मोदी सरकार देगी हर महीने 30,000 रुपये कमाने का मौका,वो भी बिना किसी कॉलेज डिग्री के, जानें डिटेल

Drone Pilots : नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Civil Aviation Minister Jyotiraditya Scindia) ने मंगलवार को बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि भारत को आने वाले सालों में करीब एक लाख ड्रोन पायलटों (Drone Pilots) की जरूरत होगी। केंद्रीय मंत्रालय लगातार देश भर में ड्रोन सेवाओं की घरेलू मांग को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसे में हमें आने वाले सालों में करीब एक लाख ड्रोन पायलटों (Drone Pilots) की जरूरत है। युवाओं के पास रोजगार के पर्याप्त अवसर हैं।

12वीं पास करने वाले Drone Pilots की ले सकते हैं ट्रेनिंग

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 12वीं पास करने वाले छात्रों के लिए सुनहरा मौका दिया है। उन्होंने बताया कि 12वीं पास करने वाले ड्रोन पायलट के तौर पर ट्रेनिंग ले सकते हैं। उन्होंने कहा कि इसके लिए छात्रों को किसी कॉलेज की डिग्री की जरूरत नहीं है। आने वाले वर्षों में करीब एक लाख ड्रोन पायलटों (Drone Pilots) की जरूरत होगी। मंत्री ने आगे कहा, उम्मीदवारों को दो-तीन महीने की ट्रेनिंग दी जाएगी। लगभग 30,000 रुपये के मासिक वेतन के साथ एक व्यक्ति को ड्रोन पायलट के रूप में नौकरी मिल सकती है।

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिल्ली में ड्रोन स्टूडियो का किया शुभारंभ

दिल्ली में ड्रोन पर नीति आयोग के अनुभव स्टूडियो का शुभारंभ करते हुए सिंधिया ने कहा, “हमारा लक्ष्य 2030 तक भारत को वैश्विक ड्रोन हब बनाना है। हम विभिन्न औद्योगिक और रक्षा क्षेत्रों में ड्रोन के उपयोग को बढ़ावा दे रहे हैं। मंत्री नरेंद्र मोदी नई तकनीक चाहते हैं और अधिक से अधिक लोगों की नई तकनीक तक पहुंच होनी चाहिए।

भारत में जल्द होगा Drone Innovation

उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा, “हम ड्रोन सेवाओं को आसानी से सरल बनाने के लिए तेजी से काम कर रहे हैं। भारत जल्द ही ड्रोन इनोवेशन (Drone Innovation) को अपनाने वाले उद्योगों को देखेगा। हम तीन पहियों पर ड्रोन क्षेत्र को आगे बढ़ा रहे हैं। पहला चक्र नीति, दूसरा चक्र पहल उत्पन्न करना और तीसरा चक्र स्वदेशी मांग पैदा करना है और 12 केंद्रीय मंत्रालयों ने उस मांग को उत्पन्न करने की कोशिश की है। PLI योजना ड्रोन क्षेत्र में विनिर्माण और सेवाओं को एक नया प्रोत्साहन देगी।

close button