Solar Rooftop Subsidy 2021: सरकारी सब्सिडी पर घर की छत पर सोलर पैनल लगवाने की सम्पूर्ण प्रक्रिया

सरकारी सब्सिडी पर घर की छत पर लगवाएं सोलर पैनल Solar Rooftop Subsidy स्कीम: आने वाले समय में सौर ऊर्जा और परमाणु ऊर्जा के जरिए बड़े स्तर पर ऊर्जा की खपत होगी। ऐसे में भारत धीरे-धीरे जीवाश्म ईंधन से नवीकरणीय ऊर्जा की ओर जा रहा है। इसी को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार द्वारा वन सन वन वर्ल्ड वन ग्रिड (ओसोवोग) one sun one world one grid (osowog) प्रोजेक्ट की शुरुआत की गई थी, जिसका लक्ष्य भारत में बड़े पैमाने पर सौर ऊर्जा का उत्पादन करना है। सरकार का उद्देश्य देश को बिजली उत्पादन के स्तर पर आत्मनिर्भर बनाना है।

इस प्रोजेक्ट के तहत सरकार अफ्रीका के कई देशों को ग्रिड के जरिए बिजली का निर्यात भी करेगी। इसके अलावा भारत सरकार देश में सोलर एनर्जी को बढ़ावा देने के लिए अपने स्तर पर कई योजनाएं चला रही है। इस कड़ी में आज हम सोलर रूफटॉप योजना के बारे में बात करने जा रहे हैं। इसके तहत आप सरकार की तरफ से दी जाने वाली सब्सिडी Solar Rooftop Subsidy की मदद से अपनी छत पर सोलर पैनल लगवा सकते हैं।

सोलर रूफटॉप योजना 2021

सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना भारत सरकार की देश में सौर ऊर्जा के उपयोग को प्रोत्साहित करने की योजना है। यह योजना निश्चित रूप से देश में अक्षय ऊर्जा के रोजगार को प्रोत्साहित करेगी क्योंकि सरकार उपभोक्ताओं को सोलर रूफटॉप प्रतिष्ठानों पर सब्सिडी Solar Rooftop Subsidy प्रदान करती है।

इस योजना की शुरुआत भारत सरकार के अक्षय ऊर्जा मंत्रालय द्वारा की गई है। 3KW तक के सोलर रूफटॉप पैनल लगाने पर आपको सरकार की ओर से 40 फीसदी तक सब्सिडी मिलेगी। वहीं 3KW के बाद 10KW तक की 20 फीसदी सब्सिडी आपको केंद्र सरकार देगी.

सोलर पैनल लगाने में कितना खर्च आएगा

आप आसानी से 5 से 6 वर्षों में भुगतान कर देंगे। इसके बाद 19 से 20 साल तक आपको मुफ्त बिजली मिलेगी। इसके अलावा आप इस योजना की मदद से अपने ऑफिस और फैक्ट्रियों की छत पर सोलर पैनल भी लगा सकते हैं। यह सब्सिडी घरेलू, औद्योगिक और सामाजिक क्षेत्र यानी अस्पतालों, शैक्षणिक संस्थानों आदि के लिए लागू होती है। साथ ही वाणिज्यिक क्षेत्र भी इस योजना का लाभ ले सकते हैं।

इस सौर ऊर्जा प्रणाली का उपयोग करने वालों को केवल रु. 6.50 / kWh का भुगतान करना पड़ता है जो कि डीजल जनरेटर और सामान्य बिजली की तुलना में बहुत कम है। प्रति वर्ष लगभग 60 मिलियन टन कार्बन डाइऑक्साइड की कमी के परिणामस्वरूप इस योजना के कार्यान्वयन से मौसम को रक्षात्मक बनाने में मदद मिलती है। तो आखिरकार यह पर्यावरण और स्वास्थ्य दोनों के लिए सुरक्षित है।

सोलर रूफटॉप योजना आवेदन प्रक्रिया

  • सोलर रूफटॉप योजना ऑफिसियल वेबसाइट में आवेदन करने के लिए आपको जाना होगा
  • अब आपको होम पेज पर अप्लाई फॉर सोलर रूफटॉप के विकल्प पर क्लिक करना होगा
  • अपने राज्य को सेलेक्ट करना है
  • इतना करने के बाद आपकी स्क्रीन पर सोलर रूफ के लिए एप्लीकेशन फॉर्म Application Form for Solar Rooftop खुल जाएगा
  • आपको वहां अपनी सभी आवश्यक जानकारी दर्ज करनी होगी और सबमिट विकल्प पर क्लिक करना होगा
  • यह प्रक्रिया करने के बाद आपका आवेदन स्वीकार किया जाएगा

Solar Rooftop Subsidy स्कीम के लाभ

चूंकि यह प्रणाली छत पर स्थापित है इसलिए बिजली पैदा करने के लिए भूमि क्षेत्र की आवश्यकता होती है। काम को आसान बनाएं क्योंकि उपभोक्ता को ग्रिड पावर पर निर्भर होने की आवश्यकता नहीं है। साथ ही सोलर रूफ टॉप सिस्टम डीजल जेनरेटर के उपयोग को कम करता है और इसलिए पर्यावरण को बचाता है। सोलर रूफटॉप सिस्टम व्यावसायिक संगठन के लिए सबसे उपयुक्त है क्योंकि पीक उपयोग समय की अवधि के लिए अधिकतम उत्पादन कर सकता है

राज्य एवं केंद्र सरकार की योजनाएं और सभी लेटेस्ट जानकारी जानने के लिए sarkariiyojana.in को बुकमार्क करें

Leave a Comment