मुंबई पुलिस ने Google के सीईओ सुंदर पिचाई के खिलाफ दर्ज की FIR

Mumbai Police Sundar Pichai FIR : मुंबई पुलिस (Mumbai Police) ने बुधवार को कॉपीराइट उल्लंघन के मामले (copyright infringement cases) में गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई (CEO Sundar Pichai) और कंपनी के पांच अन्य कर्मचारियों के खिलाफ अदालत के आदेश पर प्राथमिकी दर्ज (FIR) की गई है। इस मामले में यूट्यूब के मैनेजिंग डायरेक्टर गौतम आनंद भी आरोपी हैं।

फिल्म निर्देशक और निर्माता सुनील दर्शन ने कथित कॉपीराइट उल्लंघन को लेकर Google और उसके शीर्ष अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग करते हुए अदालत का दरवाजा खटखटाया था। निर्माता सुनील दर्शन द्वारा 2017 की फिल्म एक हसीना थी एक दीवाना था को अवैध रूप से यूट्यूब पर अपलोड किए जाने के सम्बन्ध में दायर एक निजी शिकायत पर सीआरपीसी की धारा 156 (3) के तहत मजिस्ट्रेट के आदेश के बाद प्राथमिकी दर्ज की गई है।

सुन्दर पिचाई के खिलाफ FIR दर्ज

पुलिस ने कॉपीराइट अधिनियम की धारा 51, 63 और 69 को लागू किया है। एक स्थानीय अदालत के निर्देश पर प्राथमिकी दर्ज की गई थी। निर्माता सुनील दर्शन ने कहा कि उन्होंने अपनी फिल्म कहीं भी अपलोड नहीं की थी और न ही किसी को बेची थी लेकिन यूट्यूब पर इसे लाखों बार देखा जा चुका है। उन्होंने यूट्यूब से फिल्म वापस लेने का अनुरोध करता रहा और मुझे बस एक-एक करके दौड़ते हुए छोड़ दिया गया। मैं बहुत निराश हो गया मेरे पास कोई विकल्प नहीं बचा था, मुझे अदालत जाना पड़ा।”

निर्माता सुनील दर्शन ने लगाया आरोप

फिल्म निर्माता ने कहा कि उनकी फिल्म को अवैध रूप से अपलोड करने के माध्यम से बड़ी मात्रा में पैसा कमाया जा रहा है। मैं सुंदर पिचाई को जिम्मेदार मानता हूं क्योंकि वह Google का प्रतिनिधित्व करते हैं। मैंने अपनी एक हसीना थी एक दीवाना था के 1 बिलियन से अधिक व्यूज को ट्रैक किया है। इस चिंता को कंपनी के साथ उठाए जाने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

close button