Kendriya Vidyalaya Admission नए नियम जारी : सिफारिश पर अब नहीं होगा KV में दाखिला

Kendriya Vidyalaya Admission : केन्द्रीय विद्यालय संगठन (KVS) ने 25 अप्रैल 2022 को शैक्षणिक वर्ष 2022-2023 के लिए संशोधित प्रवेश दिशानिर्देश जारी किया है। केंद्रीय विद्यालयों में छात्रों के प्रवेश की सिफारिश में सांसदों के कोटा को बंद कर दिया। नए दिशानिर्देशों में यह भी कहा गया है कि कोविड -19 महामारी के कारण अनाथ बच्चों को पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन योजना के तहत कक्षा की संख्या से अधिक प्रवेश के लिए विचार किया जाएगा।

KVS के छात्रों को मिलेगी यह छूट

केन्द्रीय विद्यालय संगठन (KVS) ने कहा कि ऐसे छात्रों का प्रवेश संबंधित जिले के जिलाधिकारी द्वारा दी गई सूची के आधार पर प्रति KV 10 बच्चों और प्रति कक्षा अधिकतम दो बच्चों के आधार पर किया जाएगा। इन बच्चों को 1 st से 12 th कक्षा तक स्कूल फीस,ट्यूशन शुल्क, कंप्यूटर फंड के भुगतान से छूट दी जाएगी।

एमपी कोटा को हटाने का नियम

केन्द्रीय विद्यालय संगठन (KVS) में प्रवेश के लिए कई तरह के दिशानिर्देश बनाए गए हैं। इन निर्देशों के आधार पर एमपी कोटा को हटा दिया गया है। जिसके आधार परे छात्रों के एडमिशन सिफारिशों के आधार हुआ करते थे। केन्द्रीय विद्यालय में मुख्य रूप से केंद्रीय कर्मचारियों के बच्चों को प्रवेश दिया जाता है। जिन छात्रों के माता पिता केंद्रीय कर्मचारी नहीं है तो उन्हें एमपी कोटे और सांसद की सिफारिशों के माध्यम से प्रवेश दिया जाता है।

पहले सांसदों को 10 छात्रों की सिफारिश करने की थी अनुमति

KVS में विभिन्न श्रेणी के बच्चे एडमिशन लेते हैं जिनके माता पिता केंद्रीय कर्मचारी हैं उन्हें प्रवेश पहले मिलता है। पहले एक सांसद को KVS के शैक्षणिक वर्ष में 2 प्रवेशों की सिफारिश करने की अनुमति थी। जो 2011 में बढ़कर 5 हो गई। 2012 में यह 6 हो गई और 2016 में यह सिफारिशों की संख्या 10 हो गई। लेकिन शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने इस कोटे को खत्म कर दिया था।

भारतीय सैनिकों के बच्चों को मिलेगा KVS में प्रवेश

भारतीय सैनिकों के बच्चे जिन्होंने परमवीर चक्र, महावीर चक्र, वीर चक्र, अशोक चक्र, कीर्ति चक्र और शौर्य चक्र, सेना पदक, नौसेना पदक , वायु सेना पदक के प्राप्तकर्ताओं के बच्चों को प्रवेश दिया जाता है।

close button