Notifications
×
Subscribe
Unsubscribe

Solar Pump Subsidy: छतों पर सौर पैनल लगवाते समय धोखेबाजी से बचने के लिए सरकार ने दी चेतावनी

Solar Pump Subsidy: नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय ने कुछ दिन पहले यह जानकारी दी है कि मंत्रालय ने छतों पर सौर पैनल लगाने के लिए किसी भी विक्रेता या आपूर्तिकर्ता को अधिकृत नहीं किया है। कुछ समय पहले यह खबर आयी थी कि कुछ वेंडर छतों पर सौर पैनल लगाने के लिए खुद को ऊर्जा मंत्रालय की तरफ से अधिकृत बता रहे हैं। ग्रिड से जुड़ी रूफटॉप सौर योजना के दूसरे चरण में छतों पर सौर पैनल लगाए जा रहे हैं। इसके अलावा ऊर्जा मंत्रालय ने उपभोक्ताओं को बिजली वितरण कंपनियों की तरफ से तय की गयी दरों पर भुगतान करने की सलाह दी है।

3 किलोवाट तक बिजली पर मिलेगी 40% सब्सिडी

बिजली वितरण कंपनियां निविदा प्रक्रिया के द्वारा वेंडरों को अपने पैनल में शामिल करती हैं और साथ ही छतों पर सौर पैनल लगाने की दरें भी निर्धारित करती हैं। रूफटॉप सौर योजना के तहत तीन किलोवाट बिजली पर 40% सब्सिडी दी जारी है और 3 किलोवाट से लेकर 10 किलोवाट तक बिजली पर 20% सब्सिडी की दर निर्धारित की गयी है। इस योजना का संचालन विभिन्न राज्यों में स्थानीय बिजली वितरण कंपनियों के माध्यम से किया जा रहा है। विभिन्न राज्यों में इस योजना का कार्यान्वयन वितरण कंपनियां कर रही हैं, साथ ही निविदा के माध्यम से विक्रेता और आपूर्तिकर्ता को अपने साथ शामिल किया गया है। इसके अलावा सौर पैनल लगाने की दर भी वितरण कंपनियों द्वारा निर्धारित की गयी हैं।

कौन कर सकते हैं ऑनलाइन आवेदन ?

जो भी लोग अपने घरों की छतों पर सौर पैनल लगवाना चाहते हैं, वे सभी लोग ऑनलाइन माध्यम से आवेदन कर सकते हैं। छतों पर सौर पैनल केवल पैनल में शामिल वेंडर ही पैनल लगा सकते हैं। सौर पैनल से जुडी किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए संबंधित वितरण कंपनियों के पोर्टल पर जाकर जानकारी ले सकते हैं। ऊर्जा मंत्रालय ने यह भी जानकारी दी कि कुछ वेंडर खुद को वितरण कंपनियों की तरफ से आये हुए बता कर निर्धारित दरों से अधिक शुल्क वसूल कर घरेलू उपभोक्ताओं के साथ धोखाधड़ी कर रहे हैं। मंत्रालय ने यह भी कहा कि वितरण कंपनियों को ऐसे फर्जी वेंडरों की जानकारी मिलने पर उन्हें दंडित करने का निर्देश दिया है।

सरकार के द्वारा चलाई गई योजनाओं को sarkariiyojana.in से जानें और साइट को बुकमार्क जरूर करें .

close button