Notifications
×
Subscribe
Unsubscribe

7th Pay Commission Salary Update News: DA पर इस महीने बड़ा ऐलान, नए वेतन की गणना करें

7th Pay Commission: आने वाले दो महीने केंद्रीय कर्मचारियों (central employees) के लिए बहुत अच्छे रहने वाले हैं। जल्द ही उनके अगले महंगाई भत्ते (Next DA Hike) का इंतजार खत्म होगा। इस महीने में पता चलेगा कि कितना dearness allowance बढ़ा है। लेकिन, उससे पहले एक बड़ा अपडेट आया है, उपभोक्ता महंगाई के आंकड़े (AICPI Index Numbers) अप्रैल में सामने आए हैं। इसमें बड़ी वृद्धि हुई है। इससे पता चलता है कि आने वाले दिनों में केंद्रीय कर्मियों को DA में बड़ा उछाल देखने को मिलेगा, यह (DA Hike) बढ़ोतरी 3 या 4 फीसदी नहीं बल्कि पूरे 5 से 6 फीसदी तक की हो सकती है।

केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता (dearness allowance of central employees) उपभोक्ता महंगाई यानी All India Consumer Price Index पर निर्भर करता है। यदि यह आंकड़ा लगातार बढ़ता है तो महंगाई भत्ता भी इसी क्रम में बढ़ता है। इस साल की पहली छमाही के उपभोक्ता महंगाई के आंकड़े चार महीने के लिए आए हैं। इसमें जनवरी-फरवरी में मामूली गिरावट के बाद मार्च और अप्रैल में अच्छी बढ़ोतरी हुई है।

मार्च में सूचकांक 1 अंक चढ़ा था। वहीं, अप्रैल में इसमें बड़ा उछाल देखने को मिला। अप्रैल में AICPI index 127.7 अंक पर था। यह तय है कि आने वाले दिनों में महंगाई भत्ते में 5 से 6 % की दर से बढ़ोतरी हो सकती है। CPI(IW) Base 2016=100 मासिक सूचकांक पत्र: अप्रैल 2022 में 1.7 अंकों की वृद्धि हुई है। अप्रैल में इंडेक्स की कुल संख्या 127.7 रही। मुद्रास्फीति सूचकांक (Inflation index) मार्च में 126 पर था। फरवरी के बाद से इंडेक्स में 2.7 अंक की तेजी आई है। बढ़ती महंगाई के चलते मई और जून में भी इंडेक्स में तेजी बनी है । इससे महंगाई भत्ते (DA Hike News) में अच्छी बढ़ोतरी हुई है। जाहिर है कि इसमें बढ़ोतरी से केंद्रीय कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ता (DA Hike) भी बढ़ जाएगा।

7th Pay Commission

5% की आधार पर सैलरी (39% DA)

यदि महंगाई भत्ते (Dearness Allowance) में 5 प्रतिशत की वृद्धि की जाती है, तो केंद्रीय कर्मचारियों का कुल महंगाई भत्ता 39 प्रतिशत तक पहुंच जाएगा। अभी 34 प्रतिशत की दर से महंगाई भत्ता दिया जा रहा है। अगस्त 2022 में इसकी घोषणा की जाएगी। मई का आंकड़ा जून के अंत में और जून का आंकड़ा जुलाई के अंत में जारी किया जाएगा। इसके बाद ही केंद्र सरकार महंगाई भत्ते पर कोई फैसला लेगी। हालांकि, इसकी गणना जुलाई 2022 से ही की जाएगी। अगर महंगाई भत्ते में 5 फीसदी की बढ़ोतरी होती है तो वेतन में बड़ा अंतर आएगा

अगर हम न्यूनतम मूल वेतन 18,000 रुपये पर देखें तो 39 प्रतिशत की दर से वार्षिक महंगाई भत्ते में कुल वृद्धि 7020 रुपये होगी। यानी मौजूदा महंगाई भत्ते के मुकाबले हर महीने 900 रुपये की बढ़ोतरी होगी। कुल मिलाकर 18000 रुपए के मूल वेतन वाले केंद्रीय कर्मचारियों (Central Employees) को सालाना 84,240 रुपए का महंगाई भत्ता दिया जाएगा। वहीं, अधिकतम मूल वेतन 56900 रुपये पर नजर डालें तो वार्षिक महंगाई भत्ते में कुल वृद्धि 22191 रुपये होगी। यानी मौजूदा महंगाई भत्ते के मुकाबले हर महीने 1233 रुपये की बढ़ोतरी होगी।

