Notifications
×
Subscribe
Unsubscribe

Mukhyamantri Udyami Yojana: बिहार सरकार दे रही है 10 लाख रुपये, ऐसे करें आवेदन

Mukhyamantri Udyami Yojana: बिहार सरकार की मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के तहत बिहार में 16 हजार हितग्राहियों का चयन किया गया है। इन सभी 16000 लाभार्थियों का चयन कम्प्यूटरीकृत लॉटरी के माध्यम से किया गया है, जिन्हें बिहार में उद्यमी योजना के तहत उद्यम शुरू करने के लिए 5 लाख रुपये और 5 लाख रुपये का अनुदान दिया जाएगा। इस तरह हर चयनित उद्यमी को राज्य सरकार की ओर से 10 लाख रुपए मिलेंगे

मुख्यमंत्री उद्यमी योजना

बिहार सरकार ने यह योजना अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों के लिए शुरू की है। इस योजना के तहत सरकार द्वारा उद्योग स्थापित करने के लिए 10 लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। उद्योग को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने यह योजना शुरू की है। बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के माध्यम से बेरोजगारी दर में कमी आएगी और अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के नागरिकों को आर्थिक सहायता मिलेगी। जिससे वह अपना उद्योग शुरू कर सकें। बिहार सरकार ने बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के लिए 102 करोड़ का बजट रखा है।

‘मुख्यमंत्री उद्यमी योजना’ बिहार की सबसे बड़ी विशेषता है इसका लचीलापन। सरकार आपको अधिकतम 10 लाख का ऋण दे सकती है। इसमें से पांच लाख रुपये सरकार माफ करेगी। बाकी के पांच लाख रुपये 84 किश्तों में लौटाने होंगे.

बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के अंतर्गत चयन प्रक्रिया

Mukhyamantri Udyami Yojana के तहत उद्योग विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव की अध्यक्षता में 11 सदस्यीय समिति के माध्यम से चयन प्रक्रिया की जायेगी. इस योजना के अंतर्गत आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन होगी। जिसके लिए पोर्टल की शुरुआत की जाएगी। चयन के लिए दिशा-निर्देश भी सरकार की ओर से जारी कर दिए गए हैं। बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के तहत आवेदन के साथ ही सभी उद्यमियों को अपनी परियोजना रिपोर्ट और राशि की जानकारी देनी होगी. इसके बाद कमेटी द्वारा प्रोजेक्ट और राशि का मूल्यांकन किया जाएगा।

computerized randomization प्रक्रिया के माध्यम से किया गया चयन

मुख्यमंत्री उद्यमिता योजनाओं के लाभार्थियों के चयन हेतु चयन समिति की बैठक पटना के गांधी मैदान स्थित ऐडा के सभागार में सुबह 11 बजे शुरू हुई और दोपहर तक 16000 लाभार्थियों के चयन की प्रक्रिया पूरी हो गयी। दावा किया गया है कि लाभार्थियों का चयन पूरी पारदर्शिता के साथ होगा। पूरी चयन प्रक्रिया को लाइव टेलीकास्ट किया गया है ताकि कोई भी और कहीं भी चयन प्रक्रिया को देखने में सहज हो सके

बताया जाता है कि Mukhyamantri Udyami Yojana के 16000 हितग्राहियों के चयन हेतु प्रथम जिलों में प्राप्त कुल 62,324 आवेदनों की दो स्तरों पर जांच की गयी. सभी प्रकार से योग्य पाए गए कुल 42,477 आवेदनों के डेटा को चयन प्रक्रिया शुरू होने से कुछ समय पहले एनआईसी द्वारा विकसित एक विशेष सॉफ्टवेयर में स्थानांतरित कर दिया गया था। तत्पश्चात कम्प्यूटरीकृत रेंडमाइजेशन प्रक्रिया के माध्यम से सभी श्रेणियों के पात्र आवेदनों के स्थान सूची में परिवर्तन कर 16000 सफल अभ्यर्थियों का कम्प्यूटरीकृत लाटरी के माध्यम से चयन किया गया। इन सभी अभ्यर्थियों के स्थल निरीक्षण के बाद उनसे डीपीआर ली जाएगी और गहन जांच के बाद उन्हें सरकार द्वारा ऋण राशि दी जाएगी

1 लाख 60 हजार लोगों को रोजगार

उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने कहा कि तीन उद्यमिता योजनाओं, मुख्यमंत्री अनुसूचित जाति, जनजाति और अत्यंत पिछड़ा उद्यमी योजना, मुख्यमंत्री महिला उद्यमी योजना और मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के सभी चयनित और सफल 16000 उम्मीदवारों ने कहा कि उन्हें पूरा विश्वास है कि सभी सफल उम्मीदवारों को आने वाले दिनों में सफलता मिलेगी। हम बड़े उद्यमी बनकर प्रदेश के भाग्य को संवारने का काम करेंगे।

