Labor Code Rule : सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, अब मिलेगी 450 छुट्टियां

Labor Code Rule : मोदी सरकार लेबर कोड (Labour Code) के नियमों को जल्द से जल्द लागू करने की योजना बना रही है। हालांकि चार श्रम कोड नियमों (Labor Code Rule) को शुरू होने में कम से कम तीन महीने का समय लग सकता है क्योंकि अभी यह नियम सभी राज्यों ने नहीं बनाए हैं। अधिकारियों के मुताबिक चार श्रम कोड नियमों (Labor Code Rule) को लागू करने में जून तक का समय लग सकता है। अगर मोदी सरकार लेबर कोड के नियम लागू करती है तो कर्मचारियों की पेड लीव 300 से बढ़कर 450 हो सकती है।

जानें क्या होती है Earned Leave, जिनके बदले मिलती है सैलरी

वर्तमान में सरकारी कर्मचारियों (Government Employees) को साल में 30 अवकाश मिलता है। बचाव के मामले में यह छुट्टी 60 दिन की होती है। अगर आप सरकार द्वारा दी गई छुट्टी को पूरे साल नहीं लेते हैं तो उसे अगले साल में जोड़ दिया जाता है। वही अर्जित अवकाश 300 तक कर सकते हैं।

Labor Code Rule
Labor Code Rule

हालांकि विभिन्न श्रेणियों के अनुसार यह अवकाश 240 से 300 के बीच में उपलब्ध है। सेवानिवृत्ति के समय कर्मचारियों को अर्जित अवकाश के बदले मूल वेतन मिलता है। कई ट्रेड यूनियन छुट्टी को बढ़ाकर 450 करने की मांग कर रहे हैं। हालांकि अभी तक कोई फैसला नहीं हुआ है। इस छुट्टी के एवज में कर्मचारियों को 20 साल की सेवा या रोजगार के बाद वेतन मिल सकता है।

सरकारी कर्मचारियों को मिलेगी 450 छुट्टी

वेतन पाने वाले कर्मचारियों की संख्या 300 से बढ़ाकर 450 करने के लिए श्रम मंत्रालय, ट्रेड यूनियनों और उद्योग प्रतिनिधियों के बीच श्रम कोड नियमों (Labor Code Rule) में बदलाव, काम के घंटे, वार्षिक अवकाश, पेंशन, पीएफ, टेक होम पे, सेवानिवृत्ति आदि पर चर्चा की गई।

23 राज्यों में बने श्रम कोड

श्रम कानून के चार नियम लागू होने से देश में निवेश को बढ़ावा मिलेगा और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। श्रम कानून देश के संविधान का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। अब तक 23 राज्यों ने श्रम कोड नियमों (Labor Code Rule) का मसौदा तैयार किया है। अब लेबर कोड (Labor Code) के नए नियमों के मुताबिक सिर्फ सात राज्य अभी तक नियम नहीं बना सके। इसमें तीन महीने और लग सकते हैं।

बढ़ सकते हैं कर्मचारियों के लिए काम के घंटे

नया मसौदा कर्मचारियों के काम के घंटों को प्रभावित करेगा। कर्मचारियों को चार दिन के कार्य सप्ताह की अनुमति दी जा सकती है लेकिन उन्हें उन चार दिनों में 12 घंटे काम करना होगा। श्रम मंत्रालय ने स्पष्ट कर दिया है कि 48 घंटे साप्ताहिक कार्य की आवश्यकता है।

वेज कोड लागू होने के बाद बढ़ा PF

इसका मतलब यह भी है कि कर्मचारी के ग्रेच्युटी और पीएफ में परिणामी वृद्धि होगी। इसलिए जहां कर्मचारियों का टेक होम वेतन कम किया जा सकता है वहीं ग्रेच्युटी और पीएफ घटक बढ़ सकते हैं।

close button