7th pay commission: कर्मचारियों की 20,000 से 70,000 तक बढ़ेगी Salary, जानिए कैसे?

7th pay commission latest news: महंगाई भत्ते (dearness allowance) और बकाया (arrears) का लाभ मिलने के बाद अब केंद्र सरकार के कर्मचारियों को फिर से 3 बड़ी खबर मिल सकती है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक डीए के बाद अब कर्मचारियों के फिटमेंट फैक्टर (fitment factor), हाउस रेंट अलाउंस (house rent allowance) और ट्रैवल अलाउंस (travel allowance) में बढ़ोतरी हो सकती है. अगर ऐसा होता है तो कर्मचारियों के वेतन में करीब 20000 से 70 हजार का लाभ होगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक महंगाई भत्ता के बाद एचआरए (House Rent Allowance-HRA) और टीए अलाउंस (TA allowance ) में तीन फीसदी की बढ़ोतरी की जा सकती है. वर्तमान में केंद्रीय कर्मचारियों को 27%, 18% और 9% की दर से HRA मिल रहा है, संभावना है कि इसे फिर से 3% तक बढ़ाया जा सकता है, जिसके बाद HRA की अधिकतम दर 27% से बढ़कर 30% हो जाएगी, हालांकि, ऐसा तब होगा जब डीए 50 फीसदी के पार हो जाएगा। अब चूंकि महंगाई भत्ता 34 फीसदी हो गया है, ऐसे में HRA को फिर से बढ़ाया जा सकता है।

7th pay commission
7th pay commission

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक्स कैटेगरी के कर्मचारियों के लिए एचआरए में 3 फीसदी, वाई कैटेगरी के कर्मचारियों के लिए 2 फीसदी और जेड कैटेगरी के कर्मचारियों के लिए 1 फीसदी की बढ़ोतरी की जा सकती है। वर्तमान में X श्रेणी के कर्मचारियों को मूल वेतन का 27 प्रतिशत, Y श्रेणी के कर्मचारियों को HRA को 18 से 20 प्रतिशत और Z श्रेणी के कर्मचारियों को 9 से 10 प्रतिशत की दर से HRA मिलता है। ये दरें क्षेत्र और शहर के अनुसार अलग-अलग हैं, वर्तमान में सभी तीन श्रेणियों के लिए न्यूनतम एचआरए 5400, 3600 और 1800 रुपये है। एचआरए 56900 रुपये x 27/100 = 15363 रुपये प्रति माह है, तो 30% एचआरए होने पर 56,900 रुपये होगा। x 30/100 = 17070 रुपये प्रति माह यानी कुल अंतर: 1707 रुपये प्रति माह। सालाना एचआरए 20,484 रुपये बढ़ेगा।

Fitment factor हो सकता है 3.68 फीसदी

केंद्रीय कर्मचारियों को महंगाई भत्ते का तोहफा मिलने के बाद अब जल्द ही फिटमेंट फैक्टर का भी उपहार मिल सकता है, जिससे मूल वेतन में इजाफा होगा। है। केंद्रीय कर्मचारी फिटमेंट फैक्टर को 3.68 गुना 2.57 गुना से बढ़ाकर 3.68 गुना करने की मांग कर रहे हैं, ऐसे में माना जा रहा है कि Modi government भी जल्द फिटमेंट फैक्टर पर विचार कर सकती है। यदि fitment factorबढ़ता है तो मूल वेतन सीधे 18000 से बढ़कर 26000 हो जाएगा। 52 लाख कर्मचारियों को इसका लाभ मिलेगा।

पिछली बार वर्ष 2016 में फिटमेंट फैक्टर बढ़ाया गया था और इसमें लगभग 12000 की वृद्धि की गई थी। 7th Pay Commission भी उसी वर्ष लागू किया गया था, उस समय कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन सीधे 6000 रुपये से बढ़कर रु 18,000, इसलिए DA 34% होने पर इसके बढ़ने की संभावना भी बढ़ गई है। कर्मचारी के मूल वेतन की गणना 7th pay commission के fitment factor को 2.57 से गुणा करके की जाती है। फिटमेंट फैक्टर को 2.57 गुना से बढ़ाकर 3.68 गुना कर दिया जाए तो मूल वेतन में 8000 का फायदा होगा। यदि फिटमेंट फैक्टर बढ़ा दिया जाता है तो भत्तों को छोड़कर उसका वेतन 18,000 X 2.57 = 46,260 रुपये का लाभ होगा। 3.68 होने पर सैलरी 95,680 रुपये (26000X3.68 = 95,680) यानी 49,420 रुपये सैलरी में मिलेगी

TA में भी होगी वृद्धि

इसके अलावा Provident Fund और Gratuity के साथ ट्रैवल अलाउंस (Travel Allowance) में भी बढ़ोतरी की जा सकती है। टीपीटीए शहरों में लेवल 1-2 के लिए टीपीटीए 1350 रुपये, लेवल 3-8 कर्मचारियों के लिए 3600 रुपये और लेवल 9 के लिए 7200 रुपये है। उच्च परिवहन भत्ता (transport allowance) वाले शहरों के लिए लेवल 9 और उससे अधिक के लिए 7,200 रुपये दिए जाते हैं। अन्य शहरों के लिए टीए भत्ता 3,600 रुपये और डीए, स्तर 3 से 8 कर्मचारियों को 3,600 प्लस डीए और 1,800 प्लस डीए 1 और 2 के साथ प्रथम श्रेणी के शहरों के लिए 1,350 रुपये प्लस डीए मिलता है, जबकि अन्य शहरों को 900 रुपये प्लस डीए मिलता है।

close button