Agneepath Scheme : 24 जून से शुरू अग्निपथ योजना का पहला बैच, जानें पूरी डिटेल

Agneepath Scheme : अग्निपथ योजना (Agneepath Scheme) के विरोध के बीच सेना ने दमकल कर्मियों की भर्ती की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। सेना के शीर्ष अधिकारियों ने रविवार को संयुक्त प्रेस वार्ता की। उसमें बताया गया कि अग्निपथ के पहले बैच के लिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया 24 जून से शुरू होगी। एक महीने बाद 24 जुलाई से ऑनलाइन परीक्षा शुरू होगी। नौसेना भी भर्ती प्रक्रिया के लिए सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय को 25 जून तक विज्ञापन भेजेगी। वायुसेना की तरह नौसेना में भी ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया होगी।

Agneepath Scheme में 40 हजार अग्निशामकों की भर्ती के लिए 83 रैलियां

सेना अग्निपथ योजना (Agneepath Scheme) के तहत लगभग 40,000 अग्निवीरों की भर्ती के लिए 83 रैलियों का आयोजन करेगी। अग्निवीरों का दूसरा जत्था अगले साल फरवरी तक सेना में शामिल किया जाएगा। लगभग 25,000 अग्निवीरों का पहला जत्था दिसंबर में सेना में शामिल होगा। अग्निपथ योजना के तहत भर्ती रैलियां अगस्त, सितंबर और अक्टूबर में पूरे भारत में आयोजित की जाएंगी।

Agneepath Scheme में नौसेना में पुरुषों और महिलाओं दोनों की भर्ती

अग्निपथ योजना (Agneepath Scheme) के तहत पुरुषों और महिलाओं दोनों की भर्ती कर रहे हैं। अग्निवीरों का पहला बैच 21 नवंबर को प्रशिक्षण संस्थानों को रिपोर्ट करना शुरू कर देगा। भारतीय नौसेना जून तक अग्निपथ योजना के तहत भर्ती के विवरण के साथ सामने आएगी।

Agneepath Scheme को लेकर दिसंबर में शामिल होगा पहला बैच

वायु सेना में अग्निवीरों का पहला बैच दिसंबर में शामिल होगा, प्रशिक्षण 30 दिसंबर से शुरू होगा। वायु सेना 24 जून को अग्निपथ योजना के तहत पंजीकरण प्रक्रिया शुरू करेगी, ऑनलाइन परीक्षा प्रक्रिया 24 जुलाई से शुरू होगी। सेवा अग्निवीर की स्थिति वही होगी जो नियमित सैनिकों की होती है।

Agneepath Scheme में एक साल में मिलेंगे 30 पेड लीव्स

आवेदकों को पूर्व निर्धारित मेडिकल टेस्ट से गुजरना होगा। अग्निवीर अन्य वायु सेना कर्मियों को दिए जाने वाले पदकों और पुरस्कारों के लिए भी पात्र होंगे। साथ ही उन्हें एक साल में 30 पेड लीव्स भी मिलेंगी। जबकि चिकित्सा सलाह के अनुसार बीमार अवकाश दिया जाएगा। प्रशिक्षण के दौरान उन्हें सरकारी स्वास्थ्य सेवाएं मिलेंगी।

बीच में सेवा छोड़ने की अनुमति नहीं है

हालांकि, उन्हें विशेष परिस्थितियों को छोड़कर प्रशिक्षण अवधि के बीच में सेवा छोड़ने की अनुमति नहीं दी जाएगी। अग्निपथ योजना के तहत उन्हें सेवा के पहले वर्ष के लिए वेतन के रूप में 30 हजार रुपये मिलेंगे जिसमें से 21 हजार सीधे उनके खाते में और 9000 हजार रुपये अग्निवीर कॉर्प्स फंड में जाएंगे। हर साल बढ़ेगा वेतन प्रशिक्षण के अंतिम वर्ष में अग्निवीर का वेतन 40 हजार रुपये होगा।

चार साल की अवधि के लिए सेना में शामिल हुए

निकट भविष्य में सालाना 1.25 लाख अग्निवीर का चयन किया जाएगा जो वर्तमान में 46,000 है। इस योजना के तहत 17.5 वर्ष से 23 वर्ष की आयु के लोगों को चार साल के कार्यकाल के लिए सेना में शामिल किया जाएगा। इस अवधि के दौरान उन्हें 30,000-40,000 रुपये के मासिक वेतन के साथ-साथ भत्तों का भुगतान किया जाएगा इसके बाद ग्रेच्युटी के बिना अनिवार्य सेवानिवृत्ति और अधिकांश के लिए पेंशन लाभ होगा।

CAPFs और असम राइफल्स में भर्ती के लिए 10% आरक्षण

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (CAPFs) और असम राइफल्स में अग्निवीरों की भर्ती के लिए 10 प्रतिशत रिक्तियों को आरक्षित करने का निर्णय लिया है। गृह मंत्रालय ने आगे घोषणा की है कि वह सीएपीएफ और असम राइफल्स में भर्ती के लिए निर्धारित ऊपरी आयु सीमा से अधिक आयु में तीन साल की छूट देगा। अग्निवीर के पहले बैच के लिए आयु में पांच वर्ष की छूट होगी।

close button