7th Pay Commission: इन आंकड़ों ने किया साफ़, DA में 5% बढ़त होने पर सैलरी?

7th Pay Commission: आखिरकार केंद्रीय कर्मचारियों के लिए खुशखबरी आ ही गई है, जिसका उन्हें इंतजार था। 1 जुलाई से केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता (Dearness allowance of central employees) बढ़ने जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सरकार 1 जुलाई से महंगाई भत्ते (DA Hike) में 5 फीसदी की बढ़ोतरी कर सकती है। आइए जानते हैं कि वेतन में कितनी बढ़ोतरी होगी।

सरकारी कर्मचारियों के जीवन स्तर में सुधार के लिए उन्हें महंगाई भत्ता दिया जाता है। यह सरकारी कर्मचारियों, सार्वजनिक क्षेत्र के कर्मचारियों और पेंशनरों को दिया जाता है। यह देने का कारण यह है कि बढ़ती महंगाई में भी कर्मचारियों के जीवन स्तर को बनाए रखा जाए।

दरअसल, DA में बढ़ोतरी AICPI के आंकड़ों पर निर्भर करती है। मार्च 2022 में AICPI index में उछाल आया था, जिसके बाद यह तय है कि सरकार महंगाई भत्ते (DA) को 3 नहीं, 5 फीसदी बढ़ा सकती है. अगर इस पर मुहर लगती है तो employees का DA 34 फीसदी से बढ़कर 39 फीसदी हो जाएगा, अगर ऐसा होता है तो केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में 27 हजार से ज्यादा की बढ़ोतरी हो सकती है।

7th Pay Commission

अप्रैल 2022 के लिए AICPI data जारी

दरअसल, 7th Pay Commission April 2022 के All India Consumer Price Index यानी कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (AICPI) का डेटा आ गया है, इसने 1.7 अंक की बढ़त दर्ज की है। अप्रैल में AICPI 127.7 पर था, जबकि मार्च में यह 126 था।

AICPI के आंकड़ों पर नजर डालें तो फरवरी से अब तक इन 2.7 अंकों में इजाफा हुआ है। इन नंबरों के आधार पर महंगाई भत्ता तय किया जाता है। ऐसे में इसे बढ़ाने पर महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी हो जाती है

इन आंकड़ों ने किया साफ़: AICPI index चेक करें

इस साल जनवरी और फरवरी के महीनों में AICPI इंडेक्स में गिरावट आई थी, लेकिन उसके बाद AICPI के आंकड़े बढ़ते जा रहे हैं। जनवरी में 125.1, फरवरी में 125 और मार्च में एक अंक बढ़कर 126 पर पहुंच गया। अब अप्रैल के आंकड़े भी सामने आए हैं. अप्रैल के आंकड़ों के मुताबिक AICPI index गिरकर 127.7 पर आ गया है. इसमें 1.35 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है, यानी अब मई और जून के आंकड़े अगर 127 के पार जाते हैं तो 5 फीसदी तक बढ़ सकते हैं

DA, 39 प्रतिशत होने पर कितनी बढ़ेगी सैलरी?

अगर सरकार डीए में 5 फीसदी की बढ़ोतरी करती है तो केंद्रीय कर्मचारियों का डीए 34 फीसदी से बढ़कर 39 फीसदी हो जाएगा. अब यहां देखते हैं कि अधिकतम और न्यूनतम मूल वेतन में कितनी बढ़ोतरी होगी.

अधिकतम मूल वेतन पर कैलकुलेशन

  1. कर्मचारी का मूल वेतन रु 56,900
  2. नया मंहगाई भत्ता (39%) रु.22,191/माह
  3. अभी तक महंगाई भत्ता (34%) रु.19,346/माह
  4. मंहगाई भत्ते में कितनी वृद्धि हुई 21,622-19,346 = 2,845 रुपये/माह
  5. सालाना वेतन में बढ़ोतरी 2,845X12 = 34,140 रुपये

न्यूनतम मूल वेतन पर कैलकुलेशन

  1. कर्मचारी का मूल वेतन रुपये 18,000
  2. नया मंहगाई भत्ता (39%) रु.7,020/माह
  3. अभी तक महंगाई भत्ता (34%) रु.6120/माह
  4. कितना बढ़ा महंगाई भत्ता 7020-6120 = 900 रुपये प्रति माह
  5. सालाना वेतन में वृद्धि 900 X12 = 10,800 रुपये

अभी कर्मचारियों को मिल रहा है 34 प्रतिशत डीए

बता दें कि फिलहाल केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को 34 प्रतिशत की दर से dearness allowance औरdearness relief दी जा रही है. इसे साल में दो बार (January and July) में रिवाइज किया जाता है। जनवरी 2022 में महंगाई भत्ते में 3 प्रतिशत की वृद्धि की गई। अब जिस तरह से AICPI index बढ़ रहा है, वह महंगाई भत्ते में कम से कम 4 फीसदी की बढ़ोतरी के संकेत दे रहा है

DA, 38 प्रतिशत होने पर सैलरी

जिन कर्मचारियों का मूल वेतन 56,900 रुपये है, उन्हें 38 प्रतिशत महंगाई भत्ता मिलने पर डीए के रूप में 21,622 रुपये मिलेंगे। चूंकि 34 प्रतिशत डीए के अनुसार ऐसे कर्मचारियों को वर्तमान में 19,346 रुपये मिल रहे हैं, तो उनके मासिक वेतन में 2,276 रुपये का इजाफा होगा। यानी सालाना वेतन में 27,312 रुपये की वृद्धि होगी।

close button