EWS Certificate : EWS प्रमाण पत्र की अवधि 3 साल के लिए बढ़ी, प्रतियोगी परीक्षाओं में 10 % आरक्षण पाने के लिए ऐसे करें आवेदन

EWS Certificate : राजस्थान सरकार ने EWS सर्टिफिकेट को लेकर नया आदेश जारी कर दिया है। इस आधिकारिक आदेश के अनुसार, सरकार ने आर्थिक कमजोर वर्ग यानि EWS समूह के तहत आरक्षण लाभ प्राप्त करने के लिए आवश्यक EWS प्रमाण पत्र (EWS Certificate) को अब तीन साल के लिए मान्य कर दिया है। इससे पहले EWS प्रमाण पत्र (EWS Certificate) की वैधता एक वर्ष थी जिसे उम्मीदवारों की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए तीन साल तक बढ़ा दिया गया है।

ऐसे बनवाएं नया EWS Certificate

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि यदि EWS प्रमाण पत्र (EWS Certificate) की वैधता समाप्त हो गई है तो पुराने प्रमाण पत्र की फोटोकॉपी के साथ आय से संबंधित स्व-सत्यापित एफेडेविट प्रदान करने के बाद वैधता को अधिकतम तीन साल के लिए बढ़ाया जाएगा। विभाग ने एफेडेविट का प्रारूप भी जारी किया है जो उम्मीदवारों को जमा करना होगा।

How to apply for EWS Certificate

10 % आरक्षण प्राप्त करने के लिए है EWS Certificate

सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में अनुसूचित जाति,अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग के अलावा अन्य जातियों द्वारा उनकी आय के आधार पर प्रवेश के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण लाभ प्राप्त करने के लिए EWS प्रमाण पत्र (EWS Certificate) की आवश्यकता है।

EWS Certificate के लाभ

EWS आरक्षण का लाभ आवेदक तभी उठा सकता है जब उसके पास आय और संपत्ति प्रमाण पत्र हो। आइए जानते हैं इसके लाभ के बारे में।

  1. EWS Certificate का लाभ विभिन्न सरकारी योजनाओं के लिए कर सकते हैं।
  2. EWS आरक्षण उन व्यक्तियों को सहायता प्रदान करेगा जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं।
  3. आवेदक सरकारी नौकरियों और उच्च शिक्षा में 10% आरक्षण प्राप्त करने के पात्र होंगे।
  4. UGC के तहत सभी EWS श्रेणी के छात्रों के प्रवेश के लिए 10% आरक्षण का पालन करते हैं।
  5. आवेदक को राज्य और केंद्र सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली योजनाओं पर सब्सिडी मिल सकती है।

EWS Certificate पात्रता

  1. एक सामान्य श्रेणी होना चाहिए।
  2. आवेदक की पारिवारिक आय प्रति वर्ष 8 लाख रुपये से कम होनी चाहिए।
  3. आवेदक के पास खेती के लिए 5 एकड़ जमीन नहीं होनी चाहिए।
  4. आवेदक और उसके परिवार का निवास क्षेत्र 1000 वर्ग फुट से कम होना चाहिए।
  5. अधिसूचित नगरपालिका क्षेत्र के लिए निवास का क्षेत्र 100 वर्ग गज से कम होना चाहिए।

अधिक जानकारी के लिए sarkariiyojana.in को बुकमार्क करें।

Leave a Comment

close button