Pulitzer Prize 2022 : दिवंगत दानिश सिद्दीकी को मिला दूसरा पुलित्जर पुरस्कार, जानें इनका जीवन

Pulitzer Prize 2022 : दिवंगत हुए फोटो जर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी (Photo Journalist Danish Siddiqui) सहित 4 भारतीयों को फीचर फोटोग्राफी श्रेणी में पुलित्जर पुरस्कार 2022 (Pulitzer Prize 2022) से सम्मानित किया गया। 38 वर्षीय दानिश सिद्दीकी पिछले साल अफगानिस्तान में कंधार के स्पिन बोल्डक जिले में अफगान सैनिकों और तालिबान के बीच संघर्ष को कवर करते हुए मारे गए थे।

Pulitzer Prize 2022 दानिश सिद्दीकी समेत 4 लोगों को चुना

रॉयटर्स समाचार एजेंसी के सिद्दीकी और उनके सहयोगियों अदनान आबिदी, सना इरशाद मट्टू और अमित दवे को पुलित्जर पुरस्कार 2022 (Pulitzer Prize 2022) के चुना गया है। यह दूसरी बार है फोटो जर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी को प्रतिष्ठित पुलित्जर पुरस्कार 2022 से सम्मानित किया गया है। रोहिंग्या संकट को कवरेज करने के लिए 2018 में इन्हें प्रतिष्ठित पुलित्जर पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

Pulitzer Prize 2022 दानिश सिद्दीकी को 2018 में भी मिला

यह दूसरी बार है जब सिद्दीकी ने पुलित्जर पुरस्कार (Pulitzer Prize 2022) जीता है। रोहिंग्या संकट के कवरेज के लिए रॉयटर्स टीम के हिस्से के रूप में उन्हें 2018 में प्रतिष्ठित पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। दानिश सिद्दीकी ने अफगानिस्तान संघर्ष, हांगकांग विरोध और एशिया, मध्य पूर्व और यूरोप की अन्य प्रमुख घटनाओं को व्यापक रूप से कवर किया था।

दानिश सिद्दीकी का करियर

दिवंगत फोटो जर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी ने जामिया मिलिया इस्लामिया, दिल्ली से अर्थशास्त्र में स्नातक की उपाधि प्राप्त की। उन्होंने 2007 में जामिया में एजेके मास कम्युनिकेशन रिसर्च सेंटर से मास कम्युनिकेशन में डिग्री भी हासिल की थी। एक टेलीविजन समाचार संवाददाता के रूप में अपना करियर शुरू करने वाले सिद्दीकी ने फोटो जर्नलिज्म की ओर रुख किया और 2010 में एक इंटर्न के रूप में रॉयटर्स में शामिल हो गए। उन्होंने अपने अपार फोटोग्राफिक कौशल के लिए मीडिया में कई पुरस्कार जीते।

यूक्रेनी पत्रकारों को रूसी आक्रमण को कवर करने के लिए 2022 के पुलित्जर पुरस्कार (Pulitzer Prize) विशेष प्रशस्ति पत्र से भी सम्मानित किया गया। पत्रकारिता के शीर्ष सम्मानों के जूरी सदस्यों ने कैपिटल पर 6 जनवरी के हमलों, अफगानिस्तान से वापसी और फ्लोरिडा में सर्फसाइड कॉन्डोमिनियम के पतन के कवरेज को भी मान्यता दी।

close button