PM Pension Yojana: मात्र 2 रूपये रोजाना बचा कर मिलेगी 36000 की पेंशन

Pension Yojana: कोरोना वायरस संक्रमण ने इतना कहर बरपाया कि तमाम फैक्ट्रियां बंद होने से लाखों लोगों की नौकरी चली गई. ऐसे में अब पैसा कमाना एक बड़ी समस्या बन गई है. हर कोई पैसा कमाना चाहता है, ताकि घर का खर्चा आसानी से चला सके। ऐसे में पीएम मोदी सरकार भी लोगों की मदद के लिए आगे आ रही है, जिससे लोगों का आर्थिक संकट दूर हो सके।

पीएम श्रम योगी मानधन योजना

इस बीच यदि आप पीएम किसान सम्मान निधि के लाभार्थी हैं तो यह खबर आपके बहुत काम की होने वाली है। सरकार इस योजना से जुड़े लोगों को बड़ा लाभ देने में लगी हुई है। सरकार पीएम श्रम योगी मानधन योजना संगठित क्षेत्र के कामगारों के लिए एक बेहतर योजना है. इस योजना के तहत ऐसे ही कई अन्य कार्यों में लगे असंगठित क्षेत्र से जुड़े रेहड़ी-पटरी वालों, रिक्शाचालकों, निर्माण श्रमिकों और मजदूरों को उनकी वृद्धावस्था सुरक्षित करने में मदद की जाएगी। इस योजना के तहत सिर्फ 2 रुपये प्रतिदिन की बचत कर आप सालाना 36000 रुपये पेंशन पा सकते हैंवहीं, इस स्कीम को शुरू करने पर आपको हर महीने 55 रुपये जमा करने होंगे। 18 साल की उम्र में प्रतिदिन लगभग 2 रुपये की बचत करके आप सालाना 36000 रुपये पेंशन पाएंगे अगर कोई 40 की उम्र से यह योजना में शुरुवात करता है तो उसे हर महीने सिर्फ 200 रुपये योजना में जमा करने होंगे

किन दस्तावेजों की होगी जरूरत?

Pension Yojana के तहत पंजीकरण के लिए इन तीन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी: 1. आधार कार्ड 2. आईएफएससी के साथ बचत या जन धन खाता 3. वैध मोबाइल नंबर

60 वर्ष की आयु पूरी होने पर 3000 रुपये प्रतिमाह पेंशन के रूप में मिलने लगेंगे यानि 36000 रुपये प्रति वर्ष मिलेंगे। वहीं इस योजना का लाभ लेने के लिए आपके पास एक सेविंग बैंक अकाउंट और आधार कार्ड होना चाहिए। व्यक्ति की उम्र 18 साल से कम और 40 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए

श्रम योगी मानधन योजना रजिस्ट्रेशन

इसके लिए आपको कॉमन सर्विस सेंटर में योजना के लिए पंजीकरण कराना होगा। कार्यकर्ता सीएससी केंद्र में पोर्टल पर अपना पंजीकरण करा सकते हैं। सरकार ने इस योजना के लिए वेब पोर्टल बनाया है। इन केंद्रों के जरिए ऑनलाइन सारी जानकारी भारत सरकार के पास जाएगी। वहीं रजिस्ट्रेशन के लिए आपको अपने आधार कार्ड, सेविंग्स या जनधन बैंक अकाउंट की पासबुक, मोबाइल नंबर की जरूरत होगी. इसके साथ ही एक सहमति पत्र भी देना होगा जो उस बैंक शाखा में भी देना पड़ेगा जहां कर्मचारी का बैंक का खाता होगा, ताकि समय पर पेंशन हेतु पैसा उसके बैंक खाते से काटा जा सके

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन पेंशन योजना के तहत कोई भी असंगठित क्षेत्र का कर्मचारी, जिसकी उम्र 40 वर्ष से कम है और किसी सरकारी योजना का लाभ नहीं ले रहा है, लाभ ले सकता है। आपको बता दें कि इस योजना में आवेदन करने वाले व्यक्ति की मासिक आय 15 हजार रुपए से कम होनी चाहिएइसके तहत ऐसे लोगों को 60 साल की उम्र के बाद हर महीने न्यूनतम 3,000 रुपये पेंशन मिलेगी। साथ ही अगर पेंशन पाने के दौरान लाभार्थी की मृत्यु हो जाती है तो उसकी पेंशन राशि का 50 फीसदी उसके पति या पत्नी को पेंशन के तौर पर दिया जाएगा।

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक देश में लगभग 42 करोड़ लोग असंगठित क्षेत्र में काम करते हैं। ऐसे लोगों के पास इस योजना का लाभ लेने का मौका है। आंकड़ों के मुताबिक छह मई तक करीब 64.5 लाख लोगों ने इसमें अपना पंजीकरण कराया है।

कौन फायदा नहीं उठा सकता है?

संगठित क्षेत्र में कार्यरत व्यक्ति या कर्मचारी भविष्य निधि (EPFO), राष्ट्रीय पेंशन योजना (NPS) या राज्य कर्मचारी बीमा निगम (ESIC) के सदस्य या आयकर का भुगतान करने वाले व्यक्ति इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं।

टोल फ्री नंबर से प्राप्त करें जानकारी

इस योजना के लिए श्रम विभाग के कार्यालय एलआईसी, ईपीएफओ को सरकार द्वारा श्रमिक सुविधा केंद्र बनाया गया है। श्रमिक यहां जाकर योजना की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। योजना के लिए सरकार ने टोल फ्री नंबर 18002676888 जारी किया है। आप इस नंबर पर कॉल कर भी योजना की जानकारी ले सकते हैं।

सरकार की योजनाओं की जानकारी के लिए sarkariiyojana.in को बुकमार्क जरूर करें

close button