Krishak Uphaar Yojana 2022: किसानों को मिल रहे हैं 5 लाख रूपये, आप भी जल्दी उठाएं लाभ, लास्ट डेट नज़दीक

Krishak Uphaar Yojana 2022: सरकार की ओर से किसानों के लिए कई लाभकारी योजनाएं चलायी जा रही हैं. वहीं किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए समय-समय पर पुरस्कार पाने का भी मौका दिया जाता है। इसी क्रम में राजस्थान में e-NAM पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने वाले किसानों के लिए एक अच्छी खबर है. ई-नाम पोर्टल पर पंजीकरण कराने वाले किसानों के लिए 5 लाख रुपये तक के इनाम रखे गए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार राजस्थान में किसानों के लिए कृषक उपहार योजना (Krishak Uphaar Yojana 2022 )शुरू की जा रही है, जो राज्य के किसानों के लिए लाभकारी साबित होगी. किसानों को कृषि मंडियों में 10,000 रुपये से ज्यादा की फसल बेचने पर इनाम राशि दी जाएगी।

Krishak Uphaar Yojana 2022

Krishak Uphaar Yojana 2022: 1 जनवरी 2022- 31 दिसंबर 2022

राजस्थान सरकार ने कृषि विपणन निदेशालय, जयपुर के अंतर्गत राज्य की सभी मंडी समितियों के माध्यम से राज्य के किसानों के लिए कृषक उपहार योजना 2020-21 लागू की है। जयकिशन विश्नोई, सचिव, कृषि उपज मंडी समिति, जैसलमेर ने कहा कि योजना के तहत किसानों को मंडियों में अपनी कृषि उपज बेचने और बाजार समितियों में संचालित पुरस्कार परियोजना के तहत ई-भुगतान प्राप्त हेतु मुफ्त ई-उपहार कूपन जारी किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि Krishak Uphaar Yojana 2022 की अवधि 1 जनवरी 2022 से 31 दिसंबर 2022 तक है

जारी किए जाएंगे ई-कूपन

इस पुरस्कार के विजेता बनने के लिए कृषि उपज मंडी में किसानों को कूपन दिए जाएंगे। राजस्थान सरकार ने कृषि विपणन निदेशालय जयपुर के अंतर्गत राज्य की सभी मंडी समितियों के माध्यम से प्रदेश के किसानों के लिए कृषक उपहार योजना लागू की है। इसमें किसानों को मंडियों में अपनी कृषि उपज बेचने और मंडी समितियों में संचालित करने के लिए ई-नाम की शुरुआत की गई है।

Krishak Uphaar Yojana 2022 के तहत ई-भुगतान प्राप्त करने के लिए निःशुल्क ई-उपहार कूपन जारी किए जाएंगे। योजना का लाभ लेने के लिए किसान मंडियों में ई-नाम पोर्टल पर कृषि उपज की गेट पास बिक्री पर्ची, जिसका मूल्य 10 हजार रुपये या अधिक है, मंडी समिति के माध्यम से ई-पेमेंट पर बिक्री पर्ची, ई-कूपन जारी किया जाएगा

Krishak Uphaar Yojana 2022 के अंतर्गत दिये जाने वाले पुरस्कारों का विवरण

• इस योजना के तहत बाजार स्तर पर प्रत्येक 6 माह में गेट पास की बिक्री पर्चियों और ई-भुगतान की बिक्री पर्चियों पर 25000 रुपये का प्रथम पुरस्कार दिया जाएगा। वहीं, दूसरा पुरस्कार 15000 रुपये और तीसरा पुरस्कार 10000 रुपये का होगा.
• ब्लॉक स्तर पर (ब्लॉक स्तर पर) हर छह महीने में पहला पुरस्कार 50,000 रुपये, दूसरा पुरस्कार 30,000 रुपये और तीसरा पुरस्कार 20,000 रुपये होगा।
• इसके अलावा राज्य स्तर पर साल में एक बार प्रथम पुरस्कार 2.5 लाख रुपये, द्वितीय पुरस्कार 1.5 लाख रुपये और तीसरा पुरस्कार 1 लाख रुपये होगा.
• इस योजना में किसानों को हर 6 महीने में 3 पुरस्कार दिए जाएंगे। कूपन देने की प्रक्रिया ऑनलाइन रहेगी

Krishak Uphaar Yojana 2022-आवश्यक दस्तावेज़

e-NAM पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन हेतु दस्तावेजों की जरूरत है जो इस प्रकार हैं:
• आवेदन कर रहे किसान का आधार कार्ड
• किसान आईडी कार्ड
•किसान के बैंक खाते की पासबुक की कॉपी
•किसान का रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर
•किसान की पासपोर्ट साइज फोटो

ई-नाम पोर्टल पर पंजीकरण कैसे करें

Krishak Uphaar Yojana 2022 का लाभ केवल देश के किसान ही उठा सकते हैं। जो किसान e-NAM ऑनलाइन पोर्टल पर अपना पंजीकरण कराना चाहते हैं, उन्हें नीचे दिए गए कुछ चरणों का पालन करना होग:

रजिस्ट्रेशन के लिए सबसे पहले आपको e-NAM की आधिकारिक वेबसाइट https://enam.gov.in/web/ पर जाना होगा। यहां होम पेज पर आपको रजिस्ट्रेशन का ऑप्शन दिखेगा। आपको इस विकल्प पर क्लिक करना है। इसके बाद कंप्यूटर स्क्रीन पर अगला पेज ओपन होगा। इस पेज पर आपका पंजीकरण फॉर्म खुल जाएगा। अब आप फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारियों जैसे किसान पंजीकरण प्रकार, स्तर का चयन कर सकते हैं।

फॉर्म में आपको नाम, जन्मतिथि, आधार नंबर, बैंक डिटेल आदि जानकारी भरनी होगी। साथ ही किसानों को पासबुक की कॉपी या कैंसिल चेक की स्कैन कॉपी और आईडी प्रूफ भी अपलोड करना होगा। अब सबमिट के बटन पर क्लिक करना ह, किसान भविष्य के संदर्भ के लिए जमा किए गए आवेदन पत्र का एक प्रिंटआउट अवश्य लें। पंजीकरण प्रक्रिया पूरी होने पर किसान मंडियों में अपने कृषि उत्पादों को बेचने के लिए लॉग इन कर सकते हैं

सरकारी योजनाओं के बारे में जानने के लिए sarkariiyojana.in को बुकमार्क कर लें।

close button