7th pay commission: महंगाई भत्ता 38%?, वेतन में 27000 की बढ़ोतरी

7th pay commission: केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए खुशखबरी है। एक बार फिर कर्मचारियों के dearness allowance में इजाफा होने जा रहा है। अंत तक यह महंगाई भत्ता 37 फीसदी या 38 फीसदी तक पहुंच सकता है. इससे 1 करोड़ employees-pensioners को फायदा होगा और वेतन 27000 तक बढ़ जाएगा। दरअसल, केंद्र सरकार central government के dearness allowance को साल में दो बार बढ़ाती है। इसमें पहली बढ़ोतरी जनवरी से जून और दूसरी जुलाई से दिसंबर के बीच की जाती है, जो AICPI indexके आंकड़ों पर निर्भर करती है.

इसके बाद यह संख्या 126 पर पहुंच गई है, ऐसे में माना जा रहा है कि एक बार फिर DA बढ़ जाएगा। हालांकि अभी AICPI figures for April, May and June आने बाकी हैं, जिसके बाद केंद्र सरकार जुलाई में इसकी समीक्षा करेगी और अंतिम फैसला करेगी। इसका फायदा 50 लाख केंद्रीय कर्मचारियों और 65 लाख पेंशनभोगियों को मिलेगा।

government employees के रहन-सहन की स्थिति में सुधार के लिए mahangayi bhatta दिया जाता है। यह सरकारी कर्मचारियों, सार्वजनिक क्षेत्र के कर्मचारियों और पेंशनरों को दिया जाता है। देने का कारण यह है कि बढ़ती महंगाई में भी कर्मचारियों के जीवन स्तर को बनाए रखा जाए।

7th pay commission

7th pay commission: महंगाई भत्ता 38%?

मौजूदा समय में कर्मचारियों को 34 फीसदी महंगाई भत्ता मिल रहा है और अब इसमें 3-4 फीसदी की बढ़ोतरी हुई तो यह 37 फीसदी या 38 फीसदी को पार कर जाएगा और वेतन में 25000 से ज्यादा की उछाल आएगी. 34% DA के साथ वेतन में 20000 की वृद्धि हुई और 37 प्रतिशत होने पर लगभग 27000 की वृद्धि होगी। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यदि कर्मचारियों का मूल वेतन 56,900 रुपये है, तो उन्हें 21,622 रुपये मिलेंगे। 38 फीसदी महंगाई भत्ते पर डीए और वेतन में 2,276 रुपये प्रति माह की बढ़ोतरी होगी यानी सालाना वेतन में 27,312 रुपये की बढ़ोतरी होगी. इसी तरह 18000 लोगों को भी 10000 तक मिलेगा

इस तरह तय होता है dearness allowance

केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के लिए एक बार फिर अच्छी खबर आ रही है। हालांकि इसके लिए उन्हें दो से तीन महीने इंतजार करना होगा। केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के महंगाई भत्ते और महंगाई राहत में इस बार फिर से 4 फीसदी तक की बढ़ोतरी होने की उम्मीद है.

दरअसल, अखिल भारतीय उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (AICPI) ने मार्च महीने के जारी आंकड़ों में एक अंक की बढ़ोतरी दर्ज की है, ऐसे में माना जा रहा है कि महंगाई भत्ते में एक बार फिर से इजाफा होगा। जुलाई-अगस्त में कर्मचारियों के महंगाई भत्ते (Dearness Allowance (DA)) महंगाई राहत (Dearness Relief (DR)) में 4 फीसदी तक की बढ़ोतरी होने की उम्मीद है. अगर ऐसा होता है तो कर्मचारियों और पेंशनभोगियों का डीए और डीआर 34 से बढ़कर 38 प्रतिशत हो जाएगा।

आपको बता दें कि कर्मचारियों के भत्तों की गणनाAll India Consumer Price Index से inflation की तुलना में की जाती है, श्रम मंत्रालय इन आंकड़ों को एकत्र करता है और फिर नंबर जारी करता है, जिसके आधार पर डीए बढ़ाया जाता है। AICPI के श्रम एवं रोजगार मंत्रालय द्वारा हाल ही में जारी किए गए नंबर देश के 88 औद्योगिक रूप से महत्वपूर्ण केंद्रों में स्थित 317 बाजारों से एकत्रित खुदरा कीमतों के आधार पर जारी किए गए हैं। मार्च में सिंगल डिजिट की बढ़ोतरी कर्मचारियों के लिए बहुत अच्छा संकेत है, ऐसे में महंगाई भत्ता (नेक्स्ट डीए हाइक) जुलाई में 3% से बढ़कर 4% होने की संभावना है

महंगाई भत्ते में 4 फीसदी की बढ़ोतरी की उम्मीद

अगर जुलाई में DA और DR में संशोधन होता है तो इसमें फिर से 4 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है. लगातार दो महीने के आंकड़ों में गिरावट के बाद मार्च 2022 में एआईसीपीआई इंडेक्स में 1 अंक का उछाल देखा गया है। यही वजह है कि डीए बढ़ने की उम्मीद जग गई है। हालांकि अभी अप्रैल, मई और जून के नंबर आने बाकी हैं, जिसके बाद ही अंतिम फैसला लिया जाएगा।

इसी तरह महंगाई भत्ता 38 प्रतिशत होने के बाद 18 हजार मूल वेतन वाले कर्मचारियों को 6,840 रुपये डीए मिलेगा. इन कर्मचारियों को अभी 34 फीसदी डीए की दर से 6,120 रुपये मिल रहे हैं। यानी उनके मासिक वेतन में 720 रुपये की बढ़ोतरी होगी। इस तरह सालाना वेतन 8,640 रुपये बढ़ जाएगा।

close button