Gopal Ratna Award : इन पशुपालकों को मिलेगा 5 लाख रुपए तक का पुरस्कार, जानें पूरी जानकारी

Gopal Ratna Award : देश के ग्रामीण क्षेत्रों में पशुपालन आय का सबसे बड़ा स्रोत साबित हो रहा है। सरकार द्वारा ग्रामीणों को पशुपालन के क्षेत्र में अधिक से अधिक निवेश करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। इसके तहत मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय के तहत पशुपालन और डेयरी विभाग ने वर्ष 2022 के राष्ट्रीय गोपाल रत्न पुरस्कार (Gopal Ratna Award) के लिए आवेदन मांगे हैं।

Gopal Ratna Award में आवेदन करने की आखिरी तारीख

गोपाल रत्न पुरस्कार (Gopal Ratna Award) को प्राप्त करने के लिए देश भर के सभी किसान आवेदन कर सकते हैं। इस आवेदन को जमा करने की आखिरी तारीख 15 सितम्बर 2022 है। ये पुरस्कार राष्ट्रीय दुग्ध दिवस के अवसर पर दिए जाएंगे। गोपाल रत्न पुरस्कार को लेकर पात्रता आदि के बारे में अधिक जानकारी और ऑनलाइन आवेदन जमा करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट awards.gov.in पर जा सकते हैं।

Gopal Ratna Award का उद्देश्य

पशुपालन एवं डेयरी विभाग किसानों को स्थायी आजीविका प्रदान करने के लिए पशुपालन और डेयरी क्षेत्र के प्रभावी विकास के उद्देश्य से हर संभव प्रयास कर रहा है। दिसंबर 2014 में देश में पहली बार “राष्ट्रीय गोकुल मिशन” शुरू किया गया था। हर साल डेयरी किसानों, सर्वश्रेष्ठ कृत्रिम गर्भाधान तकनीशियनों और दूध उत्पादक कंपनियों को गोपाल रत्न पुरस्कार (Gopal Ratna Award) दिए जाते हैं।

Gopal Ratna Award के लिए पात्रता

• इस पुरस्कार के लिए केवल वही किसान पात्र हैं जो गाय की 50 देशी नस्लों और भैंस की 18 देशी नस्लों में से किसी एक का पालन करते हैं।
• कृत्रिम गर्भाधान तकनीशियन जिसने इस कार्य के लिए कम से कम 90 दिनों का प्रशिक्षण लिया हो।
• दूध उत्पादक कंपनी जो प्रतिदिन 100 लीटर दूध का उत्पादन करती है और लगभग 50 किसानों को उनसे जोड़ा जाना चाहिए।

Gopal Ratna Award की राशि

राष्ट्रीय गोकुल किसान मिशन योजना के तहत हर साल तीनों समूहों में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वालों को पुरस्कार दिया जाता है।

  1. प्रथम पुरस्कार के रूप में 5 लाख की राशि
  2. द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले के लिए तीन लाख की राशि
  3. तृतीय स्थान प्राप्त करने वालों को दो लाख की राशि

Gopal Ratna Award कब होगा वितरण ?

प्रत्येक श्रेणी में पुरस्कार विजेताओं के नामों की घोषणा सरदार बल्ल्भ भाई पटेल के जन्मदिन के अवसर पर 31 अक्टूबर को की जाएगी। इन पुरस्कारों का वितरण मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय के तहत किया जाएगा। गोपाल रत्न पुरस्कार (Gopal Ratna Award) समारोह की बात करें तो यह राष्ट्रीय दुग्ध दिवस 26 नवंबर को पशुपालन और डेयरी विभाग द्वारा तय किए गए स्थान पर आयोजित किया जाएगा।

Gopal Ratna AwardClick Here
Home PageClick Here

नोट-यह न्‍यूज वेबसाइट से मिली जानकारियों के आधार पर बनाई गई है. SarkariiYojana.in अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है।

close button