DAP Prices : किसानों के लिए बड़ी खबर! गैर-यूरिया उर्वरक सब्सिडी में 150 रुपये की बढ़त

DAP Prices : रूस-यूक्रेन संकट (Russia-Ukraine Crisis) के चलते केंद्र ने कल इस वित्तीय वर्ष के पहले छह महीनों के लिए 60,939.23 करोड़ रुपये की गैर-यूरिया उर्वरकों (Non-Urea Fertiliser) के लिए सब्सिडी दी। परिवर्तन के परिणामस्वरूप कंपनियां किसानों को उचित मूल्य पर महत्वपूर्ण मिट्टी के पोषक तत्वों की आपूर्ति जारी रखने में सक्षम होंगी।

DAP Prices गैर-यूरिया उर्वरकों के बजट में होगी वृद्धि

पूरे वित्त वर्ष 2022 -23 के लिए यह गैर-यूरिया उर्वरकों के बजट अनुमान से 45.23 प्रतिशत अधिक है। कल के समर्थन के बाद कंपनियां डी-अमोनिया फॉस्फेट (DAP) का एक बैग 1350 रुपये में बेच सकेंगी क्योंकि केंद्र बाकी लागत को सब्सिडी के रूप में लगभग 2501 रुपये वहन करेगा।

DAP Prices में 150 रुपये की बढ़त

पिछले साल तक प्रति बैग डीएपी सब्सिडी (DAP Subsidy) 1,650 रुपये थी जो वित्त वर्ष-23 में लगभग 50% की वृद्धि का प्रतिनिधित्व करती है। उर्वरक कंपनियों ने इस महीने की शुरुआत में डीएपी की कीमत (DAP Price) 150 रुपये प्रति बोरी 1200 रुपये से बढ़ाकर 1350 रुपये कर दी थी।

NPKS के लिए बढ़ी हुई कीमतें ग्रेड के आधार पर 20 रुपये से 110 रुपये प्रति 50 किलोग्राम बैग तक थीं। उद्योग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “आज की सब्सिडी समर्थन के बाद ज्यादातर कंपनियां अपनी कीमतों में बढ़ोतरी को बनाए रखने में सक्षम होंगी। अगर इनपुट लागत में वृद्धि जारी रहती है तो उन्हें DAP और NPKS की कीमतें और भी अधिक बढ़ानी पड़ती हैं।”

DAP देश में दूसरा सबसे इस्तेमाल किए जाने वाला उर्वरक

यूरिया के बाद डीएपी देश में दूसरा सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला उर्वरक है। अन्य जटिल उर्वरकों, जैसे NPKS, SSP और MOP के विभिन्न ग्रेडों के लिए सब्सिडी दरों की गणना NBS फॉर्मूले का उपयोग करके की गई थी। वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए यूरिया सब्सिडी का अभी इंतजार है। अन्य जटिल उर्वरकों जैसे NPKS, SSP और MOP के विभिन्न ग्रेडों के लिए सब्सिडी दरों की गणना NBS फॉर्मूले का उपयोग करके की गई थी। वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए यूरिया सब्सिडी अभी भी लंबित है।

FY23 के बजट अनुमानों के अनुसार, DAP और NPKS दोनों उर्वरकों के लिए अनुमत सब्सिडी गैर-यूरिया उर्वरकों के लिए आवंटित सब्सिडी से 45.23 प्रतिशत अधिक है। इसलिए केंद्र सरकार ने पूरे वित्त वर्ष 2022 -23 के बजट में गैर-यूरिया उर्वरकों (Non-Urea Fertiliser) के लिए 42,000 करोड़ रुपये की सब्सिडी प्रदान की थी लेकिन आज के फैसले में उसने अतिरिक्त 19,000 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं लेकिन सिर्फ पहले छह महीनों के लिए।

इससे जुडी अधिक जानकारी जानने के लिए sarkariiyojana.in को बुकमार्क जरूर करें। कोई भी प्रश्न होने पर आप हमें अपनी प्रतिक्रिया (Comment) जरूर दें।

आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

close button