EPS Pension Scheme: नई गणना के साथ कई गुना बढ़ेगी EPS पेंशन , 33+2= 35/70×50,000 इस गणना से 333 परसेंट वेतन में इंक्रीमेंट, समझें कितनी बनेगी आपकी पेंशन?

EPS Pension Scheme: ईपीएसएक एक ऐसी योजना है, जिसकी रेक देख ईपीएफओ करता है। यह योजना उन कर्मयोंचारियों के लिए है, जो 58 वर्ष के हो चुके हैं। हालांकि, इस योजना का लाभ तभी उठाया जा सकता है, जब कर्मचारी ने कम से कम 10 साल तक काम किया हो। ईपीएस को वर्ष 1995 में लॉन्च किया गया था और मौजूदा और नए ईपीएफ सदस्य इस योजना में शामिल हो सकते हैं।

सरकारी/कंपनी और कर्मचारी दोनों कर्मचारी के सैलेरी का 12 परसेंट एक समान रूप से ईपीएफ फंड में योगदान करते हैं। हालांकि, कर्मचारी के योगदान का पूरा हिस्सा ईपीएफ में जाता है और कंपनी का 8.33 परसेंट हिस्सा कर्मचारी पेंशन योजना (ईपीएस) में जाता है और 3.67 परसेंट हर महीने ईपीएफ में जाता है।

Employee Pension Scheme

7th Pay Commission Update 2022: करोडो कर्मचारियों के लिए आयी बड़ी खबर, सैलरी में होगा 6840 रुपये का इजाफा

कई गुना बढ़ सकती है ईपीएस पेंशन!

पेंशन मामले की सीलिंग सुप्रीम कोर्ट के पास जमा है। यूनियन लगातार मांग कर रही है कि पेंशन की सीमा समाप्त की जाए। यदि फैसला कर्मचारियों के पक्ष में है तो पेंशन (कर्मचारी पेंशन योजना) की गणना अंतिम वेतन यानी उच्च वेतन ब्रैकेट पर भी की जा सकती है। इस फैसले से कर्मचारियों की पेंशन में 300% तक की बढ़ोतरी पक्की है। ईपीएस के तहत पेंशन पाने की शर्त यह है कि कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) में 10 साल तक अंशदान करना जरूरी है। वहीं दूसरी ओर 20 साल की सेवा पूरी करने पर पूरे 2 साल का वेटेज दिया जाता है।

7th Pay Commission : शिक्षकों के लिए खुशखबरी! वेतन में होगी इतनी बढ़त

EPS-95 में आपकी पेंशन कैसे बढ़ेगी?

सरकारी नियमों के मुताबिक अगर कोई कर्मचारी 1 जून 2015 से काम कर रहे है और अगर वह 14 साल की सेवा पूरी करने के बाद पेंशन लेना चाहता है तो उसकी पेंशन की गणना 15,000 रुपये ही की जाएगी। कर्मचारी चाहे 20 हजार रुपये मूल वेतन में हो या 30 हजार रुपये। पुराने फॉर्मूले के मुताबिक कर्मचारी को 14 साल पूरे होने पर 2 जून 2030 से करीब 3000 रुपये पेंशन मिलेगी। पेंशन की गणना का सूत्र है- (सेवा इतिहासx15,000/70)। हालांकि, अगर पेंशन की सीमा खत्म कर दी जाती है, तो फिर इस कर्मचारी की पेंशन बढ़ जाएगी।

7th Pay Commission Latest update: केंद्रीय कर्मचारियों के लिए DA की तारीख हुई तय, जाने किस दिन आएगा बढ़ा हुआ पैसा

इस बार होगी 333 परसेंट वेतन में इंक्रीमेंट

ऐसा माना जा रहा हैं कि ईपीएफओ के नियमों के मुताबिक अगर कोई कर्मचारी लगातार 20 साल या उससे ज्यादा समय तक ईपीएफ में योगदान देता है तो उसकी सेवा में दो साल और जुड़ जाते हैं। इस प्रकार 33 वर्ष की सेवा पूरी हुई, लेकिन 35 वर्ष के लिए पेंशन की गणना की गई। ऐसे में उन कर्मचारियों की सैलरी में 333 परसेंट का इंक्रीमेंट हो सकता है।

7th Pay DA Hike Update: कर्मचारियों के वेतन में हो सकता है 8000 रुपये इज़ाफ़ा, 3.68 नहीं तो 3 गुना फिटमेंट फैक्टर पर विचार ?

जानते हैं की EPS-95 में अपनी पेंशन कैसे बढ़ाएं-

रूल्स के मुताबिक अगर कोई कर्मचारी 1 जून 2015 से काम कर रहा है और अगर वह 14 साल की सेवा पूरी करने के बाद पेंशन लेना चाहता है तो उसकी पेंशन की क़ीमत 15,000 रुपये ही होगी| कर्मचारी चाहे 20 हजार रुपये मूल सैलेरी में हो या 30 हजार रुपये। पुराने फॉर्मूले के मुताबिक कर्मचारी को 14 साल पूरे होने पर 2 जून 2030 से करीब 3000 रुपये पेंशन मिलेगी। पेंशन की गणना का सूत्र है- (सेवा इतिहास x 15,000/70)। लेकिन, अगर पेंशन की सीमा समाप्त कर दी जाती है, तो उसी कर्मचारी की पेंशन बढ़ जाएगी।

आप ऐसा मान लीजिए किसी कर्मचारी की सैलरी (बेसिक सैलरी + डीए) 20 हजार रुपये है। पेंशन फॉर्मूले से गणना करते हुए, उसकी पेंशन 4000 रुपये (20,000X14)/70 = 4000 रुपये होगी। इसी तरह, वेतन जितना अधिक होगा, पेंशन का लाभ उतना ही अधिक होगा। ऐसे लोगों की पेंशन में 300% का उछाल आ सकता है।

Leave a Comment

close button