Notifications
×
Subscribe
Unsubscribe

7th Pay Commission: बढ़ सकती है न्यूनतम सैलरी [26,000 रुपये]

7th Pay Commission: Central government employees काफी समय से फिटमेंट फैक्टर बढ़ाने की मांग कर रहे थे। दो दिन में कोई अच्छी खबर सुनने को मिल सकती है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बुधवार को होने वाली कैबिनेट मीटिंग में फिटमेंट फैक्टर पर चर्चा हो सकती है. अगर मोदी सरकार अपनी हरी झंडी देती है तो 18,000 रुपये मूल वेतन पाने वाले कर्मचारियों का न्यूनतम मूल वेतन 26,000 रुपये होगा

वर्तमान में कर्मचारियों को fitment factor के तहत 2.57 प्रतिशत के आधार पर वेतन मिल रहा है, जिसे बढ़ाकर 3.68 प्रतिशत किया जाता है, तो कर्मचारियों के न्यूनतम वेतन में 8,000 रुपये की वृद्धि होगी। इसका मतलब है कि central government employees का न्यूनतम वेतन 18,000 रुपये से बढ़ाकर 26,000 रुपये कर दिया जाएगा।

7th Pay Commission

इतनी बढ़ जाएगी कर्मचारियों की सैलरी

वर्तमान में कर्मचारियों को fitment factor के तहत 2.57 percent के आधार पर salary मिल रहा है, जिसे बढ़ाकर 3.68 percent किया जाता है, तो कर्मचारियों के minimum salary में 8,000 रुपये की वृद्धि होगी। इसका मतलब है कि central government employees minimum salary 18,000 रुपये से बढ़ाकर 26,000 रुपये कर दिया जाएगा।

फिटमेंट फैक्टर को बढ़ाकर 3.68 करने पर कर्मचारियों का मूल वेतन 26,000 रुपये होगा। अभी अगर आपका न्यूनतम वेतन 18,000 रुपये है, तो भत्ते को छोड़कर, आपको 2.57 फिटमेंट फैक्टर के अनुसार 46,260 रुपये (18,000 X 2.57 = 46,260) मिलेगा। अब अगर फिटमेंट फैक्टर 3.68 है तो आपका वेतन 95,680 रुपये (26000X3.68 = 95,680) होगा।

पहले ये थी बेसिक सैलरी

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने जून 2017 में 34 संशोधनों के साथ Seventh Pay Commission की सिफारिशों को मंजूरी दी थी। प्रवेश स्तर का मूल वेतन 7,000 रुपये प्रति माह से बढ़ाकर 18,000 रुपये किया गया, जबकि उच्चतम स्तर यानी सचिव को 90,000 रुपये से बढ़ाकर 2.5 लाख रुपये किया गया। कक्षा 1 के अधिकारियों के लिए शुरुआती वेतन 56,100 रुपये था।

फिटमेंट फैक्टर पर बड़ा अपडेट सामने आया है। ताजा मीडिया रिपोर्ट्स: बुधवार को पीएम मोदी की अध्यक्षता में होने वाली कैबिनेट की बैठक में फिटमेंट फैक्टर पर फैसला हो सकता है. यदि ऐसा होता है तो केंद्रीय कर्मचारियों के न्यूनतम मूल वेतन के लिए मूल वेतन 18 हजार रुपये के बजाय 26 हजार रुपये होगा

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 7th Pay Commission में बनाया गया Pay matrix Fitment factor पर आधारित है. Seventh Pay Commission की सिफारिशों को संशोधनों के साथ मंजूरी मिलने के बाद प्रवेश स्तर के मूल वेतन को 7,000 रुपये प्रति माह से बढ़ाकर 18,000 रुपये प्रति माह किया गया, जबकि उच्चतम स्तर यानी सचिव को 90,000 रुपये से बढ़ाकर 2.5 लाख रुपये कर दिया गया। इससे पहले 2016 में फिटमेंट फैक्टर बढ़ाया गया था और न्यूनतम मूल वेतन 6,000 रुपये से बढ़ाकर 18,000 रुपये किया गया था।

Salary Calculation

  • कर्मचारी के मूल वेतन की गणना 7th pay commission fitment factor को 2.57 से गुणा करके की जाती है।
  • fitment factor बढ़ने से minimum wage में भी इजाफा होगा। वर्तमान में employees को fitment factor के तहत 2.57 प्रतिशत fitment factor के आधार पर salary मिल रहा है।
  • अगर fitment factor3.68 फीसदी है तो कर्मचारियों के minimum salary में 8 हजार रुपये की बढ़ोतरी होगी, यानी अब तक मिलने वाला salary 18000 रुपये बढ़कर 26000 रुपये हो जाएगा.
  • उदाहरण के लिए, यदि एक central employee का basic salary 18,000 रुपये है, तो भत्ते को छोड़कर उसका वेतन 18,000 रुपये x 2.57 = 46,260 रुपये का लाभ होगा।
  • 3.68 होने पर salary 95,680 रुपये (26000X3.68 = 95,680) यानी 49,420 रुपये salary में मिलेगी. अगर इसे बढ़ाकर 3 कर दिया जाए तो basic salary 21000 रुपये होगा।
close button