Monkeypox Virus : इन राज्यों में दिखा पहला मामला, 19 देशों में पुष्टि

Monkeypox Virus : संयुक्त अरब अमीरात (UAE) और चेक गणराज्य (Czech Republic) में स्वास्थ्य अधिकारियों ने 25 मई 2022 को अपने देश में मंकीपॉक्स वायरस के पहले मामले का पता लगाया। यूएई में मंकीपॉक्स वायरस (Monkeypox Virus) बीमारी के मामले की पुष्टि पश्चिम अफ्रीका से यात्रा करने वाली एक महिला में हुई थी, जबकि चेक गणराज्य में यह बेल्जियम में एक उत्सव से लौट रही एक महिला में पाई गई थी।

चेक गणराज्य (Czech Republic) के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक हेल्थ (SZU) ने कहा कि परीक्षण किए गए तीन लोगों में से एक का टेस्ट मंकीपॉक्स वायरस के लिए पॉजिटिव पाया गया था, हालांकि अगले सप्ताह अंतिम परीक्षण के परिणामों की पुष्टि की जाएगी। दो अन्य संदिग्ध मरीजों के परीक्षण पर अभी भी काम किया जा रहा था। संक्रमित महिला ने मई की शुरुआत में एंटवर्प में एक संगीत समारोह में भाग लिया था और उसके लौटने के बाद मंकीपॉक्स लक्षण दिखना शुरू कर दिया था।

Monkeypox Virus की 19 देशों में पुष्टि

मई की शुरुआत से 19 देशों में स्वास्थ्य अधिकारियों ने मंकीपॉक्स वायरस (Monkeypox Virus) के लगभग 237 संदिग्ध मामले पाए गए हैं। इनमें से अधिकांश संक्रमण यूरोप में खोजे गए हैं और दुनिया भर के अधिकारी अधिक मामलों पर नजर रख रहे हैं, क्योंकि पहली बार यह दुर्लभ बीमारी उन लोगों में फैलती हुई नजर आ रही है जो अफ्रीका की यात्रा नहीं करते थे जहां मंकीपॉक्स स्थानिक है।

हालांकि, वैज्ञानिकों का मानना है कि सामान्य आबादी के लिए जोखिम कम है और हाल ही में मंकीपॉक्स का प्रकोप कोविद -19 जैसी महामारी में विकसित होने की उम्मीद नहीं है। यह देखते हुए कि वायरस SARS-COV-2 के रूप में आसानी से नहीं फैलता है।

Monkeypox Virus क्या है?

मंकीपॉक्स एक वायरस (Monkeypox Virus) है जो प्राइमेट जैसे जंगली जानवरों में उत्पन्न होता है और कभी-कभी लोगों के लिए कूद जाता है। यह चेचक के समान वायरस परिवार से संबंधित है। अधिकांश मामले मध्य और पश्चिम अफ्रीका में हुए हैं और इसका प्रकोप अपेक्षाकृत सीमित रहा है। कहा जाता है कि इसे पहली बार 1958 में वैज्ञानिकों द्वारा पहचाना गया था जब अनुसंधान बंदरों में ‘पॉक्स जैसी’ बीमारी के दो प्रकोप हुए थे इस प्रकार इसका नाम मंकीपॉक्स पड़ा।

close button