आजकल बच्चों में बड़ी तेज़ी से फेल रहा है Tomato Fever, जानें इसके लक्षण

Tomato Fever : टमाटर बुखार (Tomato Fever) एक नया फ्लू चल रहा है जो चिंता का कारण बन रहा है। यह फ्लू खासकर छोटे बच्चों को काफी तेजी से फैल रहा है। टमाटर बुखार (Tomato Fever) केरल में पांच साल से कम उम्र के 80 से अधिक बच्चे इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं और यह संख्या दिन प्रति दिन बढ़ती नजर आ रही है।

Tomato Fever क्या है?

टमाटर बुखार (Tomato Fever) एक वायरल बुखार है जो खासकर छोटे बच्चों में ज्यादा तेजी से फैल रहा है। टोमैटो फ्लू में बच्चों को रैशेज, त्वचा में जलन, डिहाइड्रेशन और लाल छाले दिखाई दे रहे हैं। शायद इसी वजह से इसे टोमैटो फ्लू का नाम दिया गया है।

Tomato Fever के लक्षण

टमाटर फ्लू के कुछ प्रमुख लक्षण इस प्रकार हैं:

  1. तेज बुखार
  2. डिहाइड्रेशन
  3. शरीर में चकत्ते, हाथ और पैर का रंग बदलना
  4. शरीर में फफोले पड़ना
  5. पेट में ऐंठन, जी मिचलाना
  6. बहती नाक, खांसी , छींक
  7. थकान और शरीर में दर्द

टमाटर फ्लू के लक्षण अभी भी काफी हद तक अज्ञात है और इसके कारणों का ठीक-ठीक पता नहीं चल पाया है। टमाटर फ्लू एक नया वायरल भी हो सकता है या डेंगू चिकनगुनिया का प्रभाव भी हो सकता है। टमाटर फ्लू को लेकर अभी भी चर्चा चल रही है।

Tomato Fever को रोकने की दी जाती है सलाह

बच्चों को फ्लू के कारण होने वाले फफोले को खरोचने से रोकना होगा। बच्चों को उचित आराम और स्वच्छता की भी सलाह दी जाती है। फ्लू को फैलने से रोकने के लिए संक्रमित व्यक्तियों द्वारा उपयोग किए जाने वाले बर्तन, कपड़े और अन्य वस्तुओं को साफ करना चाहिए। हल्का गीला खाना खाने से डिहाइड्रेशन में काफी हद तक आराम मिलेगा। बच्चों में इस तरह के लक्षण दिखने पर डॉक्टर की सलाह लेना जरुरी है।

Tomato Fever को लेकर सरकार बरत रही सतर्कता

पड़ोसी राज्य से आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग के लिए तमिलनाडु-केरल सीमा पर स्थित वालयार चेकपोस्ट पर राजस्व, स्वास्थ्य और पुलिस अधिकारियों की एक टीम तैनात की गई है। कोयंबटूर जिले ने शिफ्ट के आधार पर चौबीसों घंटे सीमा की निगरानी के लिए तीन टीमों को तैनात किया है। अगर किसी में बुखार या रैशेज जैसे लक्षण दिखते हैं तो वे नोट करेंगे।

Leave a Comment

close button