केंद्र सरकार के कर्मचारियों को जल्द ही नया अपडेट मिलेगा। जुलाई के अंत में महंगाई भत्ते ( dearness allowance DA) में कितनी बढ़ोतरी होगी, इसका पता चलेगा । Central employees को अभी 34 फीसदी डीए का पैसा मिल रहा है। लेकिन, अगले भत्तों में संशोधन किया जाना है। मौजूदा रुझान के मुताबिक महंगाई भत्ते में 5 से 6 फीसदी की बढ़ोतरी की संभावना है। अगस्त 2022 में इसकी घोषणा की जा सकती है।

7th Pay Commission के मुताबिक केंद्र सरकार के कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में साल में दो बार संशोधन होता है। इसकी घोषणा वर्ष की शुरुआत में एक बार (जनवरी में) और दूसरी छमाही की शुरुआत में की जाती है। साल 2022 के लिए पहले डीए की घोषणा की गई है। इसे बढ़ाकर 34% कर दिया गया था।

मौजूदा समय में उपभोक्ता महंगाई लगातार बढ़ती जा रही है। ऐसे में महंगाई भत्ते में अच्छी वृद्धि होने की उम्मीद है। अप्रैल में आए AICPI Index में 1% की तेजी आई थी। महंगाई भत्ते में वृद्धि की संभावना बहुत अधिक है।

DA Hike News: 6% DA hike in July?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, Dearness Allowance (DA) में बढ़ोतरी की घोषणा का इंतजार कर रहे लाखों केंद्र सरकार के कर्मचारियों को जुलाई के अंत तक डीए में उम्मीद से ज्यादा बढ़ोतरी मिल सकती है। इस उज्ज्वल आशा के पीछे का कारण हाल ही में All-India CPI-IW data है। AICP Index, मई महीने के लिए DA निर्धारित करने में महत्वपूर्ण कारक, केंद्र सरकार के डीए में वृद्धि (DA hike) की संभावना को इंगित करता है। जुलाई माह में सरकार कर्मचारियों के लिए कुछ और खुशखबरी लेकर आ सकती है।

अब ताजा मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो जुलाई महीने में महंगाई भत्ते में छह फीसदी की बढ़ोतरी ( 6 percent hike in Dearness Allowance in July) हो सकती है. इसका मतलब है कि कुल डीए 40 फीसदी (DA 40% )तक पहुंच सकता है.

केंद्र सरकार के कर्मचारियों ( central government employees ) का Dearness Allowance साल में दो बार संशोधित होता है। पहला जनवरी से जून के बीच दिया जाता है, जबकि दूसरा जुलाई से दिसंबर के बीच दिया जाता है।

All-India CPI-IW for April, 2022 में 1.7 अंक की वृद्धि हुई और यह 127.7 पर रहा। श्रम और रोजगार मंत्रालय के आंकड़ों से पता चलता है कि 1 महीने के प्रतिशत परिवर्तन पर, पिछले महीने की तुलना में इसमें 1.35 प्रतिशत की वृद्धि हुई, जबकि एक साल पहले इसी महीने में 0.42 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई थी। मंत्रालय की नवीनतम रिपोर्टों के अनुसार, मई के लिए AICPI figures 129 पर हैं, जो निश्चित रूप से संकेत दे रहा है कि DA अपेक्षा से अधिक होगा, यानी 6 प्रतिशत, कई मीडिया वेबसाइट कह रहे हैं।

न्यूनतम वेतन बढ़ाकर 26,000 रुपये किए जाने की संभावना

केंद्र सरकार के कर्मचारियों को फिटनेस फैक्टर में वृद्धि की लंबे समय से चली आ रही मांग से जुड़ी अच्छी खबर सुनने को मिल सकती है। कैबिनेट बैठक के दौरान इस मुद्दे पर चर्चा की जा सकती है, यह कई समाचार आउटलेट्स द्वारा बताया गया था।

फिटमेंट फैक्टर में वृद्धि के परिणामस्वरूप केंद्र सरकार के कर्मचारियों के वेतन में भी काफी वृद्धि होगी। न्यूनतम वेतन को 18,000 रुपये से बढ़ाकर 26,000 रुपये करने की मांग की गई है। Fitment factor पर, मांग 2.57 गुना से बढ़ाकर 3.68 गुना करने की मांग की गई है।

केंद्र सरकार की ओर से फिटमेंट फैक्टर बढ़ाने (Fitment Factor Hike News) की घोषणा से केंद्र सरकार के कर्मचारियों के वेतन में भी इजाफा होगा। फिटनेस कारक में 3.68 प्रतिशत की वृद्धि से न्यूनतम वेतन में 8,000 की वृद्धि होगी, यह बताया गया था

