NREGA Job Card लिस्ट 2022: नई MGNREGA कार्ड सूची, NREGA Card डाउनलोड

NREGA Job Card: 2021-22 में ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के तहत जारी किए गए सक्रिय जॉब कार्ड और कामगारों की संख्या पिछले वित्तीय वर्ष के समान ही रही है, यह दर्शाता है कि महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना पर दबाव अधिक बना हुआ है और श्रमिकों को अभी भी काम करना बाकी है

2020 में महामारी के कारण राष्ट्रव्यापी तालाबंदी के कारण इस योजना के तहत काम की मांग में उल्लेखनीय वृद्धि हुई क्योंकि लाखों श्रमिक ग्रामीण भारत में वापस चले गए और मनरेगा के तहत काम की मांग बढ़ गई

NREGA Job Card

मनरेगा के तहत सक्रिय श्रमिकों की संख्या 2021-22 और 2020-21 में 15.11 करोड़ रही, जबकि 2019-20 में यह 15.03 करोड़ थी ! वास्तव में, 2021-22 में जारी सक्रिय जॉब कार्ड 2020-21 में 9.45 करोड़ और 2019-20 में 8.12 करोड़ की तुलना में 9.81 करोड़ से थोड़ा अधिक है ! रोजगार चाहने वालों के जॉब कार्ड सक्रिय जॉब कार्ड में गिने जाते हैं। अलग से सक्रिय जॉब कार्ड जारी नहीं किए जाते हैं।’

एक परिवार में एक सक्रिय जॉब कार्ड (active job card) में एक से अधिक सक्रिय कार्यकर्ता हो सकते हैं अर्थात सक्रिय श्रमिकों की संख्या (number of active workers) सक्रिय जॉब कार्ड की संख्या (Number of active job cards) से अधिक हो सकती है

नरेगा योजना की लिस्ट ऑफलाइन मोड़ में देखने के लिए क्या करे ?

नरेगा योजना की लिस्ट में आप अपना नाम सूची में ऑफलाइन नहीं देख सकते हैं हालांकि आप ग्राम प्रधान से इसके लिए आवेदन कर सकते हैं।

NREGA Job Card लिस्ट में अपना नाम ऐसे देखें?

सबसे पहले आप महात्मा गाँधी नरेगा योजना की आधिकारिक वेबसाइट nrega.nic.in पर जाएँ। राइट साइडबार मैं आपको “Job Cards” का ऑप्शन दिखेगा आपको उसपर क्लिक करना है।

उसके बाद आप जिस राज्य से हैं उस राज्य पर क्लिक करें। राज्य पर क्लिक करते ही आपके सामने मनरेगा ग्राम पंचायत मॉड्यूल रिपोर्ट का एक फॉर्म खुल जायेगा। आपको फॉर्म में मांगी गयी जानकारी दर्ज करनी होगी। उसके बाद “Proceed” के बटन पर क्लिक कर दें। “Proceed” पर क्लिक करते ही आपकी स्क्रीन पर एक “List” आजायेगी जिसमे आपको अपना नाम ढूंढ़ना होगा और नाम से पहले “Job Card Number” पर क्लिक करना होगा।

क्लिक करते ही आपका नरेगा जॉब कार्ड आपके अगले पेज पर आ जायेगा। अब आप अपना जॉब कार्ड डाउनलोड भी कर सकते हैं।

नरेगा भुगतान प्रक्रिया और स्टेटस चेक

  • वे उम्मीदवार जिन्होंने मनरेगा के तहत अपना 100 दिन का काम पूरा कर लिया है, वे nrega.nic.in पर जाकर बैंक खातों के माध्यम से बैंक और उनके नरेगा कार्य भुगतान के विकल्प में जा सकते हैं।
  • उम्मीदवार को अपने बैंक पर क्लिक करना होगा, जिसके तहत उनका जॉब कार्ड सलंग्न है।
  • फिर उम्मीदवार को अपनी बैंक पासबुक दर्ज करनी होगी और सभी बैंक लेनदेन की जांच करें, यदि खाते में भुगतान आया है तो आप इसे जाँच सकते हैं।

नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट में अपना नाम ऐसे देखें [स्टेट-वाइज]

क्र.नंराज्यजॉब कार्ड का विवरण
1अंडमान और निकोबारविवरण देखें
2अरुणाचल प्रदेशविवरण देखें
3असमविवरण देखें
4बिहारविवरण देखें
5चंडीगढ़विवरण देखें
6छत्तीसगढ़विवरण देखें
7दादरा और नगर हवेलीविवरण देखें
8दमन और दीवविवरण देखें
9गोवाविवरण देखें
10गुजरातविवरण देखें
11हरियाणाविवरण देखें
12हिमाचल प्रदेशविवरण देखें
13जम्मू और कश्मीरविवरण देखें
14झारखंडविवरण देखें
15कर्नाटकविवरण देखें
16केरलविवरण देखें
17लक्षद्वीपविवरण देखें
18मध्य प्रदेशविवरण देखें
19महाराष्ट्रविवरण देखें
20मणिपुरविवरण देखें
21मेघालयविवरण देखें
22मिज़ोरमविवरण देखें
23नागालैंडविवरण देखें
24ओडिशाविवरण देखें
25पुदुच्चेरीविवरण देखें
26पंजाबविवरण देखें
27राजस्थानविवरण देखें
28सिक्किमविवरण देखें
29तमिलनाडुविवरण देखें
30त्रिपुराविवरण देखें
31उत्तर प्रदेशविवरण देखें
32उत्तराखंडविवरण देखें
33पश्चिम बंगालविवरण देखें

फंड रिलीज में देरी का कारण

केंद्र द्वारा फंड जारी करने में देरी के बारे में एक सवाल के जवाब में, मंत्री ने कहा, “कुछ राज्य फंड रिलीज के लिए ऑडिट रिपोर्ट और अन्य आवश्यक दस्तावेज जमा करने में देरी कर रहे हैं, जिसके परिणामस्वरूप फंड रिलीज में देरी हो रही है।” राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों को फंड जारी करना एक सतत प्रक्रिया है और केंद्र सरकार काम की मांग को ध्यान में रखते हुए धन उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है

गरीब कल्याण रोजगार अभियान

लोकसभा में एक अलग सवाल के जवाब में, ग्रामीण विकास राज्य मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने कहा कि गरीब कल्याण रोजगार अभियान (Garib Kalyan Rozgar Abhiyan) (GKRA) ने 39,293 करोड़ रुपये के कुल खर्च के साथ 50.78 करोड़ व्यक्ति दिवसों का रोजगार सृजन हासिल किया है। गरीब कल्याण रोजगार अभियान (GKRA) 20 जून, 2020 को 125 दिनों की अवधि के लिए शुरू किया गया था, जिसमें 50,000 करोड़ रुपये के संसाधन लिफाफे के साथ गांवों में लौटने वाले प्रवासी श्रमिकों और ग्रामीण क्षेत्रों में इसी तरह से प्रभावित नागरिकों के लिए रोजगार और आजीविका के अवसरों को बढ़ावा देने के लिए शुरू किया गया था

Garib Kalyan Rozgar Abhiyan के तहत, सरकार का इरादा बिहार, झारखंड, मध्य प्रदेश, ओडिशा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश जैसे छह राज्यों के 116 चयनित जिलों में संकटग्रस्त प्रवासियों को तत्काल रोजगार और आजीविका के अवसर प्रदान करना है।

सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं को जाने sarkariiyojana.in से और साइट को बुकमार्क जरूर करें

close button