Wheat Seed Subsidy Scheme:आवेदन करने में नही होगी अब दिक्कत,बीज खरीद के बिल पर ही सब्सिडी मिलेगी

Wheat Seed Subsidy Scheme: किसानों को अब आवेदन की लंबी प्रक्रिया का पालन नहीं करना चाहिए, बल्कि बीज की दुकानों या दुकानों पर बीज की खरीद के बिल पर सब्सिडी का लाभ तुरंत मिलता है।

Wheat Seed Subsidy Scheme:खरीफ मौसम की अधिकतम फसलों में प्रबंधन चलती है। रबी सीजन की समय पर बुवाई के लिए किसान भी अब बीज, खाद-उर्वरक और कीटनाशकों की व्यवस्था करने में व्यस्त हैं।इसी कड़ी में पंजाब सरकार ने देश के किसानों को पूरी तरह से परेशानी से मुक्त कर दिया है,दरअसल, देश के भीतर गेहूं के बीज की खरीद पर सब्सिडी का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन प्रैक्टिस करनी पड़ी, जिसमें किसान का काफी समय बर्बाद हो गया।इस व्यवस्था को आसान बनाते हुए अब किसानों को गेहूं के बीज खरीद पर सीधी सब्सिडी का लाभ दिया जा सकता है।

Subsidy on Solar Panel Update : छत पर सोलर पैनल लगवाने की शर्तें हुईं आसान

बीजों पर मिलेगा इतना सब्सिडी

किसान बिना किसी कठिनाई के योजनाओं का आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं और वे विश्वास के साथ खेती कर सकते हैं।इस उद्देश्य के लिए पंजाब राज्य सरकार ने किसानों को बीज की खरीद पर सीधे सब्सिडी का लाभ देने का फैसला किया है।अब राज्य के किसानों को अब आवेदन की लंबी व्यवस्था का पालन नहीं करना होगा, हालांकि बीज की दुकानों या दुकानों पर कम कीमत पर बीज उपलब्ध कराए जा सकते हैं, यानी उन्हें बिना देर किए सब्सिडी का लाभ मिल सकता है।
बीज की खरीद का चालान.

Solar Rooftop Scheme: न Powercut…न बिल भरने का Tension, सरकारी Subsidy से छत पर बनाएं बिजली

लंबी प्रक्रिया से मिलेगी छुट्टी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पंजाब के किसानों को बीज पर सब्सिडी का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन निगरानी करनी पड़ी।इतना ही नहीं, आवेदन की प्रक्रिया को पूरा करने के लिए लम्बरदार या सरपंज से सत्यापन पत्र जारी किया जाना था और फिर किसानों को पंजीकृत कर आवेदन किया गया है।लंबे समय से चली आ रही इस परेशानी और समय की पाबंदी से किसानों को राहत मिली है।अब किसान सीधे बीज की दुकानों पर जाकर कम कीमत पर बीज खरीद सकते हैं, यानी बीज खरीद बिल से सब्सिडी की राशि काटी जा सकती है।

बैठक में हुआ फैसला

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पंजाब के कृषि मंत्री कुलदीप सिंह धालीवाल ने कृषि विभाग और PUNSEED के अधिकारियों के साथ एक समीक्षा बैठक की, जिसमें रबी सीजन से जुड़ी शिक्षा और रबी सीजन के लिए किसानों को उत्कृष्ट बीज उपलब्ध कराने से जुड़ी समस्याओं को दूर किया गया.

मीडिया रिपोर्ट्स का हवाला देते हुए कृषि मंत्री धालीवाल ने कहा कि आप किसानों को इलाज उपलब्ध कराने के लिए गेहूं के बीज पर सब्सिडी देने की पुरानी मशीन को बदलने का फैसला किया गया है, जिसके तहत अब किसानों को गेहूं की खरीदारी करते हुए भी बिल पर शुल्क कम करना होगा.सब्सिडी का लाभ तुरंत दिया जा सकता है।इससे किसानों को बिना कार्यालय के जरूरी काम और लंबी आन लाइन प्रक्रिया से राहत मिलेगी।

[Apply for New Indane gas connection] #Indane Gas Booking Online, Check Subsidy

घटिया बीज की बेचने पर होगी कार्यवाही

इस मूल्यांकन बैठक में कृषि मंत्री कुलदीप सिंह धालीवाल ने भी PUNSEED के अधिकारियों से कहा है कि वे राष्ट्रीय बीज निगम के साथ सावधानी से काम करें, ताकि गेहूं के अच्छे बीज मिल सकें.किसानों को जोड़ा जाएगा।कृषि मंत्री के मुताबिक गेहूं बीज के जुर्माने से सरकार अब कोई समझौता नहीं करेगी।इस दौरान पंजाब में निजी बीज डीलरों पर सख्त कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए गए हैं, जिसके तहत राज्य के अंदर साधारण से सही ठीक बीज बेचने की अनुमति दी जा सकती है।पंजाब में यदि कोई बीज विक्रेता घटिया बीज बेचते पाया जाता है तो प्रशासन की ओर से सख्त कार्रवाई की जा सकती है।

Tractor एवं Power Triller Farming Subsidy 2022: खरीदने के लिए आज से आवेदन शुरू, इस तरह करें आवेदन

Leave a Comment

close button