फिटमेंट फैक्टर में बढ़ोतरी के लिए वेतन गणना

फिटमेंट फैक्टर में 3.68 गुना बढ़ोतरी से मूल वेतन में 26,000 रुपये की वृद्धि होगी। वर्तमान न्यूनतम वेतन 18,000 रुपये के साथ, कर्मचारियों को भत्ते को छोड़कर, वर्तमान फिटमेंट फैक्टर पर 46,260 रुपये (मूल वेतन का 2.57 गुना) मिलेगा।

फिटमेंट फैक्टर को बढ़ाकर 3.68 गुना करने पर वेतन 95,680 रुपये (3.65 x 26,000) हो जाएगा। 7th pay commission की सिफारिशों को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने जून 2017 में 34 संशोधनों के साथ अनुमोदित किया था। नए वेतनमानों में, प्रवेश स्तर के बेसिक को 7,000 रुपये मासिक से बढ़ाकर 18,000 रुपये कर दिया गया है। उच्चतम वेतनमान (सचिव स्तर) पर, वेतन में 90,000 रुपये से 2.5 लाख रुपये की वृद्धि देखी गई।

What is DA?

केंद्र और राज्य सरकार के कर्मचारियों के जीवन स्तर में सुधार करने के लिए उन्हें महंगाई भत्ता दिया जाता है। यह भत्ता वेतन संरचना का एक हिस्सा है, इसलिए महंगाई बढ़ने के बाद भी कर्मचारी के जीवन स्तर में कोई अंतर नहीं होना चाहिए। सरकारी कर्मचारियों, सार्वजनिक क्षेत्र के कर्मचारियों को डीए और पेंशनरों को महंगाई राहत दी जाती है।

7th Pay Commission: नया फॉर्मूला

श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने महंगाई भत्ते को लेकर गणना के फार्मूले में बदलाव किया है। मंत्रालय ने डीए कैलकुलेशन (DA Calculation) के लिए बेस ईयर 2016 में बदलाव किया है। वेतन दर सूचकांक (WRI-वेतन दर सूचकांक) की एक नई श्रृंखला जारी की गई है। श्रम मंत्रालय ने कहा कि आधार वर्ष 2016=100 के साथ WRI की नई श्रृंखला आधार वर्ष 1963-65 की पुरानी श्रृंखला को प्रतिस्थापित करेगी।

महंगाई भत्ता कैसे तय होगा?

महंगाई भत्ते की राशि 7th pay commission के डीए की मौजूदा दर को मूल वेतन से गुणा करके निकाली जाती है। प्रतिशत की वर्तमान दर 12% है, यदि आपका मूल वेतन 56,900 डीए (56,900 x12)/100 रुपये है। मंहगाई भत्ते का प्रतिशत = पिछले 12 महीनों के सीपीआई का औसत – 115.76। अब जो रकम आएगी उसे 115.76 से विभाजित किया जाएगा। आने वाले अंक को 100 से गुणा किया जाएगा।

7th Pay CPC Salary Calculation

7वें वेतन आयोग के तहत वेतन की गणना के लिए डीए की गणना (Calculation of DA) कर्मचारी के मूल वेतन पर की जाती है। मान लीजिए एक केंद्रीय कर्मचारी का न्यूनतम मूल वेतन 25,000 रुपये है, तो उसका डीए 25000 का 34 फीसदी होगा। 25,000 रुपये का 34% यानी टोटल 8500 रुपये होगा। यह एक उदाहरण है। इसी तरह बाकी सैलरी स्ट्रक्चर वाले लोग भी अपनी बेसिक सैलरी के हिसाब से इसकी गणना कर सकते हैं।

डीए पर कर (tax on DA)

महंगाई भत्ता पूरी तरह टैक्सेबल है। भारत में इनकम टैक्स नियमों के तहत इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) में महंगाई भत्ते के बारे में अलग से जानकारी देनी होती है। यानी महंगाई भत्ते के नाम पर मिलने वाली राशि पर टैक्स लगता है और उस पर टैक्स देना होगा।

डीए के प्रकार (Types of DA)

महंगाई भत्ता दो प्रकार का होता है। पहला औद्योगिक महंगाई भत्ता और दूसरा परिवर्तनशील महंगाई भत्ता। औद्योगिक महंगाई भत्ता हर तीन महीने में संशोधित होता है। ये केंद्र सरकार के पब्लिक सेक्टर में काम करने वाले कर्मचारियों के लिए है। उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI ) के आधार पर इसकी गणना की जाती है। परिवर्तनीय महंगाई भत्ता हर 6 महीने में संशोधित होता है। परिवर्तनीय महंगाई भत्ते की गणना भी CPI के आधार पर की जाती है।

7th Pay CommissionClick Here
Home PageClick Here
close button