Subsidy Offer 2022: टूटने वाले है सारे रिकॉर्ड,75% सब्सिडी का ऑफर, पपीता की खेती में मिलेगा ज़बरदस्त फायदा

Subsidy Offer 2022: पपीता पूरी तरह से पौष्टिक और उपयोगी फल है।किसान अपने दम पर या अमरूद, आम और नींबू के पेड़ों के बीच में ही पपीता विकसित कर सकते हैं।पपीता को घर के आंगन में भी उगाया जा सकता है।पपीता लगाने के 12 महीने के 1/2 महीने बाद परिणति आने लगती है।कम समय, कम क्षेत्रफल, अधिक उपज और कम लागत में अधिक लाभ के कारण पिछले कुछ वर्षों में जिले के किसानों का रुझान पपीते की खेती की ओर बढ़ा है।पपीता एक प्रसिद्ध फल है, इसके अलावा पपैन एंजाइम इसकी कच्ची परिणति से प्राप्त होता है। इसकी खेती को बेचने के लिए सरकार मुख्यमंत्री उद्यान मिशन के तहत प्रस्ताव भी दे रही है।

Subsidy Offer

Solar Rooftop Scheme: न Powercut…न बिल भरने का Tension, सरकारी Subsidy से छत पर बनाएं बिजली

75% subsidy Scheme (75% सब्सिडी का ऑफर)

Papaya Farming in India: एक हेक्टेयर में पपीते को उगाने में 60 हजार रुपये का खर्च आता है।जिसमें 50 फीसदी तक सब्सिडी दी जा रही है| किसानों को आपूर्ति किश्तें मिलती हैं।किसानों के खाते में पहली किश्त 22 हजार 500 रुपये (आपूर्ति राशि का 75 फीसदी) और दूसरी किस्त 7 हजार 500 रुपये भेजी जा सकती है|

Solar Panel Scheme Subsidy

दोमट व बलुई दोमट भूमि पपीते के लिए बढ़िया रहती है

Papaya Production Field: पपीते के लिए,दोमट और रेतीली दोमट मिट्टी,जो स्पष्ट रूप से ठीक जल निकासी पर निर्भर करती है, यह पपीते के लिए आदर्श मिट्टी है।पपीते की खेती के लिए शुष्क और अर्ध-शुष्क क्षेत्र उपयोगी होते हैं।मधु, बिंदू, कुर्म, शहद, पूसा स्वादिष्ट, पूसा ड्वाफे, पूसा नन्हा, सीओ -7 कुछ एक पारंपरिक किस्में हैं। इसके अलावा सूर्य, मयूरी, पिंक प्लेस्ड प्रमुख संकर किस्में हैं।

Tractor Subsidy Yojana : सब्सिडी पर खरीदें ट्रैक्टर, 5 सितंबर तक करें आवेदन

Papaya Farming in India (पपीता की खेती पर सब्सिडी)

Subsidy on Papaya Cultivation: जून के महीने में खेत में मीटर की दूरी पर 50 x 50 x 50 सेमी। गड्ढों को खोदकर उन्हें समान मात्रा में गोबर की खाद और मिट्टी से भर दें और सिंचाई करें ताकि मिट्टी जम जाए। जुलाई के महीने में गड्ढे के अंदर रोपण 25 से 10 सेंटीमीटर तक पॉलीथिन लगाएं। लिफाफे के अंदर बालू और गोबर की समान मात्रा भरकर भी समान लिफाफे में तीन बीज डालकर व्यवस्थित किया जा सकता है। एक स्वस्थ पौधे को बड़े होने के बाद उसे एक लिफाफे में रखें।

PM Solar Rooftop Subsidy Scheme 2022: आज ही लगवाएं सोलर पैनल, ये हैं आवेदन के नियम

इस तरह करें पपीता की खेती (Papaya Production) जुलाई माह में दो पौधे जरुर लगाएं

Papaya Production: एक एकड़ के लिए 125 ग्राम बीज पर्याप्त पपीते के फूलों को बीज के माध्यम से व्यवस्थित किया जाता है।एक एकड़ में पौधे रोपने के लिए 40 आयताकार मीटर रोपण स्थान और 125 ग्राम बीज पर्याप्त होता है।हर गड्डे में अच्छी तरह सड़ी हुई गोबर की खाद मिलाकर पानी लगाने से 15-20 दिन पहले निकाल दें।बीज को प्रति किलो बीज के हिसाब से तीन ग्राम कैप्टन औषधि की दर से उपचारित कर 15 सेमी की दूरी पर,गहरी बुवाई करें।रोग से बचाव के लिए 200 ग्राम कैप्टन औषधि को 100 लीटर पानी में मिलाकर छिड़काव करें।

अब पानी को पौधे के तने के पास न जाने दें: गर्मी के मौसम में हर हफ्ते और सर्दियों में 15-20 दिनों के बाद सिंचाई करें। अब पानी को पौधे के तने के पास न आने दें पपीते में फूल आने के बाद नर और मादा फूलों को सबसे अच्छी तरह से पहचाना जाता है,फिर 10 प्रतिशत नर फूलों को खेत के भीतर एक-एक करके रखते हुए, अंतिम नर फूलों को हटा दिया जाता है।पौधे के अनुरूप 20 किलो गोबर दें।फरवरी और अगस्त के महीने में 500 ग्राम मिश्रित खाद अमोनियम सल्फेट,फास्फेट डालकर पौधे लगाए

close button