल्द पूरा करने के बारे में सूचित करता रहा है। इसके अलावा RBI किसी के डेबिट और क्रेडिट कार्ड को टोकन करने के उपयोग और भत्तों को दोहरा रहा है और एक ऑनलाइन अभियान चला रहा है। हाल ही में एक ट्वीट में RBI ने क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड को टोकन करने के तरीके के बारे में छह चरणों में बताया है।

RBI Tokenisation
RBI Tokenisation

RBI दो बार बढ़ा चुका है डेडलाइन

नए नियमों के लागू होने के बाद ग्राहक जब भी पॉइंट ऑफ सेल मशीनों, ऑनलाइन या किसी ऐप में क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड से पेमेंट करेंगे तो उनके कार्ड के डिटेल इनक्रिप्टेड टोकन के रूप में स्टोर होंगे। पहले यह नियम 1 जनवरी से लागू होने वाला था। RBI ने विभिन्न पक्षों से मिले सुझावों को ध्यान में रखते हुए कॉर्ड ऑन फाइल डेटा स्टोर करने की समय सीमा को 31 दिसम्बर 2021 से बढ़ाकर 30 जून 2022 कर दिया था। बाद में इसे 30 सितम्बर के लिए बढ़ा दिया था अब रिजर्व बैंक इस गाइडलाइन को और बढ़ाने पर विचार नहीं कर रहा है। इसका मतलब हुआ कि अब पेमेंट कंपनियों को 30 सितम्बर 2022 के बाद लोगों के क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड का डेटा मिटाना होगा।

Tokenisation क्या है?

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के अनुसार, टोकनकरण वास्तविक कार्ड विवरण को “टोकन” नामक एक वैकल्पिक कोड के साथ बदलने को संदर्भित करता है। इसमें मर्चेंट और पेमेंट एग्रीगेटर्स को क्रेडिट और डेबिट कार्ड की डिटेल्स को डिलीट करके उन्हें नए टोकन से बदलना होगा।

Tokenisation के क्या फायदे हैं?

आरबीआई ने कहा कि टोकनाइजेशन (RBI Tokenisation) डेबिट और क्रेडिट कार्ड पर ऑनलाइन लेनदेन को सुरक्षित और अधिक सुविधाजनक बना देगा। टोकनिसटन ऑनलाइन धोखेबाजों से कार्ड के विवरण की रक्षा करेगा और ऑनलाइन लेनदेन करते समय कार्डधारकों के अनुभव को बढ़ाएगा।

डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड को टोकन कैसे करें?

  1. कुछ खरीदने और भुगतान लेनदेन शुरू करने के लिए किसी भी ई-कॉमर्स वेबसाइट या मोबाइल ऐप पर जाएं।
  2. चेक-आउट के दौरान अपने डेबिट या क्रेडिट कार्ड का विवरण दर्ज करें।
  3. RBI के दिशानिर्देशों के अनुसार अपने कार्ड को सुरक्षित करें।
  4. उसके बाद टोकन बनाने के लिए सहमति दें। आपके बैंक द्वारा आपके मोबाइल फोन या ईमेल पर भेजा गया ओटीपी दर्ज करें और लेनदेन पूरा करें।
  5. आपके कार्ड के वास्तविक विवरण के बजाय आपका टोकन जनरेट और सहेजा गया है।
RBI TokenisationClick Here
Home PageClick Here
close button