7th Pay Commission : केंद्रीय कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, अब बढ़ेगी ये चार चीज

7th Pay Commission : केंद्र सरकार (Central Government) केंद्रीय कर्मचारियों के लिए एक बड़ी खुशखबरी लेकर आ रही है। कैबिनेट ने 1 जनवरी 2022 से प्रभावी केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के लिए महंगाई भत्ते को 31 प्रतिशत से बढ़ाकर 34 प्रतिशत करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। इससे केंद्र कर्मचारियों का DA 9 महीने में बढ़कर दोगुना हो गया है। केंद्रीय कर्मचारियों को DA 34% के हिसाब से मिलेगा।

महंगाई भत्ते में 3 फीसदी की बढ़ोतरी के बाद केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में बंपर वृद्धि का रास्ता साफ हो गया है. इस माह के वेतन में वृद्धि होगी, साथ ही तीन माह (जनवरी, फरवरी व मार्च) का बकाया भी मई में आएगा। इतना ही नहीं डीए में बढ़ोतरी के बाद अब केंद्रीय कर्मचारियों के अन्य भत्तों में भी काफी वृद्धि होने की संभावना है।

7th Pay Commission
7th Pay Commission

डीए बढ़ने के साथ यात्रा भत्ता और शहर भत्ता भी बढ़ेगा। साथ ही भविष्य निधि और ग्रेच्युटी भी अपने आप बढ़ जाएगी। दरअसल केंद्रीय कर्मचारियों के मासिक पीएफ और ग्रेच्युटी की गणना मूल वेतन और डीए से की जाती है. ऐसे में डीए बढ़ने से पीएफ और ग्रेच्युटी में भी इजाफा होना तय है।

इतना ही नहीं, डीए बढ़ने से केंद्रीय कर्मचारियों का हाउस रेंट अलाउंस (एचआरए) और ट्रैवल अलाउंस (टीए) भी बढ़ जाएगा। बताया जा रहा है कि यह बढ़ोतरी 3 प्रतिशत तक हो सकती है।

आपको बता दें कि 30 मार्च को केंद्र सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते (DA) में 3 फीसदी की बढ़ोतरी की थी. इससे केंद्रीय कर्मचारियों का डीए 9 माह में दोगुना हो गया है। केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को अब 34 प्रतिशत की दर से डीए और डीआर मिलेगा। इस ऐलान से 50 लाख कर्मचारियों और 65 लाख पेंशनभोगियों को फायदा होगा. हालांकि इससे सरकार पर सालाना 9544.50 करोड़ रुपये का बोझ बढ़ जाएगा।

इस बीच केंद्रीय कर्मचारी संगठन लगातार सरकार पर बकाया राशि के लिए दबाव बना रहा है। इन लोगों का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला है कि वेतन और भत्ता कर्मचारियों का अधिकार है और इसे रोका नहीं जा सकता है। ऐसे में जनवरी 2020 से जून 2021 तक के बकाया डीए का भुगतान करने का दबाव है

अब तक DA में कितने फीसदी की बढ़त हुई

केंद्रीय कर्मचारियों (Central Government) का DA 31 % से बढ़कर 34 % होने पर 50 लाख कर्मचारियों और 65 लाख पेंशनभोगियों को सीधा फायदा होगा। इससे सरकार के ऊपर हर सलाना 9544.50 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा। पिछले साल केंद्रीय कर्मचारियों का DA 17 % था। इसके बाद सरकार ने जुलाई महीने में DA में 11 फीसदी की बढ़त कर दी थी। इससे केंद्रीय कर्मचारियों का DA 17 % से बढ़कर 28 % प्रतिशत हो गया था। इसके बाद DA में 3 % का इजाफा हुआ। इससे केंद्रीय कर्मचारियों का DA 31 % हो गया। साल 2022 में DA 34 % हो गया है।

DA में 31 फीसदी से 34 फीसदी की हुई बढ़त

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने इस साल 1 जनवरी से प्रभावी केंद्र सरकार के कर्मचारियों को महंगाई भत्ते (DA) और पेंशनभोगियों को महंगाई राहत (DR) की अतिरिक्त किस्त जारी को मंजूरी दी है। यह कीमतों में वृद्धि भरपाई के लिए मूल वेतन पेंशन के मौजूदा 31% की दर से 3% की वृद्धि दर्शाता है।

राजकोष पर प्रभाव 9,544.50 करोड़ रुपये होगा

कैबिनेट अधिसूचना में कहा गया है कि सातवें वेतन आयोग (7th Pay Commission) मैट्रिक्स के अनुसार प्राप्त वेतन है और इसमें विशेष वेतन जैसे किसी अन्य प्रकार का वेतन शामिल नहीं है। महंगाई भत्ते और महंगाई राहत दोनों के कारण राजकोष पर संयुक्त प्रभाव प्रति वर्ष 9,544.50 करोड़ रुपये होगा। इससे करीब 47.68 लाख केंद्र सरकार के कर्मचारियों और 68.62 लाख पेंशनभोगियों को फायदा होगा। यह असैन्य कर्मचारियों और रक्षा सेवाओं में कार्यरत लोगों के लिए लागू होगा।

close button