Matrubhumi Yojana: अब आपका गांव भी सवरेगा फ़्री में, जानें पूरी डिटेल

Uttar Pradesh Matrubhumi Yojana: आप किसी गांव में पैदा हुए हैं या आपके पूर्वज गांव से हैं और आपको अपने गांव से विशेष लगाव है लेकिन नौकरी और धंधे के कारण दूर शहर में रहना पद रहा है तो अब दूर रहकर अर्थात किसी दूसरे राज्य में या विदेश में रहकर भी आप अपनी मातृभूमि अर्थात अपने गांव को सुशोभित कर सकते हैं और इसके लिए जुड़िये Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana से जिसने सरकार ने गांवों के विकास में आपकी भागीदारी के लिए द्वार खोल दिया है। अपने गांव के विकास की योजना आपकी होगी, आप इसमें सिर्फ 60 प्रतिशत पैसा देंगे और 40 प्रतिशत खर्च सरकार उठाएगी इस विकास का पूरा श्रेय आप ही लेंगे।

उत्तर प्रदेश मातृभूमि योजना क्या है

बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में कैबिनेट ने उत्तर प्रदेश मातृभूमि योजना village beautification plan के क्रियान्वयन के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है दरअसल बड़ी संख्या में राज्य के लोग गांव से निकलकर देश-विदेश के अलग-अलग शहरों में काम कर रहे हैं गांव में और बाहर रहने वाले संपन्न लोग अपने गांव के विकास में योगदान देना चाहते हैं, लेकिन व्यवस्थित मंच न होने के कारण वे दुखी हैं अब उन्हें और निजी संगठनों को मौका दिया गया है

Matrubhumi Yojana Implementation

योजना के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु Chief Minister Yogi Adityanath द्वारा उत्तर प्रदेश मातृभूमि सोसायटी का गठन किया जायेगा। इस सोसाइटी के अंतर्गत संचालन परिषद में मुख्यमंत्री अध्यक्ष तथा पंचायती राज मं द्वारा दिए गए कार्य मानचित्र एवं डीपीआर का अनुमोदन कार्य से संबंधित विभाग के सक्षम प्राधिकारी द्वारा किया जाएगा। काम पूरा होने के बाद एजेंसी के नियमानुसार भुगतान किया जाएगा। दानकर्ता स्वयं भी काम करवा सकते हैं, लेकिन ऐसी स्थिति में सक्षम स्तर से डीपीआर स्वीकृत कराकर भुगतान सीधे वेंडरों को किया जाएगा।

यदि कोई भी सरकारी या निजी कंपनी कोई भी निर्माण कार्य करना चाहती है तो ऐसे कार्यों के लिए सरकारी सार्वजनिक उद्यम/निजी औद्योगिक इकाईयों के पास कार्य की कुल लागत का 60 प्रतिशत और शेष 40 प्रतिशत राशि उस कंपनी के सीएसआर के माध्यम से अनुदान दे सकता है। यानी इस योजना के तहत कोई भी सरकारी या निजी कंपनी अपने सीएसआर का 40 प्रतिशत इन कार्यों के लिए दे सकती है, जो कि सरकारी अनुदान माना जाएगा

नवीनतम अपडेट के लिए आप हमारी साइट सरकारीयोजना को बुकमार्क करें।

Leave a Comment