Maternity Assistance Scheme
State scheme

Maternity Assistance Scheme: प्रसूति सहायता योजना राशि को 10 हजार रुपये से बढ़ाकर 20 हजार करने की घोषणा

Maternity Assistance Scheme : छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भगिनी प्रसूति सहायता योजना Maternity Assistance Scheme के तहत सहायता राशि को 10 हजार रुपये से बढ़ाकर 20 हजार रुपये करने की घोषणा की; सीएम के इस ऐलान को प्रदेश के मजदूर वर्ग के लिए एक बड़ी सौगात माना जा रहा है

Prasuti Sahayata Yojana 2022

सीएम के इस ऐलान से प्रदेश के लाखों मजदूर परिवारों को आर्थिक मदद मिलेगी; इस दौरान सीएम ने मजदूरों को कंबल और मिठाइयां बांटी और उन्हें नव वर्ष की शुभकामनाएं दीं; मुख्यमंत्री ने समृद्ध छत्तीसगढ़ बनाने का संकल्प भी लिया। सीएम बघेल ने ट्वीट कर लिखा कि “नया दिन-नई सुबह… सभी प्रियजनों के साथ नया साल मुबारक; सभी को बधाई।

जानिए क्या है Maternity Assistance Scheme (भगिनी प्रसूति सहायता योजना)?

भगिनी प्रसूति सहायता योजना (Maternity Assistance Scheme) के तहत श्रमिक वर्ग की गर्भवती महिलाओं को गर्भधारण से लेकर बच्चे के जन्म तक विभिन्न किश्तों में आर्थिक राशि दी जाती है। जिसमें एक गर्भवती महिला को गर्भावस्था की पहली तिमाही में 5000 रुपये और तीसरी तिमाही में (आठवें महीने में) 5000 रुपये सरकार की ओर से दिए जाते हैं। इस सहायता राशि का भुगतान सूचना प्राप्त होने के 72 घंटे के भीतर किया जाता है

इस योजना के तहत लाभार्थी की पत्नी/पति को पंजीकृत कराना होगा। महिला श्रम के गर्भधारण का अधिकृत सत्यापन डॉक्टर, एएनएम या मितानिन द्वारा किया जाना चाहिए। सरकारी व सरकारी संस्थानों में कार्यरत निर्माण श्रमिकों की पत्नी को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा। साथ ही इस योजना का लाभ दो डिलीवरी पर ही मिलेगा। योजना का लाभ लेने के 90 दिन पहले योजना में पंजीकरण कराना जरूरी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे बुजुर्गों, हमारे पूर्वजों और महापुरुषों के सपनों को साकार करना मेरा नव वर्ष का संकल्प है। इस मौके पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने श्रमिक महिलाओं के लिए एक बड़ी राहत की घोषणा की. उन्होंने कहा कि भगिनी प्रसूति सहायता योजना में सहायता राशि 10 हजार से बढ़ाकर 20 हजार रुपये की जाएगी। इस योजना का संचालन भवन एवं अन्य निर्माण श्रमिक कल्याण बोर्ड द्वारा किया जाता है।

महिला सुरक्षा के लिए एक्सप्रेशन एप लांच

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल रायपुर पुलिस परेड ग्राउंड पहुंचे। यहां उन्होंने पुलिस कर्मियों के साथ नए साल के जश्न में शिरकत की; इस दौरान उन्होंने महिलाओं की सुरक्षा के लिए बनाए गए “एक्सप्रेशन ऐप” को लॉन्च किया। इस ऐप में SOS का बटन दबाने पर डायल 112 की टीम संबंधित महिला के पास पहुंच जाएगी। इसके माध्यम से महिलाएं आपातकालीन सहायता ले सकती हैं। वे थाने में जाए बगैर शिकायत दर्ज करा सकते हैं। और सुरक्षा को लेकर पुलिस को सुझाव भी दे सकते हैं

प्रसूति सहायता योजना 2022 के लिए ज़रूरी पात्रता

  • आवेदिका मध्य प्रदेश की स्थायी निवासी होनी चाहिए ।
  • आवेदिका की आयु 18 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए ।
  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • प्रेग्नेंसी का प्रमाण पत्र
  • डिलीवरी सम्बन्धी दस्तावेज़
  • बैंक पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

प्रसूति सहायता योजना 2022 में आवेदन कैसे करे?

  • इच्छुकः गर्भवती महिलाये इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए अपने नज़दीकी लोक स्वास्थ्य केंद्र एवं परिवार कल्याण विभाग में जाकर आवेदन कर सकती है ।
  • आंगनवाड़ी केंद्र जाकर आपको एप्लीकेशन फॉर्म प्राप्त करना होगा । इसके बाद आवेदन फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी जैसे नाम ,पता ,आधार नंबर ,गर्भावस्था की तारीक,LMP आदि सही सही भरनी होगी ।
  • आवेदन फॉर्म भरने के बाद अपने सभी दस्तावेज़ों को आवेदन फॉर्म के साथ अटैच करके आंगनवाड़ी केंद्र में जमा कर दें।
  • भुगतान राशि पाने हेतु हितग्राही को केवल ANM / चिकित्सक द्वारा भरा हुआ एवं सत्यापित मातृत्व एवं शिशु सुरक्षा कार्ड की प्रति एवं कंडिका 7 में वर्णित दस्तावेज़ प्रस्तुत करने होंगे ।
  • आवेदिका को प्रसव की तारीख से 6 सप्ताह पूर्ब आवेदन करना होगा । यदि किसी कारण आवेदन समय पर नहीं किया जा सका, तो डिलीवरी के पहले अथवा डिलीवरी के तुरंत बाद आवेदन कर सकती है ।

सरकारी योजनाओं को जानने के लिए sarkariiyojana.in को बुकमार्क जरूर करें।