उन्होंने कहा कि यदि सभी 16000 उम्मीदवार अपने उद्यम में कम से कम 10 को रोजगार देने में सफल होते हैं तो बिहार में एक साल में सिर्फ 1 लाख 60 हजार लोगों को ही रोजगार मिलेगा. उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि इस योजना के तहत बिहार में उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए हर साल हजारों आवेदकों को निरंतर प्रक्रिया के तहत ऋण और अनुदान मिलेगा और आने वाले कुछ वर्षों में इस योजना से लाखों नौकरियों का सृजन होगा

अगले साल दोबारा कर सकते हैं आवेदन

उद्योग विभाग का दावा है कि Mukhyamantri Udyami Yojana चयन प्रक्रिया पूरी तरह पारदर्शी है, साथ ही विभाग के सभी वरिष्ठ अधिकारियों, बिहार के सभी प्रमुख उद्योग संगठनों, महिला उद्योग संगठनों के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में लाइव कैमरे के सामने चयन प्रक्रिया पूरी की जिन आवेदकों का आवेदन खारिज हो गया है उन्हें भी निराश होने की जरूरत नहीं है। वे अगले वर्ष दोबारा आवेदन कर सकेंगे।

आवेदन करने के लिए योग्यता

अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अति पिछड़ा वर्ग, महिला एवं युवा उद्यमी इस योजना के तहत आवेदन कर सकते हैं। इन सभी श्रेणियों के उद्यमियों के लिए पात्रता इस प्रकार है।

  • आवेदक बिहार का स्थायी निवासी हो।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए चालू खाते का होना अनिवार्य है।
  • प्रोपराइटरशिप फर्म उद्यमी द्वारा अपने निजी पैन पर किया जा सकता है।
  • आवेदक की उम्र 18 से 50 वर्ष के बीच हो
  • आवेदकों के पास 10 + 2 या इंटरमीडिएट, आईटीआई, पॉलिटेक्निक, डिप्लोमा या समकक्ष योग्यता होनी चाहिए।
  • आवेदक अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, सर्वाधिक पिछड़ा वर्ग, महिला या युवा वर्ग से होना चाहिए

महत्त्वपूर्ण दस्तावेज़

अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अति पिछड़ा वर्ग, महिला एवं युवा उद्यमियों के लिए आवेदन करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज इस प्रकार हैं।

  • निवास प्रमाण पत्र
  • मैट्रिक प्रमाण पत्र
  • इंटरमीडिएट या समकक्ष योग्यता प्रमाणपत्र
  • सिग्नेचर सैंपल
  • पैन कार्ड
  • आधार कार्ड
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • जाति प्रमाण पत्र (पिता के नाम से)
  • सबूत के साथ चालू खाता जारी करने की तारीख

बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

सबसे पहले आपको उद्योग विभाग बिहार की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा। बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करना होगा। एक नया पेज खुलेगा, इस पेज पर आपको जानकारी भरनी है। गेट ओटीपी के ऑप्शन पर क्लिक करें। अब आपको OTP बॉक्स में OTP डालना है और वेरीफाई पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपकी मेल आईडी पर लॉग इन और पासवर्ड भेजा जाएगा।

आपको इस लॉग इन पासवर्ड के जरिए लॉग इन करना होगा। इसके बाद आपके सामने एप्लीकेशन फॉर्म खुल जाएगा। आपको आवेदन पत्र में पूछी गई निम्न जानकारी दर्ज करनी होगी सबसे पहले आपको अपनी व्यक्तिगत जानकारी दर्ज करनी होगी और सेव ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। अब आपको अपनी शिक्षा का विवरण दर्ज करना है और आपको प्रवीणता प्रशिक्षण पाठ्यक्रम जोड़ें के विकल्प पर क्लिक करना है। अब आपको अपनी फैमिली डिटेल्स डालनी है। इसके बाद आपको संस्था की जानकारी भरनी है और सेव पर क्लिक करना है

अगर आप अपने संगठन या संस्था में प्रमोटर, डायरेक्टर या पार्टनर को जोड़ना चाहते हैं तो आपको एड प्रमोटर/डायरेक्टर/पार्टनर के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
इसके बाद आपको प्रोजेक्ट की डिटेल्स भरनी होगी। अब आपको फाइनेंस स्टेटमेंट का फॉर्म भरना है। अब आपको बैंक डिटेल्स डालनी है। उसके बाद आपको अपने Documents Upload करने होंगे अब आपको सबमिट करने से पहले Verify Form Data के विकल्प पर क्लिक करना है। चेक करने के बाद आपको नीचे दिए गए सभी विवरण के सत्यापन विकल्प पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपको सबमिट फॉर्म के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

अब आपको डिक्लेरेशन पर टिक करना होगा। इसके बाद आपको फाइनल सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करना है। इस तरह आप बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के तहत आवेदन कर पाएंगे।

सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनओं को जानने के लिए sarkariiyojana.in बुकमार्क जरूर करें

close button