PM Kisan Scheme Rules Changed: जरूरी होगा राशन कार्ड, जानें नए नियमों को

PM Kisan Scheme Rules Changed (योजना के लिए जरूरी होगा राशन कार्ड) : केंद्र सरकार ने योजना के लिए पंजीकरण कराने के लिए लाभार्थी के पास राशन कार्ड होना अनिवार्य कर दिया है। देश भर में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में तेजी से बढ़ रही धोखाधड़ी पर लगाम लगाने के लिए केंद्र ने हाल ही में योजना के लिए पंजीकरण के लिए जरूरी दस्तावेजों में बदलाव किया है।

अगर आप भी पीएम किसान योजना में रजिस्ट्रेशन कराना चाहते हैं तो अब आपके पास राशन कार्ड होना जरूरी है. बिना राशन कार्ड के आप इस योजना में पंजीकरण नहीं कर सकते हैं।

नए पंजीकरण के लिए जरूरी होगा राशन कार्ड

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, केंद्र सरकार ने योजना के लिए पंजीकरण PM Kisan Samman Nidhi Yojana Registration 2021 करने के लिए लाभार्थी के लिए राशन कार्ड होना अनिवार्य कर दिया है। इसके अलावा, लाभार्थियों को आवश्यक दस्तावेजों की एक सॉफ्ट कॉपी पोर्टल पर जमा करनी होगी। उक्त परिवर्तनों के बिना, आवेदक योजना के लिए पंजीकरण नहीं कर पाएगा।

पीएम किसान योजना के तहत पंजीकरण करने और योजना के तहत सरकार द्वारा प्रदान किए जाने वाले लाभों को प्राप्त करने के लिए आवेदक को अपना राशन कार्ड नंबर अपलोड करना होगा। साथ ही, आवेदक को आधार कार्ड, बैंक पासबुक और डिक्लेरेशन फॉर्म सहित आवश्यक दस्तावेजों की स्कैन कॉपी भी अपलोड करनी होगी। यह कदम देश भर में धोखाधड़ी की गतिविधियों को समाप्त करने और एक सुगम और आसान पंजीकरण प्रक्रिया के लिए एक प्रारंभिक कदम है।

PM Kisan Scheme 10th Installment Date

केंद्र ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत 10वीं किस्त जारी करने की तिथि भी तय कर दी है। 15 दिसंबर, 2021 तक लाभार्थी के खाते में किस्त हस्तांतरित करने के लिए सभी आवश्यक व्यवस्था की गई है। जो PM Kisan Scheme के तहत लाभ लेना चाहते हैं, वे पहले से पंजीकरण कराएं। सरकार ने पिछले साल 25 दिसंबर 2020 को किसानों को पैसे ट्रांसफर किए थे.

पीएम किसान योजना के अंतर्गत किसानों को सालाना 6,000 रुपये सरकार की तरफ से दिए जाते हैं जो कि केंद्र सरकार लाभार्थी किसान के खाते में ऑनलाइन माध्यम से ट्रांसफर की जाती है यदि आप पात्रता में पूरी तरह से सही हैं लेकिन PM Kisan Scheme के तहत अभी तक registration पंजीकृत नहीं किया है , तो चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है आप आसानी से प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत पंजीकरण कर सकते हैं।

अब बिना राशन कार्ड के आप PM Kisan Scheme 2000 रुपये का लाभ नहीं उठा पाएंगे। अब जो कोई भी इस योजना में नया पंजीकरण करवाएगा उसे राशन कार्ड का नंबर देना होगा। आपको बता दें कि इस योजना के तहत सरकार किसानों को सालाना 6000 रुपये की वित्तीय सहायता देती है।

पीडीएफ के रूप में अपलोड करने होंगे दस्तावेज

अगर आप पहली बार पीएम किसान योजना के तहत रजिस्ट्रेशन करते हैं तो आपको राशन कार्ड नंबर अपलोड करना होगा। इसके साथ ही आपको इसकी पीडीएफ भी अपलोड करनी होगी। केंद्र सरकार ने अब खतौनी, आधार कार्ड, बैंक पासबुक और डिक्लेरेशन फॉर्म की हार्डकॉपी की अनिवार्यता को पूरी तरह से समाप्त कर दिया है। यानी अब आपको अपने दस्तावेजों को हार्डकॉपी की जगह पीडीएफ के तौर पर अपलोड करना होगा। केंद्र सरकार के इस कदम से धोखाधड़ी पर रोक लगेगी, साथ ही रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया भी बेहद आसान हो जाएगी.

सभी State and Central Government Schemes, Sarkari Result, exams और latest news update प्राप्त करने के लिए sarkariiyojana.in को बुकमार्क कीजिये । 

1 thought on “PM Kisan Scheme Rules Changed: जरूरी होगा राशन कार्ड, जानें नए नियमों को”

  1. बड़ा आश्चर्य और हँसी आती है सरकार के काम काज और घोषणाओं पर, माननीय प्रधानमंत्री जी ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का हवाला देते हुए कहा था कि पैसा सही हाथों में नहीं पहुँचता लेकिन मैंने ऐसी व्यवस्था की है कि पैसा पूरा और सही हाथों में पहुँचेगा कोई भ्रष्टाचार नहीं, किन्तु इस महत्वाकांक्षी योजना ने अब तक उन सब बातों को निरर्थक सिद्ध कर दिया है लगभग होने वाले तीन सालों में स्वयं सरकार सिद्ध कर रही है कि बहुत सारा पैसा गलत हाथों में गया और जा रहा है और बहुत सारे पात्र किसान वंचित अभी तक हैं और वे वंचित ही बने रहेंगे यदि सही सही आकलन किया जाए तो पता चलेगा कि माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा घोषित संख्या 14.5 करोड़ किसानों के सही मायनों में पात्र आधे 7.25 करोड़ किसानों को भी सरकार आज तक लाभ की तो छोड़िए ढूँढ़ निकालने में भी सरकार असफल रही है ये है इनकी कार्य शुचिता और दक्षता। पहले इन्होंने आधार कार्ड की अनिवार्यता की अब आधार बेकार हो गया राशनकार्ड अब सही दस्तावेज लग रहा है लेकिन इन्हें शायद ये भी पता नहीं कि एक बड़ी संख्या में राशनकार्ड फर्जी हैं, किन्तु असल मकसद यह लगता है कि कम से कम लोगों को लाभ देकर अधिक से अधिक पब्लिसिटी हासिल हो इसीलिए रोज रोज बड़े जोर शोर से प्रचार किया जाता है और रोज़ नए नए पैंतरे बदले जाते हैं। खैर आप सरकार हैं आप जो भी करेंगे वही ठीक होगा, वैसे अधिकांश जनता इनके स्तर को पहिचानने लगी है और जल्द ही सारा देश पहिचान जाएगा।

Comments are closed.