E-Shram Registration के लिए प्रवासी श्रमिक का चयन, जानें पूरी जानकारी

E-Shram Registration के लिए प्रवासी श्रमिक का चयन, जानिए क्या है इसका मतलब: केंद्र सरकार ने असंगठित क्षेत्र के करोड़ों कामगारों का डेटाबेस तैयार करने के लिए ई-श्रम पोर्टल की शुरुआत की है। इसका उद्देश्य देश के मजदूरों का कल्याण करना है। ई-श्रम पोर्टल eshram.gov.in पर बड़ी संख्या में श्रमिक पंजीकरण कर रहे हैं। इसका टारगेट 38 करोड़ से ज्यादा वर्कर्स को कनेक्ट करना है।

अगर आप भी इस पोर्टल पर पंजीकरण E-Shram Registration करना चाहते हैं तो आपको पोर्टल में प्रयुक्त होने वाले शब्दों की जानकारी होनी चाहिए। कॉमन सर्विस सेंटर के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है: जिसमें कहा गया है कि यदि आप ई-श्रम के लिए किसी प्रवासी श्रमिक का चयन कर रहे हैं तो आपको पता होना चाहिए कि प्रवासी श्रमिक migrant workers वह व्यक्ति होता है जो किसी प्रतिष्ठान में काम करता है। या वह दूसरे राज्य से यहां आया है और उसकी मजदूरी 18,000 रुपये प्रतिमाह से अधिक नहीं है।

CSCeGov ने ट्वीट किया है कि “क्या आप जानते हैं? प्रवासी श्रमिक को ई-श्रम पंजीकरण के लिए चुनना” प्रवासी श्रमिक वह व्यक्ति है जो किसी प्रतिष्ठान में कार्यरत है या स्वयं दूसरे राज्य में आया है और उसकी मजदूरी 18,000 रुपये प्रति माह है

E-Shram Registration

ऑनलाइन E-Shram Registration के लिए कार्यकर्ता ई-श्रम के मोबाइल एप्लिकेशन या वेबसाइट का उपयोग कर सकते हैं। वहीं, वे इसके लिए डाक विभाग के कॉमन सर्विस सेंटर (CSCs), राज्य सेवा केंद्रों, श्रम सुविधा केंद्रों और डिजिटल सेवा केंद्रों के चुनिंदा डाकघरों में भी जा सकते हैं

पंजीकरण के बाद असंगठित कामगारों को यूनिवर्सल अकाउंट नंबर वाला डिजिटल ई-श्रम कार्ड Digital e-Shram Card with Universal Account Number मिलेगा। यह यूनिवर्सल अकाउंट नंबर पूरे देश में स्वीकार्य होगा और उन्हें सामाजिक सुरक्षा के लिए अलग-अलग स्थानों पे रजिस्ट्रेशन करने की आवस्यकता नहीं होगी

ई-श्रम पोर्टल से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण शब्द

यहां कुछ और ई-श्रम पंजीकरण से जुड़े कुछ शब्द दिए गए हैं जिनके बारे में आपका जानना जरूरी है:

  1. असंगठित क्षेत्र: उत्पादन में लगे व्यक्तियों या स्वरोजगार श्रमिकों के स्वामित्व वाला उद्यम। यह माल की बिक्री या किसी भी प्रकार की सेवा प्रदान करता है और यहां कामगारों की संख्या दस से भी कम है।
  2. असंगठित श्रम: असंगठित क्षेत्र में काम करने वाला एक घर-आधारित श्रमिक, स्व-रोजगार श्रमिक या मजदूरी कर्मचारी या मजदूरी कर्मचारी। इसमें संगठित क्षेत्र के वे कर्मचारी भी शामिल हैं जो अनुसूची 2 के तहत किसी सामाजिक सुरक्षा अधिनियम के दायरे में नहीं आते हैं।
  3. भवन निर्माण श्रमिक: एक व्यक्ति जिसे कुशल, अर्ध-कुशल या अकुशल, मैनुअल, तकनीकी या क्लर्क कोई भी काम करने के लिए किराए पर लिया गया हो।
  4. ठेका मजदूर: एक कर्मचारी जिसे किसी प्रतिष्ठान के काम में या उसके संबंध में नियोजित माना जाएगा, जब वह ऐसे काम के लिए ठेकेदार द्वारा या उसके माध्यम से नियोजित होता है।

नवीनतम अपडेट के लिए sarkariiyojana.in को बुकमार्क करें |