Alert! Cyclone Asani ने पकड़ी रफ्तार, इन राज्यों में जारी हुआ अलर्ट

Cyclone Asani : चक्रवात असानी (Cyclone Asani) कई राज्यों में दस्तक दे चुका है। मौसम विभाग के मुताबिक यह गंभीर चक्रवात मंगलवार को धीरे-धीरे 105 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली आंधी वाली हवाओं को पूर्वी तट के पास पहुंचा दिया है। इस असानी चक्रवात से ओडिशा, आसाम, पश्चिम बंगाल, बिहार जैसे कई राज्यों में इसका असर दिखना शुरू हो गया है।

Cyclone Asani आंध्र प्रदेश के इन राज्यों से शुरू हुआ

आपको बता दें कि असानी चक्रवाती तूफान (Cyclone Asani) जो सोमवार को 25 किमी प्रति घंटे की गति से आगे बढ़ रहा था और 5 किमी प्रति घंटे तक धीमा हो गया है क्योंकि यह आंध्र प्रदेश में काकीनाडा से लगभग 300 किमी दक्षिण पूर्व और ओडिशा में गोपालपुर से 510 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में केंद्रित है। यह चक्रवात मंगलवार रात को उत्तर-पूर्वोत्तर दिशा में तट के समानांतर चलने की उम्मीद है।

Cyclone Asani से इन इलाको में होगी भारी बारिश

असानी चक्रवात (Cyclone Asani) उत्तर-उत्तर-पूर्व की ओर मुड़ने और उत्तरी आंध्र प्रदेश और ओडिशा तटों से दूर बंगाल की उत्तर-पश्चिम खाड़ी की ओर बढ़ने की संभावना है। इसके लैंडफॉल बनने की संभावना नहीं है और अगले 24 घंटों में इसके कमजोर होकर एक चक्रवाती तूफान में बदलने की संभावना है। मौसम विभाग के अनुसार कुछ स्थानों पर हल्की वर्षा होने की संभावना है और तटीय आंध्र के अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा होने की संभावना है। आज शाम से तटीय ओडिशा में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश की संभावना है।

Cyclone Asani के चलते मौसम विभाग ने लगाया अलर्ट

मौसम विभाग ने असानी चक्रवात के बढ़ते प्रभाव को देखते अलर्ट जारी कर दिया है। IMD ने मछुआरों को समुद्र में न जाने की सलाह दी है। इसके साथ ही पश्चिम मध्य और उससे सटे बंगाल की खाड़ी में मछली पकड़ने के संचालन को 10 और 11 मई और उत्तर पश्चिमी बंगाल की खाड़ी में 12 मई तक पूरी तरह से निलंबित करने का आदेश दिया गया है।

Cyclone Asani के चलते पर्यटन गतिविधियों को 13 मई तक किया निलंबित

मौसम कार्यालय ने कहा कि पश्चिम-मध्य और उससे सटे दक्षिण बंगाल की खाड़ी में बहुत अधिक समुद्र की स्थिति बने रहने की संभावना है। इसने यह भी सलाह दी कि तटीय क्षेत्रों और समुद्री तटों में पर्यटन गतिविधियों को 13 मई तक निलंबित कर दिया जाए। ओडिशा के खुर्दा, गंजम, पुरी, कटक और भद्रक जैसे जिलों में दो से तीन बार बारिश हो चुकी है। इस असानी चक्रवात के चलते कोलकाता, हावड़ा, पुरबा मेदिनीपुर, उत्तर और दक्षिण 24 परगना में गुरुवार को भारी बारिश होने की संभावना जताई जा रही है।

close button